• Home
  • Haryana News
  • Gohana
  • सड़कों की पैमाइश कर हटेंगे अवैध निर्माण
--Advertisement--

सड़कों की पैमाइश कर हटेंगे अवैध निर्माण

कोर्ट के आदेशों पर नगर परिषद शहर की सभी मुख्य सड़कों पर दुकानों के सामने बने अवैध निर्माण हटाएगी। अवैध निर्माण...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:10 AM IST
कोर्ट के आदेशों पर नगर परिषद शहर की सभी मुख्य सड़कों पर दुकानों के सामने बने अवैध निर्माण हटाएगी। अवैध निर्माण सरकारी रिकार्ड के अनुसार सड़क की पैमाइश करवाकर हटाया जाएगा। पैमाइश की रिपोर्ट पांच अप्रैल को कोर्ट में पेश करनी होगी। मुख्य सड़कों में रोहतक रोड, बरोदा, रोड, सिविल रोड और महम रोड को शामिल किया गया है। दुकानों के सामने से अवैध निर्माण हटाने के लिए नप ने दुकानदारों को एक सप्ताह का अल्टीमेटम दिया है। एक सप्ताह में अवैध निर्माण नहीं हटाने पर नप जेसीबी से स्वयं अवैध निर्माण तोड़ने की कार्रवाई करेगा।

शहर में दुकानदारों ने दुकानों के सामने अवैध रूप से सीढ़ियां और चबूतरे बना रखे हैं। कुछ दुकानदारों ने फुटपाथ पर दो से तीन फीट तक अवैध निर्माण कर रखा है। इससे मुख्य सड़कें संकरी हो रही हैं। पैदल राहगीरों को फुटपाथ पर चलने के लिए पर्याप्त स्थान नहीं मिलता। ऐसे में लोग सड़कों के किनारे पर चलते हैं। इससे वाहन चालकों को असुविधा होती है। अतिक्रमण के कारण शहर में ट्रैफिक व्यवस्था बिगड़ रही है। कोर्ट ने नप को शहर में फुटपाथ पर बने सभी अवैध निर्माण तोड़ने के आदेश दिए हैं। मेन बाजार क्षेत्र के बाद अब नप शहर की मुख्य सड़कों से अवैध निर्माण हटाएगा। कोर्ट के आदेशानुसार नप ने रोहतक रोड, महम रोड, बरोदा रोड और सिविल रोड को चिह्नित किया है। अधिकारियों का कहना है कि इन सड़कों पर कुछ दुकानें आगे की ओर बनी हुई हैं। इन सभी सड़कों से अवैध निर्माण पैमाइश करवाकर तोड़े जाएंगे। पैमाइश में यदि दुकानें आगे बढ़ी हुई मिलती हैं, तो उन्हें भी तोड़ दिया जाएगा।

जाम मुक्त शहर

रोहतक, महम, बरोदा और सिविल रोड से हटाए जाएंगे अवैध निर्माण, एक सप्ताह का समय दिया

गोहाना. महम रोड पर दुकान के सामने बनी सीढ़ियां।

तीन जेसीबी की व्यवस्था करने के निर्देश

अवैध निर्माण तोड़ने और अन्य कार्यों के लिए नप के पास एक जेसीबी है। आठ अप्रैल को शहर की सड़कों से अवैध निर्माण हटाने का कार्य व्यापक स्तर पर चलेगा। इसके लिए नप अधिकारियों ने कर्मचारियों को तीन जेसीबी की अतिरिक्त व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। वहीं दुकानदारों के विरोध से निपटने के लिए भारी पुलिसबल भी तैनात किया जाएगा। अधिकारियों का कहना है कि कार्रवाई में बाधा डालने वाले दुकानदारों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।