• Hindi News
  • Haryana
  • Gurgaon
  • कर्मचारियों की हड़ताल पर हो रही राजनीति, ‘आप’ के बाद अब इनेलो ने भी किया समर्थन, सड़क पर उतरे अधिकारी
--Advertisement--

कर्मचारियों की हड़ताल पर हो रही राजनीति, ‘आप’ के बाद अब इनेलो ने भी किया समर्थन, सड़क पर उतरे अधिकारी

नगर निगम कर्मचारियों की बीते 9 मई से चल रही हड़ताल को लेकर राजनीति शुरू हो गई है। एक ओर जहां प्रदेश सरकार कर्मियों से...

Dainik Bhaskar

May 19, 2018, 02:05 AM IST
कर्मचारियों की हड़ताल पर हो रही राजनीति, ‘आप’ के बाद अब इनेलो ने भी किया समर्थन, सड़क पर उतरे अधिकारी
नगर निगम कर्मचारियों की बीते 9 मई से चल रही हड़ताल को लेकर राजनीति शुरू हो गई है। एक ओर जहां प्रदेश सरकार कर्मियों से बातचीत नहीं करने पर अड़ी है, वहीं विपक्ष खुला समर्थन दे रहा है। आम आदमी पार्टी के बाद अब इनेलो ने भी हड़ताल को समर्थन देने की घोषणा की। इससे पहले कांग्रेस सरकार में खेल मंत्री रहे सुखबीर कटारिया भी हड़तालियों का समर्थन किया। मामले में सभी कर्मचारियों की मांग को जायज ठहराते हुए सरकार की कर्मचारी विरोधी नीति की निंदा कर रहे हैं। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए अधिकारी सड़कों पर उतर आए हैं, फिर भी सुधार नहीं हो पा रहा है। सरकार की तरफ से सकारात्मक संकेत नहीं मिलने से आहत कर्मियों ने हड़ताल को अनिश्चितकालीन कर दिया है। कर्मचारी भी सरकार के आगे झुकने को तैयार नहीं हैं। खास बात ये है कि इस बार कर्मचारी एकजुट हैं, किसी भी प्रलोभन के आगे टूट नहीं। समय बढ़ने के बावजूद हड़तालियों की संख्या कम नहीं हो रही। शुक्रवार को हड़ताल का 10वां दिन था। पहले की तरह ही बड़ी संख्या में कर्मचारी धरने पर बैठे रहे। निगम परिसर कर्मचारियों से भरा था।

इनेलो लिखेगी सरकार को पत्र

कर्मचारियों के समर्थन में इनेलो के वरिष्ठ नेता व पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचंद गहलोत धरने में शामिल हुए। वे भी हड़तालियों के साथ बैठे। गहलोत ने कहा कि पहले भी इनेलो ने सफाई कर्मचारियों की मांगों को विधानसभा में उठाया था और अब दोबारा मांगों को पूरा कराने के लिए सरकार को पत्र लिखेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार की गलत नीतियों के कारण अध्यापक, वन कर्मी, स्वास्थ्य कर्मी सरपंच और किसान सहित सभी कर्मचारी वर्ग सड़क पर हैं। सत्ता पाने के बाद भाजपा ने वायदा खिलाफी की। इस अवसर पर बसपा प्रदेश प्रभारी नेतराम, शमशेर कटारिया, शैलेश खटाणा, सीटू के सतबीर सिंह, रामनिवास यादव, मोहन लाल वर्मा, रामसिंह मौजूद रहे। कर्मचारियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल से पूरे शहर में सफाई व्यवस्था चरमरा गई है। शहर में दस दिनों से ना तो झाड़ू लग रहा है और ना ही कूड़ा उठाया जा रहा है। सबसे बुरा हाल सदर बाजार क्षेत्र का है। यहां गलियों में कूड़े के ढेर लगे हैं। महामारी फैलने की स्थिति पैदा हो गई है। कॉलोनियों में हर तरफ गंदगी है। सड़कों के किनारे कूड़े के ढेर लगे हैं।

