• Home
  • Haryana News
  • Ganaur
  • एसडीएम व नपा कार्यालय ने जमा करवाई बकाया राशि सीएचसी ने पत्र लिखकर की कनेक्शन न काटने की अपील
--Advertisement--

एसडीएम व नपा कार्यालय ने जमा करवाई बकाया राशि सीएचसी ने पत्र लिखकर की कनेक्शन न काटने की अपील

बिजली निगम ने डिफाल्टर चल रहे नगरपालिका व एसडीएम ऑफिस से बकाया राशि वसूल ली है। लेकिन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:10 AM IST
बिजली निगम ने डिफाल्टर चल रहे नगरपालिका व एसडीएम ऑफिस से बकाया राशि वसूल ली है। लेकिन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ने पत्र लिखकर बकाया राशि जमा करवाने में असमर्थता जताई है। हालांकि निगम ने सीएचसी के तीन फेस में से दो फेस कट कर रखे है। निगम का कहना है कि अगर जल्द स्वास्थ्य विभाग अपनी बकाया राशि जमा नहीं करवाता है तो उसका बिजली कनेक्शन काट दिया जाएगा।

निगम ने डिफाल्टर उपभोक्ताओं के बाद डिफाल्टर सरकारी विभागों से रिकवरी को लेकर सरचार्ज माफी योजना मार्च माह में शुरू की थी। जिसकी आखरी तारीख 31 मार्च रखी गई थी। गन्नौर सिटी सब डिविजन के अंतर्गत तकरीबन सभी सरकारी विभाग डिफाल्टर चल रहे थे। इनमें नगरपालिका, एसडीएम कार्यालय, सीएचसी मुख्य थी। जिन पर निगम का ज्यादा बकाया था। सरचार्ज स्कीम को लेकर इन सरकारी विभागों ने दिलचस्पी नहीं दिखी थी। जिस पर निगम ने इनको नोटिस जारी किए थे। परंतु नोटिस का जवाब न देने पर आखिर कार निगम ने इनके कनेक्शन काटने शुरू कर दिए थे।

कनेक्शन काटने के बाद डिफाल्टर विभागों में हड़कंप मचा तो उन्होंने दो दिन की मोहलत लेकर बकाया राशि जमा करवाने का आश्वासन दिया। निगम के मुताबिक नगरपालिका ने करीब 1 करोड़ 15 लाख 71 हजार 176 रुपए और एसडीएम कार्यालय ने 21 लाख 29 हजार 873 रुपए जमा करवा दिए। लेकिन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ने अपनी 31 मार्च 2017 तक की बकाया राशि 4 लाख 26 हजार 583 रुपए के अलावा अब तक की बकाया राशि 1 लाख 8 हजार 980 रुपए पेंडिंग पड़ी है। स्वास्थ्य विभाग ने बजट में रुपए न होने की बात कहते हुए निगम को पत्र लिखकर कहा कि वह जल्द ही बकाया राशि जमा करवा देंगे। इस संदर्भ में सिटी सब डिविजन की एसडीओ सुनैना ने बताया कि कई डिफाल्टर विभागों की बकाया राशि न आने पर कनेक्शन काट रखे है। एसडीएम कार्यालय व नगरपालिका ने अपनी बकाया राशि जमा करवा दी है। उन्होंने बताया कि सीएचसी ने लेटर लिखकर बिजली कनेक्शन न काटने की अपील की है। अगर जल्द ही विभाग अपनी बकाया राशि जमा नहीं करवाता है तो उसका बिजली कनेक्शन काट दिया जाएगा। फिलहाल सीएचसी के तीन फेस में से दो फेस की लाइट काटी गई है।