• Home
  • Haryana News
  • Gurgaon
  • हाई कोर्ट के आदेश पर शुरू होगा जाति आधारित सर्वेक्षण: उपायुक्त
--Advertisement--

हाई कोर्ट के आदेश पर शुरू होगा जाति आधारित सर्वेक्षण: उपायुक्त

जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में जल्द ही जाति सर्वेक्षण शुरू होने जा रहा है, जिसे लेकर बुधवार को उपायुक्त विनय प्रताप...

Danik Bhaskar | Mar 08, 2018, 02:05 AM IST
जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में जल्द ही जाति सर्वेक्षण शुरू होने जा रहा है, जिसे लेकर बुधवार को उपायुक्त विनय प्रताप सिंह की अध्यक्षता में संबंधित ग्राम सचिवों, सरपंचों व पटवारियों सहित वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक ली गई। उपायुक्त ने कहा कि यह जाति सर्वेक्षण जिले में पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय द्वारा जारी आदेशों के तहत करवाया जा रहा है। इसलिए जरूरी है कि सभी संबंधित अधिकारी व कर्मचारी इस काम को गंभीरता से लेते हुए इसे समयबद्ध तरीके से पूरा करें। जाति सर्वेक्षण को पूरा कर इसका डाटा पोर्टल पर अपडेट करने के लिए सभी को 20 मार्च तक का समय दिया गया है। आज आयोजित बैठक में जाति सर्वेक्षण को लेकर सभी महत्वपूर्ण बिंदुओं पर विस्तार से चर्चा की गई। सर्वेक्षण कार्य को पूरा करने के लिए जिला, उपमंडल तथा ग्रामीण स्तर पर कमेटियों का गठन किया गया है। जिला स्तरीय कमेटी के अध्यक्ष उपायुक्त होंगे, जबकि अतिरिक्त उपायुक्त, एसडीएम, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी, जिला राजस्व अधिकारी तथा महिला एवं बाल विकास विभाग गुड़गांव की कार्यक्रम अधिकारी इस कमेटी के सदस्य होंगे। उपमंडल स्तरीय कमेटी के अध्यक्ष एसडीएम होंगे। वहीं तहसीलदार तथा खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी इस कमेटी के सदस्य होंगे।

इस सर्वेक्षण कार्य में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका ग्रामीण स्तरीय कमेटी की होगी, जिसके अध्यक्ष सरपंच तथा अन्य सदस्यों में ग्राम सचिव, पटवारी तथा आंगनबाड़ी वर्कर शामिल होंगे। इस जाति सर्वेक्षण की नोडल अधिकारी जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी चिनार चहल होंगी। इस सर्वेक्षण के लिए प्रोफॉर्मा तैयार किया गया है, इस प्रोफॉर्मा के अलावा चयनित जाति की सूची भी होगी। जिसमें 134 तरह की जाति उनके सीरियल नंबर के साथ लिखी होगी। ग्राम सचिव, पटवारी तथा आंगनबाड़ी वर्कर घर-घर जाकर निर्धारित प्रोफार्मा के हिसाब से डाटा फीड करेंगे। इस सर्वेक्षण का डाटा ऑनलाइन अपडेट होगा।