• Hindi News
  • Haryana
  • Gurgaon
  • एक इंटरसेप्टर के साथ पुलिस की 2 टीमें कर रही काम, रोजाना हो रहे 60 चालान
--Advertisement--

एक इंटरसेप्टर के साथ पुलिस की 2 टीमें कर रही काम, रोजाना हो रहे 60 चालान

ट्रैफिक पुलिस विभाग ने ओवर स्पीड वाहनों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। शहर की प्रमुख सड़कों पर इंटरसेप्टर के जरिए...

Dainik Bhaskar

Apr 25, 2018, 02:05 AM IST
एक इंटरसेप्टर के साथ पुलिस की 2 टीमें कर रही काम, रोजाना हो रहे 60 चालान
ट्रैफिक पुलिस विभाग ने ओवर स्पीड वाहनों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। शहर की प्रमुख सड़कों पर इंटरसेप्टर के जरिए ओवर स्पीड वाहनों का चालान किया जा रहा है। ट्रैफिक पुलिस रोजाना 60 से अधिक वाहनों का चालान कर रही है। इसके लिए दो टीमों को लगाया गया है। दरअसल पुलिस विभाग के पास मौजूद इंटरसेप्टर की रेंज मात्र 100 मीटर ही है। ऐसे में 100 मीटर में गाड़ी की स्पीड को पकड़ना और चालान काटना मुश्किल हो रहा था। जिसका तोड़ निकालते हुए पुलिस ने दो टीमें इंटरसेप्टर के साथ लगाई हैं। एक टीम पहले वाहन की गति को इंटरसेप्टर से रीड करती है। फिर आगे लगी टीम को इसकी सूचना भेजती है। जिस पर दूसरी टीम वाहन को रोककर चालान काटती है।

प्रदेश सरकार सड़क हादसों को कम करने के लिए प्रयास कर रही है। जिसके लिए जागरूकता अभियान, सड़क इंजीनियरिंग और ट्रैफिक चालान पर ध्यान दिया जा रहा है। दूसरी अाेर इसके लिए हरियाणा विजन जीरो चलाया जा रहा है। इसके बाद भी गुड़गांव में सड़क हादसों में इस साल कमी नहीं अाई थी। जिसमें हर माह होने वाली सड़क सुरक्षा मीटिंग में ओवर स्पीड वाहनों के चालान करने पर जोर दिया गया था लेकिन, तकनीकी कारणों से पिछले तीन माह से ट्रैफिक पुलिस ओवर स्पीड पर चालान नहीं कर पा रही थी। इससे सड़क सुरक्षा की बैठकों में पुलिस विभाग की किरकिरी हो रही थी। डीसीपी ट्रैफिक दीपक गहलावत ने बताया कि अब ओवर स्पीड वाहनों का चालान शुरू कर दिया गया है।

ऐसे काम में आ रही है

इंटरसेप्टर गाड़ियां

गुड़गांव पुलिस के पास पांच इंटरसेप्टर है। जिसमें चार इंटरसेप्टर एक निजी कंपनी ने पुलिस को दिया हुआ है। इन इंटरसेप्टर पर लगे कैमरे की क्षमता 100 मीटर तक है। ऐसे में इंटरसेप्टर से 100 मीटर के वाहनों की गति का आंकलन कर चालान करना संभव नहीं हो पाता था। ऐसे में पुलिस ने एक इंटरसेप्टर वाहन पर दो टीमें तैनात किया। जिसमें एक टीम इंटरसेप्टर से वाहन की गति पर नजर रखती है। यदि वाहन की गति तय सीमा से अधिक है तो इसकी जानकारी आगे की टीम को दे दी जाती है। जिस पर दूसरी टीम वाहन चालक को रोक कर चालान कर देती है। इंटरसेप्टर पर तैनात टीम वाहन की तेज गति की फिल्म दूसरी टीम को वाट्स एप पर भेज देती है।

