• Home
  • Haryana News
  • Gurgaon
  • अव्यवस्थाओं ने खोली प्रशासन की पोल, पर्याप्त कंप्यूटर नहीं होने से कइयों के नहीं बने आधार, राशन कार्ड और प्रमाण पत्र
--Advertisement--

अव्यवस्थाओं ने खोली प्रशासन की पोल, पर्याप्त कंप्यूटर नहीं होने से कइयों के नहीं बने आधार, राशन कार्ड और प्रमाण पत्र

जिला प्रशासन द्वारा आयोजित अधिकारों का मेला कार्यक्रम बुधवार को देवीलाल स्टेडियम में आयोजित किया गया। इस...

Danik Bhaskar | Jun 07, 2018, 02:00 AM IST
जिला प्रशासन द्वारा आयोजित अधिकारों का मेला कार्यक्रम बुधवार को देवीलाल स्टेडियम में आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में आधार कार्ड, राशन कार्ड, पेन कार्ड बनाने की सुविधा मौके पर देने के दावे किए गए थे, लेकिन मौके पर सुविधाएं देने के लिए व्यवस्था नहीं की गई, जिससे सैकड़ों लोग परेशान दिखाई दिए। हालात ये रहे कि मेले में जो लोग स्टॉल पर पहुंचे, उनमें से बहुत कम लोगों को सुविधाएं मिल पाई। वहीं भीड़ अधिक होने के कारण एक घंटे में ही खाना खत्म हो गया और लोग खाने के लिए एक-दूसरे को धक्का-मुक्की करते नजर आए। वहीं जिला प्रशासन की ओर से इस मेले के सफल आयोजन के दावे किए गए हैं। उमस भरी गर्मी होने के बावजूद बुधवार को गुड़गांव के ताऊ देवीलाल स्टेडियम में जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण व जिला प्रशासन द्वारा आयोजित प्रदेश के प्रथम ‘अधिकारों के मेले’ में बड़ी संख्या में लोग पहुंचे। मेले का शुभारंभ पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के न्यायाधीश एवं हरियाणा विधिक सेवाएं प्राधिकरण (हालसा) के कार्यकारी अध्यक्ष अजय कुमार मित्तल ने किया।

इस अवसर पर उनके साथ पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के न्यायाधीश एवं हालसा के सदस्य सचिव अनिल क्षेत्रपाल व स्थानीय न्यायिक अधिकारियों सहित पूरे प्रशासनिक अमले के अधिकारी उपस्थित थे। एके मित्तल ने कार्यक्रम का विधिवत शुभारंभ करते हुए हरियाणा विधिक सेवाएं प्राधिकरण द्वारा तैयार की गई पुस्तिका का विमोचन किया व ‘बीट प्लास्टिक पॉल्यूशन’ अभियान की शुरुआत की।

पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के न्यायाधीश एवं हालसा के कार्यकारी अध्यक्ष एके. मित्तल ने मेले का शुभारंभ किया, भीषण गर्मी में मौके पर सुविधाएं नहीं मिलने से लोगों को हुई परेशानी

‘बीट प्लास्टिक पॉल्यूशन’ अभियान की शुरुआत भी की

गुड़गांव. सेक्टर 38 स्थित ताउ देवीलाल स्टेडियम में आयोजित अधिकारों का मेला कार्यक्रम के दौरान लोगों को संबोधित करते मुख्य अतिथि जस्टिस एके. मित्तल।

मेले में रोजगार के लिए छह की बजाय चार कंपनियां पहुंची

हरियाणा प्रदेश में पहली बार आयोजित अधिकारों के मेले में बुधवार को रोजगार विभाग द्वारा रोजगार मेले का आयोजन भी किया गया, जिसमें कुल 355 लोगों ने पंजीकरण करवाया था। इनमे से 296 लोगों का मौके पर साक्षात्कार किया गया। रोजगार मेले में 126 लोगों को रोजगार मिला तथा 45 युवाओं को शॉर्टलिस्ट भी किया गया है। इसमें युवाओं को रोजगार प्रदान करने के लिए पैसा बाजार डॉट कॉम, डैनिब एंड पोलेक्स टूर एंड ट्रेवल, फूड डिलीवरी वाली जोमोटो कंपनी तथा जी4 सिक्योरिटी सहित चार कंपनियां आई थी, जबकि जिला प्रशासन ने पहले दिन छह कंपनियों का मेले में शामिल होने का दावा किया गया था।