कर्मचारियों के साथ ठीक नहीं कर रही सरकार: तंवर

गुड़गांव
| कांग्रेस ने भी हड़ताली कर्मियों का समर्थन करने की घोषणा की है। शुक्रवार को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अशोक तंवर ने धरने पर बैठे कर्मचारियों को अपना पूर्ण समर्थन देते हुए कहा कि कर्मचारियों के साथ सरकार ठीक नहीं कर रही है। कर्मचारी व मजदूर, किसान वर्ग खासा परेशान है। भाजपा ने सिर्फ अपने जुमलेबाजियों के चलते लोगों को गुमराह कर वोट हासिल किए हैं। सरकार बनाने के बाद सभी वादे भाजपा भुला देती है। सफाई कर्मचारियों की जायज मांगों पर भाजपा के मंत्रियों व मुख्यमंत्री जिस तरह से पेश आ रहे हैं यह शर्मनाक है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार बनते ही कर्मचारियों की सभी समस्याएं दूर कर दी जाएंगी। वहीं कर्नाटक मुद्दे पर उन्होंने कहा कि भाजपा शुरू से खरीद-फरोख्त की राजनीति करती है। कर्नाटक में भी विधायकों को खरीदना चाहती है, लेकिन इस बार उसके मनसूबे कामयाब नहीं होंगे।

गुड़गांव. निगम कार्यालय के बाहर हड़ताल पर बैठे सफाईकर्मी।

निगम अफसरों ने चलाया है अभियान

कर्मचारियों की इस हड़ताल से निगम अधिकारियों के हाथ-पांव फूलने लगे हैं। गंदगी से महामारी की आशंका को देखते हुए निगम अधिकारियों के 80 घंटे का राउंड ओ क्लॉक अभियान चला रखा है। इसमें सभी अधिकारियों की विशेष ड्यूटी लगाई गई है। इसमें निगम के एडिशनल म्यूनिसिपल कमिश्नर के साथ चारों ज्वाइंट कमिश्नर लगे हैं। यहां तक कि इंजीनियर्स को भी कूड़ा उठाने के काम में लगाया गया है। इसके बावजूद बात नहीं बन रही है। दरअसल, कर्मचारियों के अभाव में कूड़ा उठाने का काम नहीं हो रहा है। कूड़ा उठाने के लिए कर्मचारी नहीं मिल रहे हैं। निजी एजेंसियों द्वारा प्रलोभन दिए जाने के बावजूद कर्मचारी काम पर नहीं लौट रहे हैं।

कचरा जलाने वालों के निगम ने किए 33 चालान

गुड़गांव
| कचरा जलाने वालों और सार्वजनिक स्थलों पर मलबा व सीवरेज वेस्ट डालने वालों के खिलाफ नगर निगम ने गुरुवार-शुक्रवार की रात को विशेष अभियान चलाया। निगम की टीमों ने गुरुवार की रात 10 बजे से लेकर शुक्रवार सुबह 6 बजे तक कुल 32 चालान किए। इसके साथ ही पेयजल की बर्बादी करने वाले एक व्यक्ति का भी चालान किया गया। टीमों ने कचरा जलाने वालों के 13 चालान, सार्वजनिक स्थानों पर मलबा डालने वालों के 16 चालान तथा खाली भूमि, नालों एवं सीवरों में सीवरेज वेस्ट डालने वालों के 3 चालान किए गए। टीम ने पेयजल की बर्बादी करने वाले एक व्यक्ति का भी चालान किया। अभियान के लिए जोन वाइज 10-10 टीमों का गठन करके उन्हें 8-8 घंटे काम करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

