• Hindi News
  • Haryana
  • Gurgaon
  • नेत्रहीन विश्व कप 2018 में जीतने वाली भारतीय टीम के खिलाड़ियों ने लिया हिस्सा
--Advertisement--

नेत्रहीन विश्व कप 2018 में जीतने वाली भारतीय टीम के खिलाड़ियों ने लिया हिस्सा

गुड़गांव सोहना में नेत्रहीन और विभिन्न कॉर्पोरेट्स के सामान्य खिलाड़ियों के बीच एक मिश्रित मैत्रीपूर्ण क्रिकेट...

Dainik Bhaskar

Mar 25, 2018, 02:05 AM IST
नेत्रहीन विश्व कप 2018 में जीतने वाली भारतीय टीम के खिलाड़ियों ने लिया हिस्सा
गुड़गांव सोहना में नेत्रहीन और विभिन्न कॉर्पोरेट्स के सामान्य खिलाड़ियों के बीच एक मिश्रित मैत्रीपूर्ण क्रिकेट मैच खेला गया। इसमें हाल ही के नेत्रहीन विश्व कप 2018 में जीत हासिल करने वाले भारतीय नेत्रहीन क्रिकेट टीम के अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया। इस मैत्रीपूर्ण मैच में भारतीय विश्व कप चैंपियन टीम बी के अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी जीशान हैदर, महंतेश जी के, शैलेंद्र यादव, योगेश तनेजा समेत कई अन्य खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया। इस मैच का मुख्य उद्देश्य विकलांग और सामान्य लोगों के बीच समानता लाना था। नेत्रहीन क्रिकेट में सामान्य क्रिकेट के नियमों का कुछ संशोधनों के साथ पालन किया जाता है, जिससे नेत्रहीन खिलाड़ियों को सहूलियत मिल सके। इन संशोधन में उन खिलाड़ियों को भी शामिल किया गया है, जो पूरी तरह नेत्रहीन नहीं हैं। खेलने वालों में 11 खिलाड़ियों की निश्चित संख्या होती है, जिसमें तय संख्या में पूर्ण नेत्रहीन श्रेणी बी 1 आंशिक नेत्रहीन श्रेणी बी 2 और आंशिक रूप से दृष्टिहीन बी 3 श्रेणी क्रिकेटर शामिल होते हैं। सोहना में इस मैत्रीपूर्ण क्रिकेट मैच का आयोजन फायरफॉक्स बाइक्स की ओर से किया गया। जो एवरी डे एबिलिटी सीरीज का आखिरी और अंतिम आयोजन था। इससे पहले गुड़गांव, मुंबई, बैंगलुरू, चेन्नई और हैदराबाद में ऐसा आयोजन हो चुका है।

गुड़गांव. सोहना में नेत्रहीन और विभिन्न कॉर्पोरेट्स के सामान्य खिलाड़ियों के बीच हुए मैच में शॉट लगाता खिलाड़ी।

बॉलिंग होती है अंडरआर्म

इस क्रिकेट प्रतियोगिता में खेलने के लिए बॉल बीयरिंग से भरे गेंद का इस्तेमाल किया जाता है, ताकि पूर्ण नेत्रहीन बल्लेबाज और गेंदबाज आवाज सुनकर बॉल को समझ सके। खिलाड़ी बाल के अंदर मौजूद बीयरिंग की आवाज सुनते हैं और शॉट लगाते हैं या कैच करते हैं, बॉलिंग अंडरआर्म होती है। गेंदबाज बॉल फेंकने से पहले रेडी की आवाज लगाता है और बल्लेबाज यस कहकर जवाब देता है। फिर गेंदबाज बॉल फेंकने से पहले बोलता है प्ले इस दौरान समय काफी महत्वपूर्ण होता है। अंपायर उस बॉल को नो बॉल करार देता है।

X
नेत्रहीन विश्व कप 2018 में जीतने वाली भारतीय टीम के खिलाड़ियों ने लिया हिस्सा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..