Hindi News »Haryana »Gurgaon» One Centre Aadharcard In District

आधार को जिले में एक सेंटर, रोज 800 लोग लाइन में खा रहे धक्के

आधार कार्ड बनवाने के लिए जिले में एक सेंटर बनाया गया है। ऐसे में लोगों की मुसीबत बढ़ गई है।

Bhaskar news | Last Modified - Nov 18, 2017, 07:43 AM IST

आधार को जिले में एक सेंटर, रोज 800 लोग लाइन में खा रहे धक्के

गुड़गांव। एकतरफ तो हर काम के लिए आधार कार्ड की अनिवार्यता की जा रही है। दूसरी ओर आधार कार्ड बनवाने के लिए जिले में एक सेंटर बनाया गया है। ऐसे में लोगों की मुसीबत बढ़ गई है। सेंटर पर रोजाना 800 से ज्यादा लोग पहुंच रहे हैं, जिससे कई-कई घंटे लोगों को लाइनों में खड़े होकर अपनी बारी का इंतजार करना पड़ रहा है। रोजाना 100 से 150 लोग ऐसे रह जाते हैं, जिन्हें लाइन में लगने के बाद भी बिना एनरोलमेंट कराए लौटना पड़ता है। मजबूरन बच्चों से लेकर बुजुर्गों को भी लाइनों में लगना पड़ रहा है। आधार नंबर के बिना सरकारी योजनाओं का लाभ उठाने के अलावा किसी भी परीक्षा में हिस्सा भी नहीं ले सकते। अब गुड़गांव में विकास सदन स्थित सरकारी आधार केंद्र पर ही आधार बनवा सकते हैं। हालांकि आधार केंद्र में आठ मशीनें लगाई गई हैं, लेकिन रोजाना इस केंद्र पर रोजाना 800 से अधिक लोग लाइन में लग रहे हैं, जिससे परेशानी बढ़ रही है। वहीं आधार कार्ड में बड़ी मात्रा में की गई गलतियों के कारण लोग परेशान हैं। विकास सदन में जब आधार एनरोलमेंट के लिए लाइन लगी देखते हैं लोग भी हैरान रह जाते हैं। इस लाइन की लंबाई 100 मीटर तक लगी रहती है।
आधार एनरोलमेंट के नोडल ऑफिसर राजेश गुप्ता ने बताया कि गुड़गांव में 8 मशीनें चल रही हैं। नए आधार बनवाने के लिए कोई चार्ज नहीं लिया जा रहा, लेकिन गलती सुधार के लिए 60 फीसदी लोग पहुंच रहे हैं। गलती सुधार के लिए 25 रुपए लिए जा रहे हैं।


देशभर में 4400 आधार एनरोलमेंट मशीनें ब्लैकलिस्ट
जिलाप्रशासन के सूत्रों का कहना है कि यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया की ओर से देशभर में आधार के नाम पर हो रहे घोटाले को देखते हुए देशभर में 4400 आधार एनरोलमेंट मशीनों को ब्लैकलिस्ट किया है। हरियाणा में 400 मशीनें ब्लैक लिस्ट की गई हैं। ऐसे सभी आधार केंद्रों को बंद कर दिया है। अब जिला प्रशासन की ओर से आधार एनरोलमेंट की संख्या के आधार पर एनरोल किए जा रहे हैं।


गुड़गांव में 25 लाख लोगों के बने आधार
आधारएनरोलमेंट नोडल ऑफिसर राजेश गुप्ता ने बताया कि गुड़गांव की कुल जनसंख्या 16 लाख है, लेकिन माइग्रेटेड पॉपुलेशन अधिक होने से 9 लाख अधिक आधार एनरोलमेंट किए जा चुके हैं। यही वजह है कि लगातार आधार एनरोलमेंट कराने के लिए पहुंच रहे हैं। उन्होंने बताया कि गुड़गांव में बिहार, उत्तरप्रदेश, हिमाचल प्रदेश, पश्चिम बंगाल, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र सहित देशभर के सभी स्टेट से लोग रह रहे हैं। लेकिन बच्चों की पढ़ाई बैंक खातों के लिए गुड़गांव में आधार कार्ड बनवाना पड़ता है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gurgaon

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×