इंटरसेप्टर की रेंज 250 मीटर होनी चाहिए

तेज गति से वाहनों के चालान करने के लिए इंटरसेप्टर की क्षमता 200 से 250 मीटर होनी चाहिए। पुलिस के पास इस रेंज का एक इंटरसेप्टर है,जो खराब है। चार नए की रेंज कम है। ऐसे में पुलिस ने चारों इंटरसेप्टर को फिलहाल ‘जुगाड़’ से काम रही है। नए इंटरसेप्टर में फोटो व फिल्म की गुणवत्ता बेहतर है।

इस साल ओवर स्पीड से हुए हादसे




3 माह बाद पुलिस ने शुरू किया अाेवर स्पीड पर चालान

यहां पर ओवर स्पीड पर चालान होना जरुरी है

हरियाणा विजन जीरो के तहत गोल्फ कोर्स रोड, एनएच 8 पर नरसिंगपुर, खाड़सा, एनएसजी मानेसर,पचगांव,घाटा टी प्वाइंट, सुल्तानपुर गांव व सोहना पलवल मार्ग प्रमुख है। पुलिस विभाग के अनुसार पिछले साल सड़क हादसों के कुल 1214 केस दर्ज हुए थे। जिसमें 481 की मौत जबकि 1189 लोग घायल हुए थे। इसमें 338 केस ओवर स्पीड की वजह से हुए थे। जिसमें 154 लोगों की मौत हो गई थी। 84 गंभीर रूप से घायल व 330 को मामूली चोटें आई थी। इस साल भी तीन माह में करीब 115 लोगों की सड़क हादसे में जान जा चुकी है। इसमें भी अाेवर स्पीड प्रमुख कारण है।

30 अप्रैल तक चलेगा सड़क सुरक्षा सप्ताह

एसीपी ट्रैफिक हीरा सिंह ने बताया कि 23 से 30 अप्रैल तक सड़क सुरक्षा वीक मनाया जा रहा है। इस दौरान पुलिस ओवर स्पीड, ड्रिंक एंड ड्राइव, बिना सीट बेल्ट/हेलमेट के वाहन चालाने पर, डीएल व आरसी की जांच, प्रदूषण प्रमाणपत्र, वाहन चलाते वक्त मोबाइल के प्रयोग करने, लेन ड्राइविंग, डेंजर ड्राइविंग, रांग साइड ड्राइविंग, अंडर एज ड्राइविंग और पैदल यात्रियों के लिए जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। पुलिस की टीमें वाहनों का चालान कर रही है और लोगों को ट्रैफिक नियमों के प्रति सचेत कर रही है।

चकमा खा रहे हैं वाहन

चालक

गुड़गांव पुलिस की ओर से गोल्फ कोर्ट रोड पर ओवर स्पीड का चालान किया जा रहा है। यह रोड सिग्नल फ्री है। जिस पर वाहन चालक फर्राटे भरते जाते है। पुलिस की ओर से एक जगह इंटरसेप्टर वाहन खड़ा होता है। जिसे देखकर वाहन चालक समझ नहीं पाते और उनका चालान कट जाता है। क्योंकि पुलिस की पूरी टीम इंटरसेप्टर से 250 मीटर दूर रहती है। यदि इंटरसेप्टर ठीक रहे तो पूरा दल एक साथ रहता है व लोगों को समझ में आ जाता है कि आगे पुलिस चालान कर रही है और सतर्क हो जाते हैं।



3000 रोजाना चालान हो रहे हैं

पुलिस की ओर से रोजाना करीब 3 हजार वाहनों का चालान किया जा रहा है। सोमवार को करीब 3239 वाहनों का चालान किया गया। जिसमें बिना हेलमेट के 1297,ओवर स्पीड के 53 व बिना सीट बेल्ट के 963 वाहन चालकों को पकड़ा गया था।


एक इंटरसेप्टर के साथ पुलिस की 2 टीमें कर रही काम, रोजाना हो रहे 60 चालान
X
एक इंटरसेप्टर के साथ पुलिस की 2 टीमें कर रही काम, रोजाना हो रहे 60 चालान
एक इंटरसेप्टर के साथ पुलिस की 2 टीमें कर रही काम, रोजाना हो रहे 60 चालान
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..