• Home
  • Haryana News
  • Gurgaon
  • हिन्दी के पेपर में गुड़गांव में 16 व मेवात में 25 नकलची पकड़े गए
--Advertisement--

हिन्दी के पेपर में गुड़गांव में 16 व मेवात में 25 नकलची पकड़े गए

हरियाणा बोर्ड में शुक्रवार को 12वीं में हिन्दी का पेपर हुआ। गुड़गांव व मेवात जिले में हिन्दी के पेपर में भी जमकर नकल...

Danik Bhaskar | Mar 10, 2018, 02:00 AM IST
हरियाणा बोर्ड में शुक्रवार को 12वीं में हिन्दी का पेपर हुआ। गुड़गांव व मेवात जिले में हिन्दी के पेपर में भी जमकर नकल हुई। गुड़गांव में 16 व मेवात में 25 नकल के मामले आए।

दूसरी ओर परीक्षा में बरती गई अनियमितता को लेकर कारोला सीनियर सेकेंडरी स्कूल के पूरे स्टाफ को बदल दिया गया। वहीं कक्षा में पर्ची मिलने पर भोंडसी सेंटर के दो टीचरों को रिलीव कर दिया गया है। बोर्ड व जिला प्रशासन के तमाम दावों के बावजूद स्कूलों में जमकर नकल हो रही है। शुक्रवार को मातृभाषा हिन्दी में भी परीक्षार्थी नकल में पीछे नहीं रहे। कई सेंटरों पर नकल की शिकायतें मिली। जिला स्तर पर बने फ्लाइंग दस्तों ने 16 छात्रों को नकल करते हुए पकड़ा। इसमें डीईओ दस्ता ने दो, एडीसी के चार, डीसी के दो अन्य उड़नदस्तों ने नकल के मामले पकड़े। डीईओ प्रेमलता ने बताया कि कारोला सीनियर सेकेंडरी स्कूल में नकल के मामले को देखते हुए स्कूल के पूरे स्टॉफ को बदल दिया गया है। उन्होंने बताया कि जांच में सेंटर पर कई कमियां मिली। दूसरी ओर डीसी के उड़नदस्ता ने भोंडसी स्कूल पर एक जेबीटी व एक लेक्चरर को कमरे में नकल की पर्ची मिलने पर रिलीव कर दिया है। डीईओ ने एक बार फिर से केंद्र अधीक्षकों व टीचरों को हिदायत दी है कि किसी भी कीमत पर नकल होने से रोके। उन्होंने कहा कि विभाग नकल को लेकर सख्त है। सेंटर प्रभारी से लेकर टीचरों पर कार्रवाई की जा रही है। दूसरी ओर छात्रों के अनुसार 12वीं में हिन्दी का पेपर ठीक रहा।

सुपरवाइजरों के रिलीव पर टीचरों ने विरोध जताया

डीसी ने गुरुवार को निर्देश दिया था कि किसी सेंटर पर नकल की पर्ची मिली तो सुपरवाइजर को रिलीव कर दिया जाएगा। जिसके बाद भोंडसी सीनियर सेकंडरी स्कूल में शुक्रवार को दो टीचरों को नकल की पर्ची मिलने पर डीसी दस्ता ने उन्हें रिलीव कर दिया। हसला के पूर्व प्रधान किशन कुमार ने कहा कि यह फैसला पूरी तरह से गलत है। टीचर पूरी ईमानदारी से काम कर रहे हैं। कोई बाहर से पर्ची फेंक रहा है तो कमरे के अंदर का टीचर कैसे रोक सकते हैं। भौतिकी प्रवक्ता सरोज यादव ने कहा कि टीचर नकल के विरोधी है। सुपरवाइजर पर इस प्रकार की कार्रवाई से टीचरों में निराशा है। यदि ऐसा आगे भी हुआ तो टीचर इसका विरोध करेंगे। शिक्षक नेता महाराम यादव ने कहा कि जिला प्रशासन को बाहरी तत्वों को रोकना चाहिए। क्लास के अंदर से बाहरी तत्वों को कैसे सुपरवाइजर रोक सकता है। पूर्व उपाध्यक्ष सुनील कुमार व अशोक यादव, सत्य नारायण समेत अन्य ने भी इसकी निंदा की है।