• Home
  • Haryana News
  • Gurgaon
  • अब किसी भी उपतहसील से हो सकती है रजिस्ट्री
--Advertisement--

अब किसी भी उपतहसील से हो सकती है रजिस्ट्री

गुड़गांव शहरी क्षेत्र के लोग अब शहर के किसी भी उप तहसील में अपनी प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री करवा सकेंगे। क्षेत्र से...

Danik Bhaskar | Mar 28, 2018, 02:05 AM IST
गुड़गांव शहरी क्षेत्र के लोग अब शहर के किसी भी उप तहसील में अपनी प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री करवा सकेंगे। क्षेत्र से संबंधित उपतहसील में ही रजिस्ट्रेशन कराने की बाध्यता एक अप्रैल से खत्म होने वाली है। तहसील व्यवस्था में एक साल बाद यह बड़ा बदलाव हो रहा है। इससे पहले एक अप्रैल 2017 को गुड़गांव में चार उपतहसील का गठन किया गया था। रजिस्ट्री के लिए उपतहसील विशेष की बाध्यता समाप्त होने से सभी गुड़गांववासियों को सहूलियत होगी। गुड़गांव तहसील क्षेत्र में हर वर्ष औसतन 40 हजार रजिस्ट्रियां होती हैं। रजिस्ट्री के लिए लोगों को अब भटकना नहीं पड़ेगा, वे नजदीक स्थित किसी भी उप तहसील में अपनी प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री करवा सकेंगे।

क्या थी समस्या

मगर, चार उपतहसील बनाने के बाद भी लोगों की परेशानी कम नहीं हुई। लोगों को उपतहसील खोजने में परेशानी होने लगी। आम तौर पर लोगों को यह जानकारी नहीं होती कि उसकी प्रॉपर्टी किस उपतहसील अंतर्गत आ रही है। एक तहसील में जाने के बाद मालूम चलता था कि उसकी प्रॉपर्टी दूसरी उपतहसील के अंतर्गत आ रही है, इसलिए उन्हें रजिस्ट्री कराने के लिए दूसरी उपतहसील में जाना होगा।

नई व्यवस्था का लाभ

इन्हीं समस्याओं को देखते हुए जिला प्रशासन ने प्रॉपर्टी रजिस्ट्री के लिए उपतहसील की बाध्यता खत्म करने का फैसला लिया है। जिला के डीसी विनय प्रताप सिंह के अनुसार इसके लिए चारों उपतहसील स्थित कंप्यूटर्स में पूरे शहर का डाटा अपलोड कर दिया गया है। गुड़गांव तहसील के साथ चारों उपतहसील को ऑन लाइन जोड़ा गया है। सभी तहसीलदार और नायब तहसीलदारों को दिशानिर्देश जारी कर दिए गए हैं। यह नई व्यवस्था आगामी एक अप्रैल से लागू हो जाएगी।

तहसीलदारों में होड़ की आशंका

इस नहीं व्यवस्था से रजिस्ट्री करने के लिए तहसीलदारों में होड़ लग सकती है। लोग उस उपतहसील में रजिस्ट्री कराना पसंद करेंगे, जहां उसकी प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री आसानी से हो जाए।

ऐसी संभावना बन सकती है कि लोग सख्त रवैया अपनाने व कानूनी नुख्ता निकालने वाले तहसीलदार से परहेज करेंगे। इसमें भ्रष्टाचार की गुंजाइश रहेगी।


एक अप्रैल से लागू होगी नई व्यवस्था, प्रापर्टी से संबंधित उपतहसील में ही रजिस्ट्री की अनिवार्यता खत्म

गुड़गांव तहसील व्यवस्था में एक साल बाद यह बड़ा बदलाव हो रहा है। एक अप्रैल 2017 से पहले गुड़गांव के लोगों के लिए केवल एक तहसील लघु सचिवालय में होती थी। बढ़ती आबादी और लोगों की भीड़ को देखते हुए एक अप्रैल 2017 को गुड़गांव तहसील के अंतर्गत चार उपतहसील गठित की गई, जिसमें वजीराबाद, बादशाहपुर, कादीपुर और हरसरू शामिल है। इस व्यवस्था के तहत गुड़गांव तहसील क्षेत्र को चार उपतहसील क्षेत्र में बांटा गया था। इसमें बाध्य किया गया था कि प्रॉपर्टी विशेष की रजिस्ट्री संबंधित क्षेत्र की उप तहसील में ही होगी। एक क्षेत्र में स्थित प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री, दूसरे क्षेत्र में स्थित उपतहसील में नहीं हो सकती।

पहले क्या थी व्यवस्था