Hindi News »Haryana »Gurgaon» Suresh Prabhu Said Need To Work Gender Equality In Business

बिजनेस में लैंगिक समानता लाने की दिशा में काम करना जरूरी : सुरेश प्रभु

महिला उद्यमियों को प्रोत्साहित करने के लिए सोमवार को गुड़गांव में ‘थिंक बिग-वुमन इन बिजनेस’ समिट का आयोजन किया गया।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 14, 2017, 06:51 AM IST

  • बिजनेस में लैंगिक समानता लाने की दिशा में काम करना जरूरी : सुरेश प्रभु
    +1और स्लाइड देखें

    गुड़गांव.महिला उद्यमियों को प्रोत्साहित करने के लिए सोमवार को गुड़गांव में ‘थिंक बिग-वुमन इन बिजनेस’ समिट का आयोजन किया गया। इसमें देश-विदेश से लगभग 1500 महिला उद्यमियों ने भाग लिया। समिट के उद्घाटन के लिए केंद्रीय उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु ने महिला उद्यमियों के लिए वीडियो मैसेज भेजा, जिसमें कहा कि हमें ना केवल इज ऑफ डूइंग बिजनेस में भारत की स्थिति सुधारनी है, बल्कि बिजनेस में ज्यादा से ज्यादा लैंगिक समानता लाने की दिशा में काम करना है। उन्होंने कहा कि महिलाएं हर क्षेत्र में जैसे बैंकिंग, फाइनेंस, पेय पदार्थों आदि में अग्रणी हैं और बड़े व्यापारिक प्रतिष्ठानों को कुशलता से संभाल रही हैं। महिलाएं सफल उद्यमी सिद्ध हो रही हैं।


    समिट में कर्नाटक सरकार में अतिरिक्त मुख्य सचिव के रत्नाप्रभा, ग्लोबल मैनेजिंग पार्टनर, टीटीसी की पारूल सोनी, बीडब्ल्यू बिजनेस वर्ल्ड मीडिया ग्रुप के चेयरमैन एवं एडिटर इन चीफ अनुराग बत्रा, राष्ट्रीय महिला आयोग, भारत सरकार की पूर्व चेयरपर्सन ललिता कुमारमंगलम, गोल्डमैन साच्स (इंडिया) सिक्योरिटी के चेयरमैन सोंजोय चटर्जी, यूनाइटेड किंगडम से आए डिपार्टमेंट फार इंटरनेशनल डवलपमेंट के हेड गैविन मैकगिलीवरे, यूएनडीपी की कंट्री डायरेक्टर मेरिना वाल्टर, वॉलमार्ट इंडिया के सीईओ क्रिस अय्यर तथा वी-कनेक्ट इंटरनेशनल की सीईओ एलिजाबेथ वैस्क्वेज ने भी संबोधित किया।

    डीसी बोले; युवाओं को स्टार्ट-अप के लिए सरकार कर रही है पूरा सहयोग

    समिट में गुड़गांव के उपायुक्त विनय प्रताप सिंह ने हरियाणा विशेषकर गुड़गांव को निवेश के लिए उद्यमियों की पहली पसंद बताया। उन्होंने महिला उद्यमियों का आह्वान किया कि वे भी हरियाणा में अपने उद्योग लगाएं। उन्होंने बताया कि हरियाणा अब ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के क्षेत्र में निरंतर बेहतरी की ओर है। यह देश में पहले पांच स्थानों में आ गया है। इसके अंतर्गत एक छत के नीचे उद्यमियों की सभी समस्याओं को दूर किया जा रहा है और समयबद्ध तरीके से क्लीयरेंस दी जा रही है। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा सेफ्टी ऑडिट करवाया जा रहा है और इस ऑडिट में जहां भी सुरक्षा संबंधी कमियां मिलेंगी, उन्हें दूर किया जाएगा। उपायुक्त ने कहा कि युवा पीढ़ी को नए स्टार्ट अप स्थापित करने के लिए राज्य सरकार की ओर से पूर्ण सहयोग दिया जा रहा है ताकि वित्त, कराधान तथा अन्य सभी अड़चनों को दूर किया जा सके।

  • बिजनेस में लैंगिक समानता लाने की दिशा में काम करना जरूरी : सुरेश प्रभु
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gurgaon

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×