--Advertisement--

सीएम खट्टर ने शेड्यूल बदलकर दिया चकमा, दूसरे प्रोग्राम में मिले तो इंद्रजीत ने मंच से सुना दी खरी-खरी

इंद्रजीत ने कहा कि उनके कार्यकाल को 4 साल हो चुके हैं, जनता हिसाब मांगेगी, क्या जवाब देंगे।

Danik Bhaskar | May 28, 2018, 08:24 AM IST
गुड़गांव के हीरो- होंडा चौक पर अ गुड़गांव के हीरो- होंडा चौक पर अ
गुड़गांव. हीरो होंडा चौक पर बने अंडरपास उद्घाटन कार्यक्रम को लेकर एक बार फिर केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह और सीएम मनोहर लाल के बीच विवाद हो गया, जहां सीएम ने आखिरी वक्त में कार्यक्रम शेड्यूल में बदलाव कर मौके पर इंतजार कर रहे राव इंद्रजीत की फजीहत की, वहीं दूसरे कार्यक्रम में इंद्रजीत ने सीएम को खरीखोटी सुना दी। इंद्रजीत ने कहा कि उनके मेट्रो विस्तार, गुड़गांव को स्मार्ट सिटी बनाने के दावों को लेकर कोई पहल नहीं हुई। उनके कार्यकाल को 4 साल हो चुके हैं, जनता हिसाब मांगेगी, क्या जवाब देंगे। सीएम बोले- आज संडे है, फन डे होता है नाराजगी छोड़ दें।
गुड़गांव में सीएम को करना था अंडरपास का उद्घाटन
- पूर्व शेड्यूल के अनुसार सीएम को दोपहर 2 बजे हीरो होंडा चौक पर पहुंचना था। केंद्रीय योजना होने के चलते केंद्रीय मंत्री इंद्रजीत सिंह दो बजे से पहले गुड़गांव पहुंच गए। मगर, अब तक सीएम गुड़गांव नहीं पहुंचे थे। सीएम बागपत रैली के बाद करीब 2.50 गुड़गांव आए। सीएम के पहुंचने की सूचना पर इंद्रजीत दोपहर 2.50 बजे कार्यक्रम स्थल पहुंच गए और सीएम का इंतजार करते रहे।
- 15 मिनट बाद अधिकारियों ने बताया कि सीएम पहले सेक्टर-14 राजकीय महिला महाविद्यालय में नारद मुनि जयंती कार्यक्रम में जाएंगे। शाम 6 बजे हीरो होंडा कार्यक्रम में आएंगे। इस पर इंद्रजीत का गुस्सा फूट पड़ा। उन्होंने सूचना देने में देरी के लिए अफसरों को फटकारा और वहां से चले गए।

पावर ग्रिड टाउनशिप के एमपी हॉल में निकाली भड़ास

- शाम करीब 4.18 बजे सेक्टर-43 स्थित पावर ग्रिड टाउनशिप के एमपी हॉल में दोनों की मुलाकात हुई। यहां पीडब्ल्यूडी मंत्री राव नरबीर और विधायक उमेश अग्रवाल भी थे। यहां इंद्रजीत ने मंच से सीएम को खरी-खरी सुना दी। कहा- वे हीरो होंडा चौक पर आपके आने का इंतजार कर रहे थे। आप गुड़गांव भी समय पर आ गए। इंतजार के बाद अफसरों ने बताया कि सीएम साहब शाम 6 बजे आएंगे।

- गुड़गांव को स्मार्ट सिटी बनाने का दावा करते हुए 4 साल हो चुके हैं, मगर कोई सकारात्मक पहल नहीं हुई। जीएमडीए की पिछली बैठक में आपने कहा था कि दिल्ली मेट्रो विस्तार पर 15 दिन में काम शुरू हो जाएगा। आज कुछ नहीं हुआ।

4 साल पूरे हो चुके हैं, जनता को क्या जवाब देंगे: इंद्रजीत

- शहर की समस्याएं गिनाते हुए इंद्रजीत ने कहा कि उनका 4 साल का कार्यकाल संपन्न हो चुका है। अब चुनाव में जनता को जवाब देना होगा। जनता उनसे हिसाब मांगेगी, वो क्या जवाब देंगे? उन्होंने सीएम को गंभीरता से फैसला लेने की नसीहत दी।

- राव इंद्रजीत का गुस्सा शांत करते हुए सीएम मनोहर लाल ने कहा कि आज संडे है, संडे फन डे होता है, इसलिए नाराजगी छोड़ दें। इसके साथ ही उन्होंने स्पष्टवादिता के लिए इंद्रजीत की तारीफ की।

इधर, जमीन नीलामी मामले में किसानों को राहत

प्रदेश भर में लोन न चुका पाने पर लैंड मोरगेज बैंक द्वारा 5 हजार से ज्यादा किसानों को जमीन नीलामी के दिए गए नोटिस पर सीएम मनोहरलाल ने जींद में कहा है कि जमीन नीलाम करने कोई प्रक्रिया नहीं अपनाई जाएगी। किसान लोन चुका सकें इसके लिए आसान किस्त आदि बनाकर कोई बीच का रास्ता निकाला जाएगा। सीएम जिले के दो दिवसीय दौरे के दूसरे दिन रविवार को पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में बात कर रहे थे।

कहा- काम करने के लिए पांच साल नहीं, तीन साल ही मिलते हैं
- सीएम मनोहरलाल ने कहा कि जिस की भी पहली बार सरकार बनती है, उसको काम करने के लिए पांच साल नहीं, तीन साल ही मिलते हैं। अभी उनकी सरकार ने डेढ़ साल का कार्यकाल ही पूरा किया है। डेढ़ साल बाकी है और इन डेढ़ साल में देखिए प्रदेश में कितना विकास होता है। कांग्रेस के 10 साल के शासन काल से कई गुना ज्यादा इस दौरान विकास कार्य होंगे।

- सीएम ने कहा कि प्रदेश में डॉक्टरों की कमी है। लेकिन इस कमी को दूर करने के लिए सरकार द्वारा 22 नए मेडिकल कॉलेज बनाए जाएंगे। प्रदेश में 27 हजार डॉक्टरों के पद हैं, जिनमें से 7 हजार पद भरे हैं। इस समस्या को लेकर सरकार गंभीर है।