Hindi News »Haryana News »Gurgaon» 3 Doctors Arrested Without Degree

बिना डिग्री वाले 3 डॉक्टर गिरफ्तार 12 क्लीनिक पर की गई छापेमारी

Bhaksar news | Last Modified - Nov 06, 2017, 08:32 AM IST

आखिरकार बिना डिग्री क्लीनिक चलाने वाले डॉक्टरों को लेकर जिला स्वास्थ्य विभाग की नींद टूट ही गई।
बिना डिग्री वाले 3 डॉक्टर गिरफ्तार 12 क्लीनिक पर की गई छापेमारी
गुड़गांव.आखिरकार बिना डिग्री क्लीनिक चलाने वाले डॉक्टरों को लेकर जिला स्वास्थ्य विभाग की नींद टूट ही गई। सीएमओ डॉ. बीके राजौरा ने फर्जी डॉक्टरों पर कार्रवाई के लिए सात टीमों का गठन किया और रविवार को 12 क्लीनिकों पर छापेमारी की गई। इस छापेमारी के दौरान अलग-अलग क्षेत्रों के दर्जनभर क्लीनिक पर छापेमारी गई। जिनमें से तीन फर्जी डॉक्टरों को मौके से गिरफ्तार कर लिया गया, जबकि कई फर्जी डाक्टर क्लीनिक को बंद कर फरार हो गए। वहीं छापेमारी के बाद से बादशाहपुर, गढ़ी हरसरू, फर्रुखनगर आदि कस्बों के डॉक्टरों में हड़कंप मचा रहा।
जिला स्वास्थ्य विभाग द्वारा आरटीआई के जवाब में 224 क्लीनिक चलने की जानकारी दी थी, लेकिन हरियाणा में नर्सिंग होम एक्ट नहीं होने की बात कहते हुए आरटीआई में कार्रवाई नहीं करने की मजबूरी बताई थी। इस बारे में गत तीन नवंबर को दैनिक भास्कर समाचार पत्र में खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया गया और साथ ही बताया कि इंडियन मेडिकल काउंसिल के एक्ट के तहत ऐसे डॉक्टरों पर कार्रवाई की जा सकती है। इस खबर को लेकर जिला स्वास्थ्य विभाग में भी हड़कंप मच गया।

डिग्री नहीं दिखा पाने पर पुलिस को हुआ शक
ऐसे में आनन-फानन में सिविल सर्जन डॉ. बीके राजौरा ने सात टीमों का गठन कर बादशाहपुर, फर्रुखनगर व गढ़ी हरसरू में छापेमारी की गई, जिसमें बादशाहपुर में लगाई गई टीम में सेक्टर-10 स्थित हॉस्पिटल के एसएमओ डॉ. अनुज बिश्नोई व ड्रग कंट्रोलर डॉ. अमनदीप चौहान ने स्थित कादरपुर रोड से नरेंद्र राघव व आरके विश्वास को बादशाहपुर थाना पुलिस को सौंप दिया। इसके अलावा बुढेड़ा मोड़ से सतेंद्र चौहान की क्लीनिक पर छापेमारी की, जहां डिग्री नहीं दिखाने के बाद पुलिस को सौंप दिया। ऐसे तीनों डाक्टरों को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
इन कस्बों में की गई छापेमारी : सिविल सर्जन डॉ. बीके राजौरा के नेतृत्व में सात टीमों का गठन किया गया था। इन सभी टीमों ने सोहना, घंघोला, बादशाहपुर, पटौदी, भांगरौला व भोड़ाकला बादशाहपुर इलाके में तीन फर्जी डॉक्टरों को क्लीनिक से गिरफ्तार किया है।
आरटीआई का जवाब देकर स्वास्थ्य विभाग फंसा
सूचना का अधिकार नियम के तहत स्वास्थ्य विभाग ने गत अक्टूबर महीने में आरटीआई कार्यकर्ता महेन्द्र कुमार द्वारा मांगी गई सूचना के जवाब में जिले में 224 अवैध क्लीनिक और नर्सिंग होम चलने की बात कही थी। साथ ही नर्सिंग होम एक्ट नहीं होने के कारण कार्रवाई नहीं कर पाने की मजबूरी बताई थी। लेकिन दैनिक भास्कर ने इस आरटीआई को लेकर खबर प्रमुखता से प्रकाशित की। इस खबर में यह भी बताया था कि इंडियन मेडिकल काउंसिल के एक्ट 15 (2) व 15 (3) के तहत कार्रवाई करने की भी जानकारी दी। ऐसे स्वास्थ्य विभाग की मजबूरी हो गई और क्लीनिक पर कार्रवाई करनी पड़ी।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Haryana News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: binaa digari vaale 3 doktr gairftaar 12 klinik par ki gayi chhaapemaari
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From Gurgaon

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×