• Hindi News
  • Haryana
  • Gurgaon
  • एक्सप्रेस-वे सर्विस लेन पर ढाई साल बाद भी अंधेरा, अब तक नहीं लगीं स्ट्रीट लाइट्स
--Advertisement--

एक्सप्रेस-वे सर्विस लेन पर ढाई साल बाद भी अंधेरा, अब तक नहीं लगीं स्ट्रीट लाइट्स

दिल्ली-गुड़गांव एक्सप्रेस-वे की सर्विस लेन पर स्ट्रीट लाइटें लगाने की योजना करीब ढाई साल बाद भी सिरे नहीं चढ़ सकी...

Dainik Bhaskar

Mar 23, 2018, 02:10 AM IST
एक्सप्रेस-वे सर्विस लेन पर ढाई साल बाद भी अंधेरा, अब तक नहीं लगीं स्ट्रीट लाइट्स
दिल्ली-गुड़गांव एक्सप्रेस-वे की सर्विस लेन पर स्ट्रीट लाइटें लगाने की योजना करीब ढाई साल बाद भी सिरे नहीं चढ़ सकी है। जिससे वाहन चालकों समेत अन्य लोगों को असुविधा हो रही है। अंधेरा होने के कारण सड़क हादसे और आपराधिक वारदात होना आम बात है। एक्सप्रेस वे पर सिरहौल बार्डर से खेड़कीदौला तक की सर्विस लेन पर दोनों ओर 6.53 करोड़ रुपए की लागत से स्ट्रीट लाइटेंं लगाई जानी है। दिल्ली-गुड़गांव एक्सप्रेस-वे की सर्विस लेन पर कई जगहों पर स्ट्रीट लाइटंे नहीं हैं। इससे सड़क हादसों और वारदात होने की आशंका बनी रहती है। इसे देखते हुए नगर निगम ने वर्ष 2015 में एक्सप्रेस वे पर सिरहौल बार्डर से खेड़कीदौला टोल तक एक्सप्रेस वे की सर्विस लेन पर स्ट्रीट लाइटेंं लगाने की योजना बनाई थी। इसके अप्रुवल के लिए नंवबर 2015 को फाइल चंडीगढ़ भेजी गई थी लेकिन अभी तक इसको अप्रुवल नहीं मिला है। निगम में एक करोड़ से अधिक का प्रोजेक्ट होने पर सरकार से अप्रुवल जरूरी होता है।

जानिए, क्या है योजना

एक्सप्रेस वे की सर्विस लेन पर कुछ जगहों पर एनएचएआई द्वारा स्ट्रीट लाइटे पहले लगाई गईं थी। अब पूरे सर्विस लेन का प्रयोग पहले से बढ़ गया है। कई जगहों पर कंपनियों के दफ्तर खुल गए है। एक्सप्रेस वे की 27.3 किमी में कई जगहों पर स्ट्रीट लाइट्स नहीं है। सर्विस लेन के एक स्ट्रेच पर लगभग 1.3 किमी दूरी तक लाइट्स नहीं हैं। दूसरे पॉइंट पर लगभग 2.2 किमी दूरी तक स्ट्रीट लाइट्स की नहीं हैं। तीसरे पॉइंट पर लगभग 8 किमी दूरी तक स्ट्रीट लाइट्स ही नहीं हैं। लेफ्ट व राइट साइड सर्विस लेन में कुल मिलाकर 27.3 किमी दूरी तक स्ट्रीट लाइटें लगाई जानी हैं। इस पर निगम का कुल 6.53 करोड़ रुपए खर्च होना है।

एनएचएआई और नगर निगम के बीच पिस रहे लोग, हो रहे हैं हादसों का शिकार

गुड़गांव. एक्सप्रेस- वे की सर्विस लेन जहां अब तक स्ट्रीट लाइट नहीं लगने से छाया हुआ है अंधेरा।

राजीव, सिग्नेचर व इफको चौक पर भी अंधेरा

हंस एन्क्लेव निवासी मुकेश कुमार ने बताया कि अभी राजीव चौक पर अंडर पास बनाया गया है। चौक के चारों ओर करीब एक किलोमीटर के दायरे में अंधेरा होता है। बेरी वाला बाग, हीरो होंडा चौक की ओर से सर्विस लेन पर कई कालोनियां है। सभी लोगों को अंधेरे से परेशानी हो रही है। एनएचएआई राजीव चौक, सिग्नेचर टावर और इफको चौक पर लाइटों का प्रबंधन नहीं करा सकी है। जिला प्रशासन ने जल्द स्ट्रीट लाइटेंं लगाने का निर्देश दिया हुआ है।

प्रपोजल सरकार को भेजा


खेड़कीदौला गांव निवासी शिक्षक महाराम यादव ने कहा कि राजीव चौक से लेकर खेड़कीदौला टोल तक दोनों ओर की सर्विस लेन पर स्ट्रीट लाइटें नहीं है। कई जगहों पर सर्विस लेन टूटी पड़ी है। ऐसे में आम लोगों के साथ वाहनों को परेशानी हो रही है। एनएचएआई व निगम के चक्कर में लोग पिस रहे हैं। नरसिंगपुर के पूर्व प्रधान बिजेंद्र सिंह ने कहा कि एक्सप्रेस वे पर अव्यवस्थाओं की भरमार है। स्ट्रीट लाइटेंं न होने से छिटपुट वारदातें होना आम बात है। अंधेरा होने के कारण बदमाश घटना को अंजाम देकर आसानी से फरार भी हो जाते हैं।

सर्विस लेन से जुड़े सेक्टर्स पर बढ़ रहीं स्नेचिंग की वारदात

एक्सप्रेस वे की सर्विस लेन पर अंधेरा रहने से एक ओर जहां लोग तेज रफ्तार वाहनों की चपेट में आ जाते हैं, दूसरी ओर सर्विस लेन से जुड़े सेक्टर 31, सेक्टर-15, डीएलएफ एरिया व उद्योग विहार एरिया में अपराध बढ़ा है, यहां स्नेचिंग की वारदात में काफी इजाफा हुआ है।

हमने निगम को ढाई साल पहले बताया था


X
एक्सप्रेस-वे सर्विस लेन पर ढाई साल बाद भी अंधेरा, अब तक नहीं लगीं स्ट्रीट लाइट्स
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..