• Home
  • Haryana News
  • Gurgaon
  • कनाडा भेजने के नाम पर युवक से Rs.1.67 लाख ठगे, नाइजीरियन अरेस्ट
--Advertisement--

कनाडा भेजने के नाम पर युवक से Rs.1.67 लाख ठगे, नाइजीरियन अरेस्ट

कनाडा भेजने के नाम पर धोखाधड़ी करने के मामले में गुड़गांव पुलिस ने बेंगलुरू से 24 वर्षीय नाइजीरियन को गिरफ्तार किया...

Danik Bhaskar | Jul 08, 2018, 02:00 AM IST
कनाडा भेजने के नाम पर धोखाधड़ी करने के मामले में गुड़गांव पुलिस ने बेंगलुरू से 24 वर्षीय नाइजीरियन को गिरफ्तार किया है। हालांकि, इसके गिरोह का अभी पता नहीं चला है। पुलिस ने शनिवार को आरोपी को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है।

पुलिस ने आरोपी को बेंगलुरू से पकड़ा

एसीपी राजीव कुमार ने बताया कि लक्ष्मण विहार निवासी प्रवीन पाल ने शिकायत 4 जून को सेक्टर-9ए थाना पुलिस को शिकायत दी थी कि कनाडा भेजने के नाम पर उससे धोखाधड़ी हुई है। उसे कनाडा में नौकरी दिलाने से लेकर वीजा दिलाने तक का भरोसा दिलाया गया था। इस एवज में आरोपी ने उससे 1.67 लाख रुपए लिए थे। इसके बाद उससे और रुपए मांगने पर उसे आशंका हुई। उसने कंपनी के संबंध में पता किया तो उसे ठगे जाने का पता चला। एसीपी ने बताया कि पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया था। मामले में पुलिस ने जांच के दौरान शिकायतकर्ता द्वारा दिए गए बैंक एकाउंट को फ्रीज करा दिया गया। इसी दौरान आरोपी ने बेंगलुरू पुलिस को केनरा बैंक के खाताधारक ने एकाउंट फ्रीज होने की शिकायत दी। इस पर बेंगलुरू पुलिस ने गुड़गांव पुलिस से संपर्क किया। गुड़गांव पुलिस ने बेंगलुरू पुलिस को पूरे मामले से अवगत कराया। बेंगलुरू पुलिस को बताया गया कि बैंक अकाउंट फ्रीज करने की शिकायत देने वाला गुड़गांव में ठगी का आरोपी है। उसके खिलाफ गुड़गांव में एफआईआर दर्ज की गई है। पूरे मामले से अवगत कराने के बाद गुड़गांव पुलिस बेंगलुरू पहुंची और आरोपी को गिरफ्तार किया। आरोपी की पहचान मूलरूप से नाइजीरिया निवासी याया याजिद अबोध के रूप में हुई। शनिवार को आरोपी को कोर्ट में पेशकर रिमांड पर लिया गया। मामले में गिरोह के शामिल होने की आशंका को लेकर पूछताछ की जा रही है। इस तरह से विदेश भेजने के नाम पर ठगी के और भी मामले हो सकते हैं। यह आरोपी से पूछताछ के बाद ही पता चल सकेगा।

गुड़गांव. धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार नाइजीरियन युवक।

30 जून को खत्म हो चुका था वीजा

सहायक पुलिस आयुक्त राजीव कुमार ने बताया कि आरोपी चार साल पहले बेंगलुरू की जैन यूनिवर्सिटी में फॉरेंसिक साइंस का कोर्स करने के लिए भारत आया था। वो इस विषय में फेल हो चुका है। उसकी वीजा अवधि 30 जून को खत्म हो चुकी है। आरोपी ने बेंगलुरू में ही केनरा बैंक में एकाउंट खुलवाया था, जिसमें वो लोगों को झांसे में लेकर रुपए ट्रांसफर कराता था।