Hindi News »Haryana »Gurgaon» वर्ष 2016 में भर्ती किए ड्राइवर्स हटाने को लेकर हरियाणा रोडवेज कर्मचारियों ने की 1 घंटे हड़ताल

वर्ष 2016 में भर्ती किए ड्राइवर्स हटाने को लेकर हरियाणा रोडवेज कर्मचारियों ने की 1 घंटे हड़ताल

हरियाणा रोडवेज ज्वॉइंट एक्शन कमेटी के आह्वान पर शुक्रवार को हरियाणा रोडवेज के सभी कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया।...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 12, 2018, 02:00 AM IST

  • वर्ष 2016 में भर्ती किए ड्राइवर्स हटाने को लेकर हरियाणा रोडवेज कर्मचारियों ने की 1 घंटे हड़ताल
    +1और स्लाइड देखें
    हरियाणा रोडवेज ज्वॉइंट एक्शन कमेटी के आह्वान पर शुक्रवार को हरियाणा रोडवेज के सभी कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया। दोपहर 1.30 बजे से 2.30 बजे तक रखी गई पूर्व निर्धारित हड़ताल में सभी रोडवेज कर्मचारियों ने हिस्सा लिया। हरियाणा रोडवेज ज्वॉइंट एक्शन कमेटी के संजय गुलाटी, विनोद शर्मा, संदीप दलाल व जोगिन्द्र ढुल की अध्यक्षता में करीब एक घंटे तक विरोध किया गया। संजय गुलाटी व संदीप दलाल ने बताया कि रोडवेज के उच्चाधिकारी जानबूझकर कर्मचारियों के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। एक तरफ जहां परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार साल 2016 में भर्ती किए गए 365 कर्मचारियों को नहीं हटाने का आश्वासन दे रहे हैं, दूसरी ओर परिवहन विभाग के डीजी इन ड्राइवर्स को हटाने की तैयारी में हैं।

    शुक्रवार को सभी डिपो महाप्रबंधकों ने इन ड्राइवर्स को हटाने के लिए लेटर जारी करने के आदेश दिए थे, लेकिन कर्मचारियों के विरोध किए जाने के कारण ड्राइवर्स को हटाने के आदेशों को रोक दिया गया। उन्होंने चेतावनी दी है कि यदि सरकार ड्राइवर्स को हटाने के आदेश जारी किए तो पूरे प्रदेश में बसों का चक्का जाम किया जाएगा।

    गुड़गांव. सांकेतिक धरना देते रोडवेज कर्मी।

    स्वास्थ्य कर्मचारियों ने काम बंद कर पुन्हाना-होडल रोड पर आधे घंटे तक लगाया जाम

    पिनगवां| पुन्हाना स्वास्थ्य केंद्र में सीनियर मेडिकल ऑफिसर (एसएमओ) द्वारा स्वास्थ्य कर्मचारियों से शराब के नशे में गाली-गलौज करने और मारपीट के मामले ने शुक्रवार को तूल पकड़ लिया। पुन्हाना उपमंडल के सभी स्वास्थ्य कर्मचारियों ने काम बंदकर एसएमओ पर कार्रवाई की मांग की। ग्रामीणों ने भी कर्मचारियों का समर्थन दिया। इस दौरान विरोध कर रहे लोगों ने पुन्हाना-होडल रोड पर जाम लगाकर एसएमओ पर कार्रवाई करने की मांग की। करीब आधे घंटे तक जाम लगने से सड़क के दोनों ओर वाहनों की लंबी लाइन लग गई। सूचना पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों को समझाकर जाम खुलवाया। मौके पर पहुंचे डिप्टी सीएमओ डॉ. कृष्ण कुमार को विरोध कर रहे डॉक्टरों ने बताया कि एसएमओ अस्पताल पर ध्यान ना देकर कर्मचारियों को मानसिक रूप से परेशान करता है। डॉक्टर ही नहीं बल्कि मरीज भी उनके व्यवहार से परेशान हैं। मरीजों से भी गाली-गलौज करता है। डिप्टी सीएमओ ने डॉक्टरों को विश्वास दिलाया कि जल्द उनकी समस्या का समाधान किया जाएगा। मामले को लेकर डीसी गंभीर हैं। मामले की जांच के लिए तीन अधिकारियों की टीम गठित की गई है।

    कर्मियों ने कार्यालय पर जमाया कब्जा, अधिकारी रहे गायब

    कर्मियों ने शहर की साफ-सफाई रखी ठप

    भास्कर न्यूज | गुड़गांव

    अपनी मांगों को लेकर स्थानीय निकाय विभाग के कर्मियों ने तीसरे दिन शुक्रवार को भी हड़ताल जारी रखी। आखिरी दिन कर्मियों ने कड़े रुख का प्रदर्शन किया। कर्मियों ने शहर की साफ-सफाई के साथ ही निगम कार्यालयों के नियमित कार्य भी ठप कर दिए। पुराने कार्यालय पर कब्जा जमा लिया। इस कारण पूरे दिन अधिकारी गायब रहे। प्रदर्शन में नियमित कर्मियों के साथ ठेकाकर्मी भी शामिल हुए।

    हड़ताल के तीसरे दिन अन्य जिलों से भी स्थानीय निकाय विभाग के कर्मी गुड़गांव पहुंचे। सिविल अस्पताल के सामने स्थित निगम के पुराने कार्यालय में सामूहिक सम्मेलन हुआ। कार्यालय पहुंचते ही कर्मियों ने सबसे पहले अधिकारियों के कमरे में ताला लगा दिए। कर्मियों ने ज्वॉइंट कमिश्नर, एक्सईएन, जेडटीओ आदि के कमरे को खोलने नहीं दिया। यहां तक कि नागरिक सुविधा केंद्र का भी काम ठप कर दिया। हड़तालियों ने विभिन्न ब्रांचों के कंप्यूटर ऑपरेटर सहित ऑफिस में काम करने वाले अन्य कर्मियों को भी हड़ताल में शामिल कर लिया। सभी कर्मी पुराने कार्यालय परिसर में इकट्ठे हो गए। ज्वॉइंट कमिश्नर-1 के कार्यालय के बाहर सभी धरने पर बैठ गए। यहां पर शाम 5 बजे तक जमकर नारेबाजी की। कर्मचारी नेताओं ने सरकार पर वादा खिलाफी का आरोप लगाया। हरियाणा कर्मचारी संघ के कंवरलाल यादव ने चेतावनी दी कि सरकार इसी तरह से अपनी जिद पर अड़ी रही तो आगामी विधानसभा चुनाव में कर्मचारी सबक सिखाएंगे। कर्मचारी नेताओं ने कर्मचारियों का शोषण बंद करने, समान काम समान वेतन लागू कराने, ठेका प्रथा समाप्त करने, अनियमित कर्मियों को नियमित करने, कर्मियों को पंजाब के समान वेतन देने की मांग की। उधर, सेक्टर-34 स्थित निगम कार्यालय में भी कर्मचारी हड़ताल का असर दिखाई दिए। कार्यालय में कर्मचारियों की अनुपस्थिति के चलते नियमित कार्य प्रभावित रहा।

  • वर्ष 2016 में भर्ती किए ड्राइवर्स हटाने को लेकर हरियाणा रोडवेज कर्मचारियों ने की 1 घंटे हड़ताल
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gurgaon

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×