--Advertisement--

कर्मचारी को लिफ्ट देकर लूटा, फिर की हत्या, लाश दिल्ली में फेंकी

एक निजी कंपनी के कर्मचारी को लिफ्ट देकर लूटपाट के बाद हत्या करने का मामला सामने आया है।

Danik Bhaskar | Dec 17, 2017, 08:48 AM IST

गुड़गांव. एक निजी कंपनी के कर्मचारी को लिफ्ट देकर लूटपाट के बाद हत्या करने का मामला सामने आया है। कर्मचारी का शव दिल्ली के महिपालपुर से बरामद हुआ है। कर्मचारी की पत्नी से बस स्टैंड चौकी में पति की गुमशुदगी का केस दर्ज कराया था। उत्तराखंड के चंपावत निवासी सुनील भट्ट पत्नी दीपा के साथ गांधी नगर में रहते थे। सुनील आईएमटी मानेसर में एक निजी कंपनी के कर्मचारी थे।

गुरुवार शाम भाई के बच्चे के नामकरण में शामिल होने गुड़गांव से हरिद्वार के लिए निकले थे। पत्नी ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि गुड़गांव बस अड्डे में बस का इंतजार करने के दौरान इन्हें एक टैक्सी मिली थी। जिसमें दो लोग पहले से सवार थे। रात 8:30 बजे सुनील ने पत्नी के नंबर पर फोन कर 4 महीने की बेटी का हालचाल पूछा था। इसके बाद फोन कट गया। इसके बाद मैसेज आया, जिसमें लिखा था HR29SB 5524 ये नंबर देख लेना। पीड़िता का कहना है कि उसके बाद फोन नहीं लगा। पीड़िता ने बताया कि कई बार कोशिश के बावजूद संपर्क नहीं हो पाया। इस पर उसने बस स्टैंड पुलिस चौकी में शिकायत दी। पुलिस ने गुमशुदगी का केस दर्ज किया था। पीड़िता का आरोप है कि पुलिस ने सक्रियता नहीं दिखाई। पुलिस ने शुक्रवार शाम 5:30 बजे गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखी। अब हत्या की जांच दिल्ली कैंट पुलिस कर रही है। दिल्ली के महिपालपुर के पास जंगल से सुनील का शव मिला था। पत्नी का कहना है कि सुनील के पीएनबी के एटीएम से पहली बार 10 हजार महिपालपुर के एटीएम से निकाले गए थे। इसके बाद शालीमार बाग और मजनू का टीला से एटीएम से पैसे निकाले गए। शुक्रवार दिन में बिग बाजार में भी कार्ड स्वाइप कराया गया। उनके पास आईसीआईसीआई का दूसरा एटीएम कार्ड भी था। जिससे रुपए निकाले गए। पुलिस मामले में जांच कर रही है।