Hindi News »Haryana »Gohana» धंसे और उभरे मेनहोल को सड़क के समानांतर करेगा जलापूर्ति विभाग

धंसे और उभरे मेनहोल को सड़क के समानांतर करेगा जलापूर्ति विभाग

शहर में मुख्य सड़कों और कॉलोनी की गलियों में सीवर के मेनहोल का लेवल सही नहीं है। किसी क्षेत्र में मेनहोल उभरे हुए...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 02:20 AM IST

शहर में मुख्य सड़कों और कॉलोनी की गलियों में सीवर के मेनहोल का लेवल सही नहीं है। किसी क्षेत्र में मेनहोल उभरे हुए हैं तो कहीं सड़क के लेवल से नीचे हैं। दोनों ही स्थिति में वाहनों का संतुलन बिगड़ने से दुर्घटना होने का अंदेशा बना रहता है। ऐसे मेनहोल का पता लगाकर ठीक कराने के लिए जलापूर्ति विभाग ने शहर का सर्वे कराया था। शहर में करीब 93 मेनहोल पाए गए, जो सड़क के लेवल में नहीं हैं। विभाग द्वारा इन मेनहोल का लेवल ठीक किया जाएगा। विभाग ने यह कार्य एक माह में पूरा करने का निर्णय लिया है।

विभाग के सर्वे अनुसार शहर में सीवर के 28 मेनहोलों का स्तर सड़क से ऊंचा है जबकि 65 मेनहोल सड़क के स्तर से नीचे हैं। मेनहोल सड़क के समानांतर नहीं होने से सबसे अधिक परेशानी वाहन चालकों को होती है। मुख्य सड़कों पर तेजी से आने वाले वाहनों को धंसे हुए मेनहोल दिखाई नहीं देते हैं। इससे हर समय हादसा होने का डर बना रहता है। सर्वे के दौरान पाया कि महम रोड, जींद रोड, मुगलपुरा, शिव नगर, गुढा रोड, आदर्श नगर, इंद्रगढी आदि क्षेत्रों में मेनहोल गली व सड़क के लेवल पर नहीं है। रात को अंधेरा होने पर वाहन चालकों को परेशानी होती है, इसलिए लोगों द्वारा अधिकारियों से लंबे समय से मेनहोलों का लेवल सड़क के समानांतर करने की मांग की जा रही है। लोगों की शिकायतों को देखते हुए जलापूर्ति विभाग ने शहर में सर्वे कराया था। इस दौरान उन सभी मेनहोल की सूची तैयार की गई थी, जो सड़क के लेवल पर नहीं है।

शिव नगर में सीवर लाइन अवरूद्ध हो जाती है। जिससे सीवर के मेनहोल ओवरफ्लो होने से पानी गली में भर जाता है। लोगों का कहना है कि जलापूर्ति विभाग के अधिकारियों से सुपर शकर मशीन से लाइन की सफाई करने की मांग कर चुके हैं।

गोहाना . आदर्श नगर में नीचे धंसे हुए मेनहोल के पास से गुजरता बाइक सवार।

रात में मेनहोल दिखाई नहीं देते, वाहन टकरा जाते हैं

शहर की मुख्य सड़कों पर कई स्थानों पर सीवर के मेनहोल धंसे हुए हैं। धंसे हुए मेनहोल के कारण वाहन चालक उनसे बचने के लिए इधर-उधर कट लगाते हैं। इससे दूसरे वाहन चालकों और पैदल राहगीरों को परेशानी होती है। वहीं कट लगाने से हर समय हादसा होने का भी डर बना रहता है। '' अमित, निवासी आदर्श नगर

शहर में सीवर के उभरे और धंसे हुए मेनहोल की मरम्मत की जाएगी। सभी मेनहोलों को सड़क के समानांतर किया जाएगा। जल्दी ही कार्य आरंभ कर दिया जाएगा। '' सुखबीर सिंह हुड्डा, एसडीओ, जलापूर्ति विभाग, गोहाना।

मेनहोल धंसा होने से बार-बार टूट रहे हैं ढक्कन

सीवर के मेनहोल पर रखे ढक्कन भी बार-बार टूट रहे हैं। ढक्कन टूटने का कारण मेनहोलों का लेवल सड़क के समानांतर नहीं होना है। अधिकारियों का कहना है कि भारी वाहनों के गुरजने से वाइब्रेशन पैदा होती है, जिससे ढक्कन बार-बार टूट जाते हैं। ढक्कन टूटने के बाद मलबा मेनहोल के अंदर ही गिर जाता है। मलबे के कारण सीवर से पानी की निकासी भी प्रभावित हो जाती है। मुगलपुरा, पुरानी अनाज मंडी, जींद रोड, महम-जींद बाईपास, देवीपुरा, बरोदा रोड पर बार-बार ढक्कन टूट रहे हैं।

कई कॉलोनियों में मेनहोल व्यवस्थित ढ़ंग से नहीं बने हुए हैं। कहीं पर मेनहोल गली से ऊपर हैं, तो कहीं पर गली से लेवल से नीचे हैं। इससे आने-जाने में परेशानी होती है। रात के समय गलियों में अंधेरा रहने से धंसे हुए मेनहोल दिखाई नहीं देते हैं। कई बार लोग मेनहोल के कारण गिरकर घायल हो जाते हैं। '' मुनीष, निवासी शहर।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gohana

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×