Hindi News »Haryana »Gurgaon» 115 दिन में चोरी के 2200 मामले, 196 घरों के ताले टूटे, टू-व्हीलर के केस डेढ़ गुना बढ़े

115 दिन में चोरी के 2200 मामले, 196 घरों के ताले टूटे, टू-व्हीलर के केस डेढ़ गुना बढ़े

शहर में इस साल 25 अप्रैल तक (115 दिनों में) चोरी के 2200 मामले दर्ज हुए हैं। इनमें घर से चोरी, वाहन चोरी और सामान्य चोरी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 27, 2018, 02:05 AM IST

  • 115 दिन में चोरी के 2200 मामले, 196 घरों के ताले टूटे, टू-व्हीलर के केस डेढ़ गुना बढ़े
    +1और स्लाइड देखें
    शहर में इस साल 25 अप्रैल तक (115 दिनों में) चोरी के 2200 मामले दर्ज हुए हैं। इनमें घर से चोरी, वाहन चोरी और सामान्य चोरी शामिल हैं। ऐसे में चोरी के डर से लोग घर खाली छोड़ने से डरते हैं। कई बार तो दिनदहाड़े बदमाश चोरी की वारदात को अंजाम देते हैं। ऐसे में कामकाजी लोगों को परेशानी होती है। पुलिस के अनुसार इस साल 25 अप्रैल तक विभिन्न प्रकार के चोरी के करीब 2200 मामले आए हैं। यानि करीब 19 चोरियां रोजाना हुई। जिसमें सिंपल चोरी के करीब 505 केस, घर से चोरी के 196, टू-व्हीलर के 1217 व थ्री और फोर व्हीलर 278 मामले आ चुके हैं। चोरी के पीछे शहर के युवाओं में नशे की लत का बढ़ना है। ऐसे में युवा स्नेचिंग और चोरी की वारदात को अंजाम देते हैं। दूसरी ओर दूसरे जिले के बदमाश वारदातों को अंजाम देते हैं।

    रैकी के बाद सुनसान घरों को बनाते हैं निशाना

    न्यू गुड़गांव में अधिकतर दंपती कामकाजी हैं। बच्चों के स्कूल जाने के बाद खुद दफ्तर निकल जाते हैं। ऐसे में बदमाश सुनसान घर पाकर अपने चोरी के मंसूबे पूरे कर लेते हैं। हाल में एक एयरहोस्टेस के घर से चोर लाखों रुपए के गहने और कैश ले गए थे। सेक्टर 53 एरिया में एक दंपती काम पर गया था, लौटा तो घर का ताला टूटा मिला। सनसिटी आरडब्ल्यूए सचिव वीएमके सिंह ने बताया कि गुड़गांव में रात के अलावा दिन में भी घरों में चोरी की शिकायतें आती रहती हैं। कई बार तो फ्लैट के ताले टूट जाते हैं। बदमाश दिन-रात किसी भी वक्त वारदात को अंजाम देने में पीछे नहीं रहते हैं। केंद्रीय विहार सोसाइटी निवासी संजीव श्रीवास्तव ने बताया कि शहर में काफी कामकाजी लोग रहते हैं। बदमाश रैकी करने के बाद घरों को निशाना बनाते हैं।

    इन जगहों पर अधिक होती है वारदात

    पालम विहार का एरिया दिल्ली से लगा है। ऐसे में दिल्ली के बदमाश वारदात को अंजाम देकर फरार हो जाते हैं। सेक्टर 55, 56 एरिया में भी घरों में चोरी की अधिक वारदात सामने आती हैं। इस एरिया में मेवाती गैंग घरों को निशाना बनता है।इसके अलावा सेक्टर 10,डीएलएफ फेज एक का एरिया,सुशांत लोक प्रमुख है।

    शहर में इस तरह की वारदात को अंजाम दे रहे हैं चोर

    गुड़गांव. चोरों ने चोरी किए कार के चारों पहिए।

    कार के टायर चोरी:न्यू गुड़गांव में एसयूवी व कारों के टायर चोरी होने के मामले सामने आए हैं। आरोपी रात में कार के चारों टायर खोल ले गए। जब पीड़ित ने सुबह देखा तो कार ईंटों के सहारे खड़ी थी। ऐसी घटनाएं सेक्टर 45, सेक्टर 45, 46, साउथ सिटी एरिया में होती रहती हैं।

    कार के शीशे तोड़कर करते हैं चोरी

    शहर में कार के शीशे तोड़कर सामान चोरी करने वाला गैंग शामिल है। गैंग के बदमाश सुनसान जगह पर खड़ी कार का शीशा तोड़कर बैग व लैपटॉप गायब कर देते हैं। इस प्रकार की वारदात अधिकांश डीएलएफ एरिया में होती हैं। आरोपी दिन में 5-6 कारों को निशाना बनाते हैं।

    रोज 10 वाहन होते हैं चोरी

    शहर में औसतन दस से अधिक वाहन रोज चोरी होते हैं। पुलिस वाहन चोरों पर अंकुश लगाने में फेल हो रही है। इस साल 25 अप्रैल तक बदमाश 1228 टू व्हीलर, 278 थ्री व फोर व्हीलर चोरी कर चुके हैं। टू व्हीलर पिछले साल इस दौरान से डेढ़ फीसदी अधिक हैं।

    गुड़गांव. वाहन चाेरी के आरोप में पकड़े गए युवक पुलिस हिरासत में। (फाइल फोटो)

  • 115 दिन में चोरी के 2200 मामले, 196 घरों के ताले टूटे, टू-व्हीलर के केस डेढ़ गुना बढ़े
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gurgaon

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×