--Advertisement--

प्रद्युम्न मर्डर : कंडक्टर अशोक बोला, मैंने चाकू देखा भी नहीं, लेकिन मैडम ने नाम ले दिया

प्रद्युम्न मर्डर केस में पुलिस द्वारा आरोपी बनाए गए अशोक को गुरुवार सुबह तेज बुखार था।

Dainik Bhaskar

Nov 24, 2017, 06:16 AM IST
अशोक कुमार को गुरुवार को दिन भर तेज बुखार बना रहा। अशोक कुमार को गुरुवार को दिन भर तेज बुखार बना रहा।

गुड़गांव. प्रद्युम्न मर्डर केस के आरोपी बस कंडक्टर अशोक कुमार को गुरुवार को दिनभर तेज बुखार रहा। इसके बाद भी वह दिनभर मीडिया को बताता रहा कि 8 सितंबर की सुबह क्या हुआ था। उसके मुताबिक, घटना के बाद एक मैडम ने उसे आवाज लगाकर जख्मी प्रद्युम्न को उठाने के लिए कहा था। इसके बाद उन्होंने पुलिस के सामने मेरा ही नाम ले लिया। जब अशोक से पूछा गया कि आपने चाकू बरामद कराया था क्या? तो उसने जवाब दिया कि उसने तो चाकू देखा भी नहीं था, लेकिन मैडम के नाम लेने की वजह से पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया और बुरी तरह पीटा।

पुलिस पूछताछ से अभी भी डरा हुआ है अशोक

- अशोक पुलिस पूछताछ से अभी भी डरा हुआ है। गिरफ्तारी के बाद किए गए टॉर्चर को याद करते ही उसकी आंखों से आंसू छलक पड़ते हैं। इस बारे में अब वह कुछ बात भी नहीं करना चाहता।


पत्नी बोली-टॉर्चर के कारण रातभर रहा बदन दर्द

- पत्नी ममता ने बताया कि रात में उसके पति के पूरे बदन में दर्द रहा। वह अभी भी सदमे में हैं। पुलिस ने उसे बेरहमी से पीटा और टॉर्चर किया। उसकी उंगलियों में करंट लगाया गया। ममता ने कहा कि उसके पति इस बारे में बात करते हुए भी डर रहे हैं।


अशोक की भाभी ने भी पुलिस पर खड़े किए सवाल

- अशोक की भाभी अनुराधा ने भी पुलिस की पूछताछ पर सवाल खड़े किए हैं। उनका कहना है कि पुलिस ने बर्बरता से मारपीट की। उसे पुलिस ने ये कहा था कि इस मर्डर की वजह से पूरे देश में दंगे हो रहे हैं। नेता टेंशन में हैं, इसलिए तू एक बार गुनाह कबूल कर ले। इसके बाद हम अपने आप बाहर निकाल देंगे। अशोक ने कहा कि उसने तो टीचर के कहने पर बच्चे को उठाया था। उसे क्या पता था कि उसे ही आरोपी बना दिया जाएगा।

रेयान मामले में बदलते घटनाक्रम पर पुलिस की नजर
- प्रद्युम्न मर्डर में बदलते घटनाक्रम में गुड़गांव पुलिस भी पूरे मामले में नजर रख रही है। सीपी संदीप खिरवार ने कहा कि रेयान मामले में उचित समय पर जरूरी कदम उठाया जाएगा। अभी इस बारे में कुछ कहना जल्दबाजी होगी। गुड़गांव पुलिस मामले की जांच कर रही थी। बीच में केस सीबीआई को चला गया था।

- सीपी ने कहा कि गुड़गांव पुलिस सीबीआई जांच में पूरा सहयोग कर रही है।

क्या है पूरा मामला
- गुड़गांव के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में 8 सितंबर को 7 साल के बच्चे का मर्डर कर दिया गया था। बॉडी टॉयलेट में मिली थी। इस मामले में पुलिस ने स्कूल बस के कंडक्टर अशोक कुमार को अरेस्ट किया था। आरोपी 8 महीने पहले ही स्कूल में कंडक्टर की नौकरी पर लगा था। बाद में सीबीआई को इसकी जांच दी गई तो सीबीआई ने 11वीं के स्टूडेंट को इस मर्डर केस में आरोपी बनाया। अब कंडक्टर अशोक को कोर्ट ने जमानत दी है, वहीं आरोपी स्टूडेंट को बाल सुधार गृह, फरीदाबाद में रखा गया है।

बेल मिलने के बाद अशोक कुमार बुधवार शाम को अपने गांव पहुंचा था। बेल मिलने के बाद अशोक कुमार बुधवार शाम को अपने गांव पहुंचा था।
अशोक के घरवालों के मुताबिक वह काफी डरा हुआ है। पुलिस के टॉर्चर की बात याद कर सहम जाता है। अशोक के घरवालों के मुताबिक वह काफी डरा हुआ है। पुलिस के टॉर्चर की बात याद कर सहम जाता है।
X
अशोक कुमार को गुरुवार को दिन भर तेज बुखार बना रहा।अशोक कुमार को गुरुवार को दिन भर तेज बुखार बना रहा।
बेल मिलने के बाद अशोक कुमार बुधवार शाम को अपने गांव पहुंचा था।बेल मिलने के बाद अशोक कुमार बुधवार शाम को अपने गांव पहुंचा था।
अशोक के घरवालों के मुताबिक वह काफी डरा हुआ है। पुलिस के टॉर्चर की बात याद कर सहम जाता है।अशोक के घरवालों के मुताबिक वह काफी डरा हुआ है। पुलिस के टॉर्चर की बात याद कर सहम जाता है।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..