गुड़गांव

--Advertisement--

अगले सत्र से साइंस एंड कॉमर्स कॉलेज शुरू होने की उम्मीद जगी, होगी पहली यूनिवर्सिटी

दिसंबर में निर्माण पूरा होेने के बाद भी दो साल से कॉलेज अपने उद्घाटन की बाट जोहता रहा।

Danik Bhaskar

Dec 28, 2017, 08:22 AM IST

गुड़गांव. शहर के चौथे गवर्नमेंट कॉलेज का निर्माण पूरा हुए करीब दो साल हो चुके हैं, लेकिन अब इसके आगामी सत्र में शुरू होने की उम्मीद जगी है। कॉलेज को हायर एजुकेशन डिपार्टमेंट की बेवसाइट पर लिस्टेड कर दिया गया है। दरअसल इस कॉलेज का शिलान्यास पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा ने 2013 में किया था। इसे जून 2015 में बनकर तैयार होना था, लेकिन 2014 में सत्ता बदलते ही कॉलेज का निर्माण ठंडे बस्त में चला गया। इसकी डेडलाइन बढ़ाकर दिसंबर 2015 कर दी गई। सियासती खेल के चलते दिसंबर में निर्माण पूरा होेने के बाद भी दो साल से कॉलेज अपने उद्घाटन की बाट जोहता रहा।

अब डिपार्टमेंट की मुख्य सचिव ज्योति अरोड़ा द्वारा नवंबर में कॉलेज का निरीक्षण करने के बाद कॉलेज के अगले सत्र से शुरू होने की उम्मीद जागी है। यह कॉलेज शहर का चौथा कॉलेज होगा, जबकि जिले में अब 9 कॉलेज हो जाएंगे। वहीं नोडल ऑफिसर इंदू जैन ने बताया कि प्रक्रिया शुरू हो गई है। अगले सत्र से स्टाफ भर्ती कर लिया जाएगा। गुड़गांव शहर में अब तक तीन गवर्नमेंट कॉलेज हैं, जिनमें करीब 6500 सीटों पर एडमिशन होते हैं। आगामी सत्र से यदि राव तुलाराम साइंस एंड कॉमर्स कॉलेज सेक्टर-51 की शुरुआत हो जाती है तो कॉलेज में 7 हजार सीटें सृजित हो सकती हैं। ऐसे में शहर के स्टूडेंट्स के लिए यह बड़ी सौगात होगी। आगामी सत्र से इस कॉलेज को शुरू करने को लेकर हायर एजुकेशन डिपार्टमेंट के उच्चाधिकारियों ने प्रक्रिया शुरू कर दी है। हालांकि बेशक दो साल की देरी से इस कॉलेज की सुध ली जा रही है, लेकिन इससे शहर के स्टूडेंट्स की मुश्किल कुछ हद तक कम होने की उम्मीद है।

तीन कॉलेजों में 18 हजार स्टूडेंट कर रहे हैं पढ़ाई
शहरमें इससे पहले तीन गवर्नमेंट कॉलेज थे। इनमें एक गर्ल्स गवर्नमेंट कॉलेज है, जिसमें 7600 स्टूडेंट्स हैं। गवर्नमेंट द्रोणाचार्य कॉलेज में 7500 स्टूडेंट्स हैं। सेक्टर-9 कॉलेज में स्टूडेंट्स की संख्या लगभग 2900 है। ऐसे में तीनों कॉलेजों में करीब 18000 स्टूडेंट्स की क्षमता है। जिसमें हर साल लगभग 6500 सीटों पर प्रथम वर्ष के लिए एडमिशन होते हैं। मॉडर्न साइंस एवं कॉमर्स कॉलेज की विशेषताएं सेक्टर-51 में हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण द्वारा बनाए गए इस कॉलेज के निर्माण पर 40 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। इसके ऑडिटोरियम में एक हजार स्टूडेंट्स के बैठने की क्षमता है। इसके अलावा पांच मंजिला इस कॉलेज में बेसमेंट सभी कमरों में 100-100 स्टूडेंट के बैठने की क्षमता है।

4 नए कॉलेज बनाने की सीएम कर चुके हैं घोषणा
मुख्यमंत्रीमनोहर लाल ने वर्ष 2018 में चार नए कॉलेज खोलने की घोषणाएं कर चुके हैं, जिनमें वजीराबाद, रिठौज, मानेसर फर्रुखनगर में शामिल हैं। इनमें से तीन कॉलेजों की आधारशिला रखी जा चुकी है। इन कॉलेजों के साथ ही गुड़गांव जिले में गवर्नमेंट कॉलेजों की संख्या 13 हो जाएगी। दरअसल 2015 में प्रदेश सरकार की ओर से कॉलेज की शुरुआत नहीं किए जाने के कारण पिछले सत्र में भी काफी स्टूडेंट्स को एडमिशन नहीं मिल पाए थे।

वेबसाइट पर कॉलेज जोड़ दिया गया है

हायर एजुकेशन डिपार्टमेंट की ओर से प्रिंसिपल सेक्रेटरी ज्योति अरोड़ा ने कॉलेज का निरीक्षण किया था। इसके अलावा वेबसाइट पर कॉलेज को जोड़ दिया गया है। अगले सत्र से एडमिशन शुरू हो जाएंगे। -इंदूजैन, प्रिंसिपल सेक्टर-9 कॉलेज, नोडल ऑफिसर सेक्टर-51 कॉलेज, गुड़गांव।


सीएम मनोहर लाल ने गत जून महीने में गुड़गांव की यूनिवर्सिटी का कार्यालय सेक्टर-51 कॉलेज में बनाने की घोषणा के साथ मंडलायुक्त डॉ. डी सुरेश को पहले वाइस चांसलर के रूप में नियुक्त किया था। अभी तक कॉलेज में यूनिवर्सिटी कार्यालय का शुभारंभ नहीं हुआ है। आगामी सत्र से यूनिवर्सिटी कार्यालय का शुभारंभ हो सकता है।

Click to listen..