--Advertisement--

सरेआम हत्या: जज की पत्नी और बेटे को उन्हीं के गार्ड ने मारी गोली, बचाने की बजाए लोग बनाते रहे वीडियो; आरोपी ने जज को कॉल कर कहा- तेरी पत्नी-बेटे को गोली मार दी...मेरी मां को बता देना

गुड़गांव में गोलीकांड : सेक्टर-51 की आर्केडिया मार्केट में शाम 4 बजे दिया वारदात को अंजाम

Dainik Bhaskar

Oct 14, 2018, 03:08 PM IST

गुड़गांव/हिसार. गुड़गांव में एडिशन सेशंस जज कृष्णकांत की पत्नी और बेटे को उन्हीं के सिक्योरिटी गार्ड ने शनिवार को बीच बाजार गोली मार दी। रविवार सुबह पत्नी रेणु की इलाज के दौरान मौत हो गई। बेटे ध्रुव की हालत नाजुक बनी हुई है। वारदात के पीछे दो वजहें सामने आ रही हैं। पुलिस के मुताबिक, आरोपी गनर महिपाल यादव (32) छुट्टी नहीं मिलने से तनाव में था। गनर का आरोप है कि ईसाई धर्म अपनाने पर जज की पत्नी उसे परेशान करती थी। महिपाल करीब दो साल से जज के साथ बतौर गनर तैनात था। वारदात के बाद उसने जज को तीन कॉल किए। इस दौरान कहा- 'मैंने तेरी पत्नी-बेटे को गोली मारी है। मेरी मां और लोगों को इसके बारे में बता देना।'

हिसार निवासी जज कृष्णकांत की 52 वर्षीय पत्नी रेणु और 30 साल का बेटा ध्रुव सिक्योरिटी गार्ड महिपाल के साथ खरीदारी करने बाजार गए थे। जैसे ही कार से मां-बेटा उतरे महिपाल ने सर्विस गन से दोनों पर गोली चला दी। ध्रुव को तीन गोली लगी। एक सिर में, एक कान के पास और एक गर्दन में। रेणु को सीने में एक गोली लगी थी। गोली मारने के बाद गनमैन ने लड़के को कार में डालने की कोशिश की। कामयाब नहीं हुआ तो दोनों को छोड़कर कार में फरार हो गया। इस दौरान गार्ड एक ही बात कह रहा था- यह शैतान है और वह शैतान की मां।


सिक्योरिटी गार्ड 8 महीने पहले हिंदू से ईसाई बना था, धार्मिक शक्तियों पर करता था बात
- महेंद्रगढ़ के नांगल चौधरी क्षेत्र के भुगांरका निवासी महिपाल यादव डेढ़ साल से जज कृष्णकांत के साथ बतौर सिक्योरिटी गार्ड तैनात था। गांववालों ने बताया, वह शुरू से ही क्रोधी स्वभाव का था। करीब आठ माह पहले उसने हिंदू धर्म छोड़ क्रिश्चियन धर्म अपना लिया। उसके बाद से वह क्रिश्चियन धर्म का गुणगान और उसकी शक्ति की चर्चा ज्यादा करता था।
- पुलिस के अनुसार, लॉकअप में वह चिल्लाते हुए कह रहा था कि धर्म परिवर्तन और धार्मिक गुणगान को लेकर जज की पत्नी ने उससे आपत्ति जताई थी और उसे ऐसा न करने को कहा था। यह बात उसे नागवार गुजरी थी।

दिन में नौकरी व रात में टैक्सी चलाता था आरोपी
ग्रामीण बताते हैं, महिपाल का पिता होशियार सिंह शराब पीने का आदी है। इसी कारण महिपाल की मां तृप्ति उसके जन्म से पहले ही कोसली अपने मायके चली गई। यहीं महिपाल की पढ़ाई हुई। वह थोड़ा क्रोधित स्वभाव का है। वह 2007-08 में हरियाणा पुलिस में भर्ती हुआ था। घर की माली हालत खराब होने के कारण महिपाल दिन में नौकरी के बाद रात को टैक्सी चलाता था। धर्म परिवर्तन के बारे में परिवार के लोग बताते हैं कि आजकल महिपाल चर्च में जाने लगा था।

गोलीबारी के बाद मौके पर जांच करती पुलिस। गोलीबारी के बाद मौके पर जांच करती पुलिस।
गोलीबारी के दौरान घटनस्थल पर लगी भीड़ गोलीबारी के दौरान घटनस्थल पर लगी भीड़
X
गोलीबारी के बाद मौके पर जांच करती पुलिस।गोलीबारी के बाद मौके पर जांच करती पुलिस।
गोलीबारी के दौरान घटनस्थल पर लगी भीड़गोलीबारी के दौरान घटनस्थल पर लगी भीड़
Bhaskar Whatsapp

Recommended