--Advertisement--

हादसे में बच्ची ने खोया था एक पैर और हाथ, अब डांस को ताकत बना पूरे कर रहीं सपने

माध्यमिक विद्यालय की 8वीं कक्षा की ये छात्रा अपने एक पैर और हाथ के सहारे बेहद खूबसूरत डांस करती हैं।

Danik Bhaskar | Jan 28, 2018, 07:30 AM IST

गुड़गांव. गांव गढ़ी हरसरू की 15 साल की सोमवती 11 साल की उम्र में रेल दुर्घटना में अपना बायां हाथ व पैर खो चुकी हैं। फिर भी उसने जिंदगी से हार नहीं मानी। राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय की 8वीं कक्षा की ये छात्रा अपने एक पैर और हाथ के सहारे बेहद खूबसूरत डांस करती हैं।

अपने डांस के जरिए वो नियति के शिकार लोगों को प्रेरणा दे रही हैं कि कोई भी दुर्घटना आपके जीवन को नीरस नहीं बना सकती। खुशहाल जिंदगी जीने की ललक आपका रास्ता नहीं रोक सकती। अपनी प्रतिभा की बदौलत सोमवती ने हाल में दिव्यांग कैटेगरी में संस्कृति के क्षेत्र में राज्यस्तरीय प्रतिभाशाली बेटी सम्मान पाया। शुक्रवार को गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ने उन्हें सम्मानित किया। सोमवती दो बार जिलास्तरीय प्रतियोगिता जीत चुकी हैं और इस बार राज्यस्तरीय प्रतियोगिता जीती हैं। वो बताती हैं कि स्कूल टीचर्स ने उनकी काफी मदद की।

मां बोली, बचपन से है डांस करने का शौक
सोमवती के पिता रंजीत एक कंपनी में कर्मचारी हैं। मां मिंटा बताती हैं कि उनकी तीन बेटियों में सोमवती सबसे बड़ी है। जब वो 11 साल की थी, तब दादा के साथ पटरी पार करते समय उसका पैर फंस गया था। इसी बीच वो हादसे का शिकार हो गई थी। बचपन से ही सोमवती को डांस का बहुत शौक था। उसके मजबूत इरादों ने उसके शौक को मरने नहीं दिया। वहीं टीचर अंजू बताती हैं कि उन्हें बेहद अच्छा लगता है जब वो सोमवती को उत्साह से डांस करता देखती हैं। कई बार वह स्वयं सोमवती से प्रेरणा लेती हैं।