• Home
  • Haryana News
  • Gurgaon
  • जेल भरो आंदोलन के दौरान आंगनबाड़ी की 1589 वर्कर्स एवं हेल्पर्स ने गिरफ्तारियां दी
--Advertisement--

जेल भरो आंदोलन के दौरान आंगनबाड़ी की 1589 वर्कर्स एवं हेल्पर्स ने गिरफ्तारियां दी

गुड़गांव में आंगनबाड़ी वर्कर्स एवं हेल्पर्स यूनियन की ओर से राज्य कमेटी के आह्वान पर वर्करों ने जेल भरो आंदोलन के...

Danik Bhaskar | Mar 10, 2018, 02:00 AM IST
गुड़गांव में आंगनबाड़ी वर्कर्स एवं हेल्पर्स यूनियन की ओर से राज्य कमेटी के आह्वान पर वर्करों ने जेल भरो आंदोलन के तहत गिरफ्तारी दी। संतोष,कला, मनोज, कृष्णा यादव, सरस्वती, बबिता शारदा, सरला सुलोचना, सुशीला की अगुवाई में लघु सचिवालय में गिरफ्तारी दी। अपनी मांगों को लेकर लघु सचिवालय के बाहर बैठे आंगनबाड़ी वर्करों में सरकार द्वारा मांगे न जाने को लेकर काफी रोष है। इसी कड़ी में वर्करों ने जेल भरो आंदोलन के तहत गिरफ्तारियां दी।

प्रदर्शन को संबोधित करते हुए सर्व कर्मचारी संघ के राज्य प्रधान धर्मबीर फौगाट ने कहा कि सरकार आंगनबाड़ी की कार्यकर्ता अपने को अकेला न समझे, प्रदेश के कर्मचारी उनके साथ हैं। उन्होंने मंच से मांग कि सरकार आंगनबाड़ी की यूनियन के साथ बातचीत करके समाधान करें। अन्यथा प्रदेश के कर्मचारियों को भी उनके समर्थन में सड़कों पर उतरने पर मजबूर होना पड़ेगा। मुख्य मांग न्यूनतम वेतन 18000, आंगनबाड़ी केंद्रों का किराया महंगाई के साथ जोड़कर शहर में 6000, गांव में 5000 रुपए मासिक, मिनी आंगनबाड़ी केंद्र को भी पूर्ण केंद्र का दर्जा देना, रिटायरमेंट के समय एक समुचित लाभ, परियोजना के नाम पर आर्थिक शोषण खत्म किया जाने सहित मांगपत्र पर बात करके समाधान करने की मांग की। आशा वर्कर्स यूनियन की जिला प्रधान मीरा देवी ने अपनी कार्यकर्ताओं समेत आंगनबाड़ी के जेल भरो आंदोलन में अपनी गिरफ्तारी दी। जनवादी महिला समिति की प्रदेश उपाध्यक्षा उषा सरोहा ने भी समर्थन में गिरफ्तारी दी। सीटू के प्रदेशाध्यक्ष कामरेड सतवीर सिंह, सीटू जिला सचिव कामरेड राजेंद्र सिंह सरोहा, ईश्वर नास्तिक, दिनेश अवस्थी के अलावा आंगनबाड़ी की 1589 कार्यकर्ता व हेल्पर्स ने अपनी गिरफ्तारी दी।

लघु सचिवालय को अस्थाई जेल परिसर में तब्दील किया

ड्यूटी मजिस्ट्रेट ने लघु सचिवालय को अस्थाई जेल परिसर में तब्दील कर दिया था। कार्यकर्ताओं ने बार-बार भोंडसी जेल ले जाने की मांग की, लेकिन प्रशासन ने अपने इंतजाम नाकाफी होने का बहाना बनाकर भोंडसी ले जाने में असमर्थता जताई। प्रदर्शनकारियों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। सर्व कर्मचारी संघ के जिला प्रधान कंवरलाल यादव, प्रदेश उपाध्यक्ष सुरेश कुमार नोहरा विशेष रूप से उपस्थित रहे।

गुड़गांव. लघु सचिवालय के बाहर प्रर्दशन पर बैठी आंगनबाड़ी वर्कर।

गुड़गांव. लघु सचिवालय के बाहर आंगनबाड़ी वर्कर को संबंधित करते सतबीर।

मांगों को लेकर अलग-अलग विभाग के कर्मियों का प्रदर्शन

नूंह|जिले में दो स्थानों पर शुक्रवार को कर्मचारी धरना-प्रदर्शन चलता रहा। लघु सचिवालय में आंगनबाड़ी वर्कर व पुरानी सिविल लाइन में पैक्स बैंक कर्मियों ने अपनी मांगों को लेकर सरकार के विरुद्ध धरना दिया। आंगनबाड़ी वर्कर पिछले कई दिनों से अपनी मांगों को लेकर सरकार के विरुद्घ लघु सचिवालय परिसर में धरना कर रही है। शुक्रवार को सीटू से संबंधित दो दर्जन आंगनबाड़ी वर्करों ने जेल भरो आंदोलन किया। प्रदेश सरकार आंगनबाड़ी वर्करों की मांगों को मानने के लिए तैयार नहीं है। जिला पुलिस ने सभी वर्करों को जेल भरो आंदोलन के नाम पर लघु सचिवालय से बस में बिठाया और तीन किलोमीटर दूर बस स्टैंड पर छोड़ दिया। उधर, सहकारिता बैंक के पैक्स कर्मचारियों ने भी अपनी मांगों को सरकार के सामने रखने के लिए बैंक के समक्ष धरना दिया। इसमें 15 मार्च को गुड़गांव में होने वाले प्रदर्शन को कामयाब बनाने के लिए भी रणनीति बनाई गई। पैक्स के यूनियन अधिकारी जुहृदिन सलाहेड़ी ने बताया कि पैक्स कर्मचारियों की कई मांग है, लेकिन सरकार उन मांगों को पूरा करने के लिए तैयार नहीं है।