• Hindi News
  • Haryana
  • Gurgaon
  • हल्की बारिश से भी 50 से ज्यादा बिजली के फीडर हुए ब्रेकडाउन, कई इंडस्ट्रीज में 20 घंटे तक सप्लाई ठप रही
--Advertisement--

हल्की बारिश से भी 50 से ज्यादा बिजली के फीडर हुए ब्रेकडाउन, कई इंडस्ट्रीज में 20 घंटे तक सप्लाई ठप रही

बुधवार रात हुई बारिश के बाद गुरुवार और शुक्रवार को कई फीडर ब्रेकडाउन रहे। सबसे बुरा हाल इंडस्ट्रियल फीडरों का है,...

Dainik Bhaskar

Jun 30, 2018, 02:00 AM IST
हल्की बारिश से भी 50 से ज्यादा बिजली के फीडर हुए ब्रेकडाउन, कई इंडस्ट्रीज में 20 घंटे तक सप्लाई ठप रही
बुधवार रात हुई बारिश के बाद गुरुवार और शुक्रवार को कई फीडर ब्रेकडाउन रहे। सबसे बुरा हाल इंडस्ट्रियल फीडरों का है, जो 20-20 घंटे से ब्रेकडाउन पड़े हुए है। इसके अलावा कई सोसायटियों में भी सप्लाई 12 से 15 घंटे तक बंद रही। बिजली निगम के अधिकारियों का कहना है कि बारिश के सर्किट फटने, ओपन सर्किट स्विच जैसी समस्याएं आ रही हैं। सभी जगह सर्किट बदलने का काम जारी है। गुरुवार को पूरे दिन जहां बिजली सप्लाई बाधित रही, वहीं शुक्रवार को भी 50 से अधिक फीडर ब्रेकडाउन रहने से उपभोक्ता परेशान रहे। कई जगह पेयजल किल्लत बढ़ गई है, वहीं कई इंडस्ट्रीज पिछले तीन दिन से पूरी तरह जनरेटर के सहारे चल रही हैं। सबसे बुरा हाल सोहना रोड स्थित इंद्रप्रस्थ फीडर का है, ये पिछले 21 घंटे से ठप है। बिस्सर गांव का फीडर 19 घंटे बंद रहा, जिससे ग्रामीणों को पेयजल समस्या का सामना करना पड़ा। नगर निगम क्षेत्र के बादशाहपुर कस्बा में भी 11 घंटे से बिजली सप्लाई बंद रही। मारुति फीडर पिछले 24 घंटे से बंद है, जिससे कंपनी में पूरी तरह जनरेटर के सहारे काम हो रहा है।

कई सोसायटियों में भी सप्लाई 12 से 15 घंटे तक प्रभावित रही

गुड़गांव. वजीराबाद में लाइट ठीक करता बिजली कर्मचारी।

गुड़गांव| बारिश के बाद अब डेंगू व मलेरिया के मरीजों की संख्या बढ़ सकती है, पर स्वास्थ्य विभाग ने अभी तैयारी शुरू नहीं की है। शुक्रवार को डीसी की अध्यक्षता में होने वाली स्वास्थ्य विभाग की बैठक रद्द कर दी गई है। इसमें हुडा व नगर निगम के अधिकारी भी शामिल होने थे। मानसून से पहले डेंगू के 13 संदिग्ध केस इस साल जनवरी से अब तक सामने आए हैं। इनमें से 10 संदिग्ध मरीज गुड़गांव से, एक रेवाड़ी, एक अलवर, एक मरीज दिल्ली से है। ताजा मामले में डेंगू के संदिग्ध मरीज की पहचान गुड़गांव के राजीव नगर निवासी नीलम के रूप में हुई है। मानसून डेंगू व मलेरिया के लिए प्रभावी माना जाता है। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग को पहले से तैयारी करनी होती है। लेकिन सीजन की पहली बारिश दो दिन से जारी है। बारिश के दिनों में जमा पानी के कारण डेंगू पनपने का खतरा है, लेकिन अधिकारी इसे लेकर अभी तक गंभीर नहीं हुए हैं। मलेरिया विभाग के जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ. रामप्रकाश ने बताया कि शुक्रवार को होने वाली मीटिंग मुख्यमंत्री की विजिट के कारण कैंसिल करनी पड़ी। मीटिंग 3 जुलाई को होना सुनिश्चित हुई है।

नागरिक अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में अब रहेंगे दो डॉक्टर

रोज 300 से अधिक मरीज आते हैं इलाज कराने

भास्कर न्यूज | गुड़गांव

नागरिक अस्पताल,सिविल लाइन के इमरजेंसी वार्ड में मरीजों को समय पर इलाज मिले इसके लिए नया रोस्टर तैयार किया गया है। इसमें फील्ड के डॉक्टर जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में रात और दिन ड्यूटी करते नजर आएंगे। सीएमओ डॉ. गुलशन अरोड़ा ने खुद नया रोस्टर तैयार कर उसे एक जुलाई से लागू करने को कहा। ऐसे में रोजाना इमरजेंसी में 300 से ज्यादा मरीज आते हैं, लेकिन अकेला डॉक्टर होने के कारण समय पर इलाज नहीं मिलने से मरीज के परिजन कई डॉक्टरों के साथ हाथापाई कर चुके हैं। सीएमओ ने बताया कि इमरजेंसी वार्ड में अब एक डॉक्टर की बजाय दो डॉक्टर ड्यूटी पर तैनात रहेगें। इससे मरीजों को समय पर बेहतर इलाज मिलेगा। फील्ड के डॉक्टर की ड्यूटी नए रोस्टर में लगाई गई है। छुट्टी वाले दिन हो या फिर दूसरे दिन इमरजेंसी वार्ड में दो डॉक्टर इलाज के लिए तैनात रहेंगे। इनकी ड्यूटी रात में भी रहेगी।

फील्ड के 36 डॉक्टर देंगे ड्यूटी

सीएमओ गुलशन अरोड़ा ने बताया कि फील्ड में स्वास्थ्य विभाग के 36 डॉक्टर हैं। इनकी नियुक्ति पीएचसी, सीएचसी और हरियाणा भवन में है। सभी डॉक्टर ड्यूटी करेंगे। रोस्टर ऐसे तैयार किया गया है कि सभी की एक या दो दिन ही पूरे महीने में ड्यूटी आएगी। इससे उनको भी परेशानी नहीं होगी और मरीजों को समय पर बेहतर इलाज मिलेगा।

X
हल्की बारिश से भी 50 से ज्यादा बिजली के फीडर हुए ब्रेकडाउन, कई इंडस्ट्रीज में 20 घंटे तक सप्लाई ठप रही
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..