गुड़गांव

  • Hindi News
  • Haryana News
  • Gurgaon
  • अंडरपास बिना लाइट रात में बन रहे अंधेरी गुफा, कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा
--Advertisement--

अंडरपास बिना लाइट रात में बन रहे अंधेरी गुफा, कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा

गुड़गांव में एक्सप्रेस-वे पर बने अंडरपास दुर्घटनाओं का कारण बनते जा रहे हैं। अंडरपास में रॉन्ग साइड चलने, ओवर...

Dainik Bhaskar

Jul 05, 2018, 02:00 AM IST
अंडरपास बिना लाइट रात में बन रहे अंधेरी गुफा, कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा
गुड़गांव में एक्सप्रेस-वे पर बने अंडरपास दुर्घटनाओं का कारण बनते जा रहे हैं। अंडरपास में रॉन्ग साइड चलने, ओवर स्पीडिंग और अंधेरा रहने से एक्सीडेंट का खतरा रहता है। मंगलवार रात दैनिक भास्कर की टीम ने रात 8 से 9.30 बजे तक राजीव चौक अंडरपास का जायजा लिया तो देखा कि डेढ़ घंटे तक अंडरपास में एक भी लाइट नहीं जली थी और गाड़ियां ओवर स्पीड होकर दौड़ती रही। ऐसे में यदि कोई गाड़ी खराब होने के चलते बीच रहा पर खड़ी हो जाए तो बड़ा हादसा हो सकता है। वहीं एनएचएआई के अधिकारियों का दावा है कि अंडरपास के लिए बिजली कनेक्शन लिए जा चुके हैं, लेकिन इसके बावजूद बिजली सप्लाई नहीं होने से समस्या आ रही है।

राजीव चौक व सिग्नेचर टावर चौक अंडरपास से रात में निकलना कई बार खतरनाक साबित हो सकता है। बेशक यहां बिजली के कनेक्शन हो चुके हैं, लेकिन बिजली निगम व एनएचएआई अधिकारियों की लापरवाही का खामियाजा आम लोगों को उठाना पड़ सकता है। राजीव चौक में सोहना रोड से पुराने शहर की ओर कवर्ड एरिया लगभग 50 मीटर है, वहीं मेदांता से सेक्टर-15 की ओर जाने वाले अंडरपास का कवर्ड एरिया लगभग 250 मीटर है। यहां अंधेरा होने के बाद मोड़ पर ओवर स्पीड गाड़ियां टकरा सकती हैं, इसके अलावा यदि कोई गाड़ी अंडरपास के नीचे खराब हो जाती है तो कभी भी गंभीर हादसा हो सकता है। वहीं सिग्नेचर टॉवर चौक के अंडरपास में भी कवर्ड एरिया करीब 100 मीटर है, जिसमें लाइट नहीं होने से अंधेरा रहता है। नए बने इस अंडरपास में चालक 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गाड़ियां दौड़ाते हैं, जिससे कभी भी गंभीर दुर्घटना हो सकती है।

गुड़गांव. रात साढ़े 9 बजे राजीव चौक अंडरपास में छाया अंधेरा।

एनएचएआई अफसर करें इमरजेंसी लाइट की व्यवस्था


दुर्घटना होने का ये भी कारण : सिग्नेचर चौक अंडरपास में वाहनों के गुजरने की स्पीड 30 किलोमीटर प्रति घंटा रखी गई है, इसके बावजूद चालक अंडरपास से वाहन 80 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से गुजारते हैं। अंडरपास में कर्व भी आता है, जिससे कई बार तेज स्पीड में कार के मुड़ते समय हादसा हो सकता है।

गुड़गांव. मेदांता अंडरपास में हादसे के बाद पलटी कार।

शहर में बनाए गए अंडरपास में पहले भी हो चुके हैं हादसे




गावड़ कंपनी की देखेरेख में अंडरपास


गुड़गांव. राजीव चौक अंडरपास में क्षतिग्रस्त कार।

गार्ड का होना जरूरी, जो सूचना दे सके


अंडरपास बिना लाइट रात में बन रहे अंधेरी गुफा, कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा
अंडरपास बिना लाइट रात में बन रहे अंधेरी गुफा, कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा
X
अंडरपास बिना लाइट रात में बन रहे अंधेरी गुफा, कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा
अंडरपास बिना लाइट रात में बन रहे अंधेरी गुफा, कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा
अंडरपास बिना लाइट रात में बन रहे अंधेरी गुफा, कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा
Click to listen..