कमिश्नर ने शहरवासियों को किया आश्वस्त


इधर, ललकार रैली में मजदूरों ने प्रदेश सरकार को दिखाई अपनी ताकत

भास्कर न्यूज| गुड़गांव

एक ओर जहां पूरे प्रदेश में नगर निगम और नगरपालिका कर्मचारी हड़ताल पर हैं, वहीं शुक्रवार को गोशाला ग्राउंड में ललकार रैली करके मजदूरों ने सरकार को अपनी ताकत दिखाई। इस रैली में गुड़गांव, बावल, धारूहेड़ा, बिनोला के लगभग 15 हजार कर्मी शामिल हुए। इसमें एटक, इंटक, एचएमएस, सीटू, एआईयूटीयूसी, स्वत्रंत यूनियन, मारुति संघ, नगर पालिका कर्मचारी, आंगनबाड़ी, भवन निर्माण मजदूर, हरियाणा कर्मचारी महासंघ, सर्व कर्मचारी संघ, रोडवेज यूनियन, आशा वर्कर यूनियन ने एकजुटता दिखाई। जनसभा में केंद्रीय नेताओं ने चेतावनी दी कि सरकार मजदूरों पर हमले बंद करें, तालाबंदी, छंटनी, पर तुरंत रोक लगाएं, अन्यथा प्रदेश में स्थिति बिगड़ जाएगी। अगर मजदूर रोड पर उतर गए तो प्रदेश में गंभीर समस्या पैदा हो जाएगी। दोपहर बाद लगभग 3 बजे हुई जनसभा की अध्यक्षता ट्रेड यूनियन काउंसिल ने की। मंच संचालन अनिल पवार ने किया। सभा को एटक की राष्ट्रीय महासचिव अमरजोत कौर, हिंद मजदूर सभा के राष्ट्रीय महासचिव हरभजन सिंह सिंधू, इंटक से राष्ट्रीय नेता अशोक चौहान, सीटू से राष्ट्रीय सचिन सिंधू, एआई यूटीयूसी से राष्ट्रीय नेता सत्यवान ने संबोधित किया। एटक के प्रदेश अध्यक्ष बलदेव सिंह घनघस, सीटू के प्रदेश अध्यक्ष सतवीर सिंह, इंटक से प्रदेश अध्यक्ष अमित यादव, हिंद मजदूर सभा से जसपाल राणा, मारुति संघ से कुलदीप जांधू, रिको ऑटो यूनियन प्रधान राज कुमार, होंडा यूनियन प्रधान अशोक कुमार, हीरो यूनियन प्रधान बलवंत सिंह, मारुति सुजुकी यूनियन प्रधान अजमेर सिंह, इंटक जिला अध्यक्ष सतपाल गिल आदि शामिल हुए।

हड़ताली कर्मियों ने नगर निकाय मंत्री कविता का पुतला फूंका

नूंह. कविता जैन का पुतला जलाते सफाई कर्मचारी।

गुड़गांव. गोशाल मैदान में आयोजित रैली में पहुंचे ट्रेड यूनियन कर्मी।

नूंह| नूंह नगरपालिका व फायरब्रिगेड कर्मचारियों ने शुक्रवार को संयुक्त रूप से प्रदेश की नगर निकायमंत्री कविता जैन का सिविल लाइन पहुंचकर उपायुक्त निवास के सामने पुतला फूंका। इससे पूर्व सफाई व फायर कर्मियों ने पूरे शहर में सरकार विरोधी नारे लगाते हुए जुलूस निकाला। नगरपालिका परिसर में शहर के सैकड़ों कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर 9 मई से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं। कर्मचारी सरकार से नियमित करने, पिछले चार महीने के रुका वेतन को शीघ्र देने के अलावा समान काम-समान वेतन आदि प्रमुख मांगों के साथ अन्य सात मांगों को पूरा करने की मांग कर रहे हैं। कर्मचारियो ने मंत्री कविता जैन का पुतला जलाने से पूर्व आरोप लगाया कि सरकार द्वारा हर निर्णय कर्मचारियों के विरोध में लिए जा रहे हैं। इस अवसर पर सफाई कर्मचारी यूनियन की जिला प्रधान मीना, सविता, पूर्ण, दुलीचंद, फायर ब्रिगेड के रुस्तम, मसरूद मौजूद रहे।

कर्मचारियों की हड़ताल पर हो रही राजनीति, ‘आप’ के बाद अब इनेलो ने भी किया समर्थन, सड़क पर उतरे अधिकारी
कर्मचारियों की हड़ताल पर हो रही राजनीति, ‘आप’ के बाद अब इनेलो ने भी किया समर्थन, सड़क पर उतरे अधिकारी
X
कर्मचारियों की हड़ताल पर हो रही राजनीति, ‘आप’ के बाद अब इनेलो ने भी किया समर्थन, सड़क पर उतरे अधिकारी
कर्मचारियों की हड़ताल पर हो रही राजनीति, ‘आप’ के बाद अब इनेलो ने भी किया समर्थन, सड़क पर उतरे अधिकारी
कर्मचारियों की हड़ताल पर हो रही राजनीति, ‘आप’ के बाद अब इनेलो ने भी किया समर्थन, सड़क पर उतरे अधिकारी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..