मेले में बिजली के नए कनेक्शन के लिए आए चार आवेदन

मेले में आने वाले लोगों ने बुधवार को नवीन एवं नवीनीकरण ऊर्जा विभाग द्वारा लगाई गई स्टॉल पर खासी रुचि दिखाई और सोलर पैनल लगाए जाने को लेकर लोगों ने जानकारी हासिल की। इसी प्रकार बिजली निगम की स्टॉल पर कुल 21 आवेदन प्राप्त हुए जिसमें से 4 आवेदन बिजली के नए कनेक्शन के लिए, जबकि 17 आवेदन बिजली के बिल व अन्य समस्याओं से संबंधित थे।

गुड़गांव. सेक्टर 38 स्थित ताउ देवीलाल स्टेडियम में आयोजित अधिकारों का मेला में उपमंडल अधिकारी कांउटर पर आए हुए लोगों से बहसबाजी करता सिविल डिफेंस की जैकेट पहने हुआ व्यक्ति।

राशन कार्ड के लिए केवल डाक्यूमेंट्स ही लिए, मौके पर बना कर नहीं दिए गए

मेले में जिस तरह स्टॉल्स लगाकर आधार कार्ड, पेन कार्ड, राशन कार्ड सहित जाति प्रमाण पत्र, रिहायश प्रमाण पत्र बनवाने के लिए मौके पर ही व्यवस्था करने के दावे किए गए थे, लेकिन इनमें से कोई भी सुविधा सुचारु रूप से नहीं की गई। लोग आधार बनवाने के लिए बहस करते रहे, लेकिन आधार इनरोलमेंट कर्मचारी उन्हें कादीपुर व विकास सदन में आने के लिए कहते रहे। वहीं राशन कार्ड बनवाने के लिए केवल डाक्यूमेंट्स लिए जा रहे थे, लेकिन लोगों के मौके पर कोई सुविधा नहीं मिल पाई। मेले में सबसे अधिक भीड़ रेडक्रॉस सोसायटी, आधार कार्ड, राशन कार्ड व प्रमाण पत्र बनवाने वाले स्टाल्स पर लगी रहे, लेकिन पर्याप्त कंप्यूटर नहीं होने के कारण इनरोलमेंट कर्मचारी अपने स्थायी सेंटरों आने के लिए कहते रहे। इस दौरान कई लोगों से कर्मचारियों की बहस भी हुई।

दिव्यांगों के लिए नहीं दिखी कोई विशेष सुविधा

दिव्यांगों को ट्राइसाइकिल व व्हीलचेयर आदि देने के लिए बुलाया गया था। इस दौरान करीब 50 दिव्यांग जन भी मेले में पहुंचे, लेकिन इस मेले में विकलांगों के लिए विशेष सुविधा नहीं थी, ऐसे में मेला स्थल तक दिव्यांगों को अपने बलबूते पर आते-जाते देखा। वहीं कई दिव्यांग अपने प्रमाण पत्र बनवाने के लिए पहुंचे, लेकिन उन्हें कोई सुविधा नहीं दी गई। इसके अलावा ट्राइसाइकिल के लिए भी दिव्यांगों के परिजनों को काफी चक्कर काटने पड़े।

अधिकारों का मेला में 49 प्रापर्टी मालिकों ने जमा कराया टैक्स

गुड़गांव | ‘अधिकारों का मेला’ में स्टॉल पर प्रॉपर्टी टैक्स से संबंधित दावे-आपत्तियों को भी सुना गया। दावे-आपत्तियों के लिए जोनल टैक्सेशन ऑफिसर विजय कपूर, दिनेश कुमार मौके पर उपस्थित रहे। साथ ही मौके पर ही प्रॉपर्टी टैक्स जमा करवाने की सुविधा भी दी गई थी। मौके पर 49 प्रॉपर्टी मालिकों ने प्रॉपर्टी टैक्स जमा करवाया।

सेक्टर 38 स्थित ताउ देवीलाल स्टेडियम में आयोजित अधिकारों का मेला में आधार कार्ड बनवाने के लिए परेशान लोग बहसबाजी करते हुए।

सेक्टर 38 स्थित ताउ देवीलाल स्टेडियम में आयोजित अधिकारों का मेला में बिना व्हील चेयर जाता दिव्यांग।