गुड़गांव

--Advertisement--

किसानों ने रोका एक्सप्रेस-वे का निर्माण काम, बढ़े मुआवजे के खिलाफ HC जाएगा एनएचएआई

बढ़े मुआवजे को लेकर किसानों की बढ़ी मुश्किल, कहा, मुआवजा नहीं दिया तो करेंगे बड़ा आंदोलन।

Danik Bhaskar

Nov 22, 2017, 07:26 AM IST

पलवल। कुंडली-गाजियाबाद-पलवल(केजीपी) एक्सप्रेस-वे के लिए अधिग्रहण की गई जमीन के मुआवजे का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। शनिवार को किसानों ने केजीपी पर काम रोका तो निर्माण कंपनी ने किसानों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया जिसके विरोध में सोमवार को दोपहर बाद किसानों ने पहले उपायुक्त से मुलाकात की। जब डीसी ने एनएचएआई के अधिकारियों से बात की तो उन्होंने कहा कि वह बढ़े हुए मुआवजे के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर करेंगे। उसके बाद देर शाम दोबारा केजीपी पर काम रोक दिया। किसान अब आगामी रणनीति तैयार करने में जुटे हैं। संभावना है बुधवार को भी काम रोका जा सकता है।

- केजीपी निर्माण के लिए अधिग्रहण की गई जमीन के मालिक सैकड़ों किसानों ने शनिवार को बैठक की और उसके बाद बढ़े मुआवजे की रकम देने की मांग को लेकर केजीपी पर काम रोक दिया।

- जिसके विरोध में गायत्री प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के प्रोजेक्ट अधिकारी हरि प्रसाद ने कैंप थाना पुलिस को शिकायत देकर कुशलीपुर असावटा गांव के 12 किसानों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

- पुलिस अभी जांच की तैयारी ही कर रही थी कि सोमवार को दोबारा किसानों ने उपायुक्त को ज्ञापन सौंपने के बाद केजीपी के निर्माण कार्य को रूकवा दिया। दो घंटे तक काम रोकने के बाद किसानों ने चेतावनी दी कि यदि जल्द ही उनका बढ़ा हुआ मुआवजा नहीं दिया तो बड़ा आंदोलन करेंगे। किसानों का कहना था कि यदि बढ़े हुए मुआवजे की रकम उन्हें नहीं मिली तो वे जल्द ही बड़ा आंदोलन करेंगे।

क्या कहते हैं प्रोजेक्ट अधिकारी
गायत्रीप्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के प्रोजेक्ट अधिकारी हरि प्रसाद ने कहा कि शनिवार को केजीपी पर निर्माण कार्य को बाधित किया, जिससे लगभग 30 लाख रुपए का नुकसान हुआ है। हरि प्रसाद ने जिला प्रशासन से इसमें हस्तक्षेप कर कार्य को सुचारू रूप से चलवाने में सहयोग करने की मांग की, ताकि दिए गए समय में केजीपी का निर्माण कार्य पूरा किया जा सके।


क्या कहते हैं कैंप थाना प्रभारी
कैंपथाना प्रभारी रविंद्र कुमार ने बताया कि शनिवार को केजीपी पर कार्य रोकने पर गायत्री प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के प्रोजेक्ट अधिकारी हरि प्रसाद की शिकायत पर असावटा गांव निवासी सरजीत, भोला, बलवीर, जीतन, किरन, देशपाल, विदेश एवं गांव अटोंहा कुशलीपुर निवासी सतपाल, हरि, खजान, भीम वेदपाल के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

दर्जनों गांवों के किसान हुए एकजुट
जिलेके दर्जनों गांवों के सैकड़ों किसान पिछले लंबे समय से केजीपी में गई भूमि के बढ़े हुए मुआवजे की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे हैं, लेकिन एनएचआई एवं जिला प्रशासन उनकी सुनने को तैयार ही नहीं है। इसी बात को लेकर कुशलीपुर असावटा सहित अन्य दर्जनों गांवों के किसानों ने शनिवार सोमवार को काम रोककर प्रदर्शन किया।

Click to listen..