Hindi News »Haryana »Gurgaon» अंडरपास बिना लाइट रात में बन रहे अंधेरी गुफा, कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा

अंडरपास बिना लाइट रात में बन रहे अंधेरी गुफा, कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा

गुड़गांव में एक्सप्रेस-वे पर बने अंडरपास दुर्घटनाओं का कारण बनते जा रहे हैं। अंडरपास में रॉन्ग साइड चलने, ओवर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 05, 2018, 02:00 AM IST

  • अंडरपास बिना लाइट रात में बन रहे अंधेरी गुफा, कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा
    +2और स्लाइड देखें
    गुड़गांव में एक्सप्रेस-वे पर बने अंडरपास दुर्घटनाओं का कारण बनते जा रहे हैं। अंडरपास में रॉन्ग साइड चलने, ओवर स्पीडिंग और अंधेरा रहने से एक्सीडेंट का खतरा रहता है। मंगलवार रात दैनिक भास्कर की टीम ने रात 8 से 9.30 बजे तक राजीव चौक अंडरपास का जायजा लिया तो देखा कि डेढ़ घंटे तक अंडरपास में एक भी लाइट नहीं जली थी और गाड़ियां ओवर स्पीड होकर दौड़ती रही। ऐसे में यदि कोई गाड़ी खराब होने के चलते बीच रहा पर खड़ी हो जाए तो बड़ा हादसा हो सकता है। वहीं एनएचएआई के अधिकारियों का दावा है कि अंडरपास के लिए बिजली कनेक्शन लिए जा चुके हैं, लेकिन इसके बावजूद बिजली सप्लाई नहीं होने से समस्या आ रही है।

    राजीव चौक व सिग्नेचर टावर चौक अंडरपास से रात में निकलना कई बार खतरनाक साबित हो सकता है। बेशक यहां बिजली के कनेक्शन हो चुके हैं, लेकिन बिजली निगम व एनएचएआई अधिकारियों की लापरवाही का खामियाजा आम लोगों को उठाना पड़ सकता है। राजीव चौक में सोहना रोड से पुराने शहर की ओर कवर्ड एरिया लगभग 50 मीटर है, वहीं मेदांता से सेक्टर-15 की ओर जाने वाले अंडरपास का कवर्ड एरिया लगभग 250 मीटर है। यहां अंधेरा होने के बाद मोड़ पर ओवर स्पीड गाड़ियां टकरा सकती हैं, इसके अलावा यदि कोई गाड़ी अंडरपास के नीचे खराब हो जाती है तो कभी भी गंभीर हादसा हो सकता है। वहीं सिग्नेचर टॉवर चौक के अंडरपास में भी कवर्ड एरिया करीब 100 मीटर है, जिसमें लाइट नहीं होने से अंधेरा रहता है। नए बने इस अंडरपास में चालक 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गाड़ियां दौड़ाते हैं, जिससे कभी भी गंभीर दुर्घटना हो सकती है।

    गुड़गांव. रात साढ़े 9 बजे राजीव चौक अंडरपास में छाया अंधेरा।

    एनएचएआई अफसर करें इमरजेंसी लाइट की व्यवस्था

    राजीव चौक व सिग्नेचर टॉवर अंडरपास के लिए बिजली कनेक्शन लिए जा चुके हैं। जबकि हीरो होंडा चौक अंडरपास के लिए प्रक्रिया चल रही है। मंगलवार रात फीडर बंद रहा होगा, लेकिन इमरजेंसी लाइट की व्यवस्था एनएचएआई अधिकारियों को करनी चाहिए। -केसी अग्रवाल, एसई, सर्कल-2, डीएचबीवीएन

    दुर्घटना होने का ये भी कारण :सिग्नेचर चौक अंडरपास में वाहनों के गुजरने की स्पीड 30 किलोमीटर प्रति घंटा रखी गई है, इसके बावजूद चालक अंडरपास से वाहन 80 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से गुजारते हैं। अंडरपास में कर्व भी आता है, जिससे कई बार तेज स्पीड में कार के मुड़ते समय हादसा हो सकता है।

    गुड़गांव. मेदांता अंडरपास में हादसे के बाद पलटी कार।

    शहर में बनाए गए अंडरपास में पहले भी हो चुके हैं हादसे

    24 जून 2018 को देर रात राजीव चौक अंडरपास से गुजरते हुए एसयूवी कार का टायर फटने से कार डिवाइडर से जा टकराई। हादसे में कार चालक विवेक यादव की मौत हो गई थी, जबकि उसका साथी राहुल गंभीर रूप से घायल हो गया था।

    17 मई 2018 को राजीव चौक अंडरपास में दोपहर को कार अंडरपास में अंधेरा होने के कारण डिवाइडर से टकराकर पलट गई थी। कार को महिला चला रही थी, जिसमें वो घायल हो गई थी। महिला अपने बच्चे को स्कूल से लेने जा रही थी।

    13 मार्च 2018 को मेदांता अस्पताल के पास स्थित अंडरपास में देर रात अंधेरा होने से कार ने बाइक सवारों को टक्कर मार दी थी। हादसे में बाइक पर पीछे बैठे दार्जिलिंग निवासी चंद्र बहादुर थापा की मौत हो गई थी और बाइक चालक शिव घायल हुआ था।

    गावड़ कंपनी की देखेरेख में अंडरपास

    एनएचएआई के कंट्रोल रूम में जब कॉल की गई तो कर्मचारी विजय ने बताया कि अभी गावड़ कंस्ट्रक्शन कंपनी ही राजीव चौक व सिग्नेचर टॉवर चौक के अंडरपास की लाइटिंग देख रही है। वैसे वे भी इस सूचना को अधिकारियों को भेज रहे हैं।

    गुड़गांव. राजीव चौक अंडरपास में क्षतिग्रस्त कार।

    गार्ड का होना जरूरी, जो सूचना दे सके

    एनएचएआई के अधिकारियों की ओर से केवल कंट्रोल रूम बनाया गया है। अंडरपास के आसपास गार्ड लगाया चाहिए, जो लाइट नहीं होने की सूरत में सूचना देे। अंडरपास में रात के समय दुर्घटना हो सकती है। ये गंभीर मामला है। -हीरा सिंह, एसीपी, ट्रैफिक

  • अंडरपास बिना लाइट रात में बन रहे अंधेरी गुफा, कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा
    +2और स्लाइड देखें
  • अंडरपास बिना लाइट रात में बन रहे अंधेरी गुफा, कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gurgaon

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×