Hindi News »Haryana »Gurgaon» द्वारका एक्सप्रेस-वे में आड़े आ रहे 5 मंदिर, एक मजार को तोड़ा, खेड़कीदौला पर 3 कंपनी बाधा

द्वारका एक्सप्रेस-वे में आड़े आ रहे 5 मंदिर, एक मजार को तोड़ा, खेड़कीदौला पर 3 कंपनी बाधा

द्वारका एक्सप्रेस-वे के निर्माण में बाधा बने पांच बड़े मंदिर व एक मजार को हटा दिया गया। पिछले लंबे समय से ये मंदिर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 28, 2018, 02:05 AM IST

  • द्वारका एक्सप्रेस-वे में आड़े आ रहे 5 मंदिर, एक मजार को तोड़ा, खेड़कीदौला पर 3 कंपनी बाधा
    +1और स्लाइड देखें
    द्वारका एक्सप्रेस-वे के निर्माण में बाधा बने पांच बड़े मंदिर व एक मजार को हटा दिया गया। पिछले लंबे समय से ये मंदिर द्वारका एक्सप्रेस-वे के निर्माण में बाधा बने हुए थे, लेकिन लोगों के विरोध को देखते हुए हटाए नहीं जा रहे थे। लेकिन बुधवार सुबह हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण एवं नगर निगम की संयुक्त कार्रवाई के दौरान मंदिरों व मजार को हटा दिया गया। सभी मंदिरों की मूर्तियों को शीतला माता मंदिर में रख दिया गया है। हुडा के संपदा अधिकारी मुकेश कुमार के नेतृत्व में बुधवार को इनफोर्समेंट टीम ने पुलिस बल की मौजूदगी में पटौदी रोड़-द्वारका एक्सप्रेस-वे जंक्शन पर दो मंदिर एवं एक मजार को हटाया। जबकि दूसरी ओर न्यू पालम विहार के पास तीन मंदिरों पर पीला पंजा चलाते हुए ढहा दिया गया। मंदिर व मजार को ढहाए जाने को लेकर धार्मिक संगठनों के विरोध का सामना भी हुडा को करना पड़ सकता है। ऐसे में कार्रवाई के लिए खास तैयारी पहले ही कर ली गई थी। इस कार्रवाई के दौरान हरसरू के नायब तहसीलदार ओमप्रकाश को ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त किया गया था। उनके साथ एसीपी संदीप कुमार, सेक्टर-10 और राजेन्द्रा पार्क थानों के प्रभारी तथा 200 पुलिस बल मौजूद रहा। इसके अलावा, एसडीओ इनफोर्समेंट एचएस जाखड़, जेई अजमेर सिंह एवं प्रेमसिंह मौजूद रहे।

    मंदिर हटाने से क्षेत्रवासियों की भावनाएं हुई आहत : विक्रम यादव

    जिला प्रशासन द्वारा जिले के जहाजगढ़ क्षेत्र में सड़क निर्माण में बाधा बनने की बात कहकर प्राचीन मंदिर को हटाने पर क्षेत्रवासियों में रोष है। संस्था भारत बचाओ संगठन संयोजक विक्रम यादव ने बताया कि गत दिवस संगठन ने डीसी को ज्ञापन दे मांग की थी कि सड़क निर्माण में जो प्राचीन मंदिर आ रहा है, उसे हटाया ना जाए। इससे लोगों की आस्था जुड़ी है। सड़क मंदिर से बचाकर भी बन सकती है। पर मंदिर हटा दिया गया, जिससे क्षेत्रवासियों की भावनाएं आहत हुई हैं।

    बाइपास के अधूरे निर्माण को पूरा कराने की मांग को लेकर ग्रामीणों का विरोध जारी

    फर्रुखनगर | फर्रुखनगर-गुड़गांव स्टेट हाईवे से झज्जर रोड के बीच निर्माणाधीन बाइपास के अधूरे निर्माण को पूरा कराने की मांग को लेकर, तीसरे दिन भी गुड़गांव गोशाला-2 सुल्तानपुर के सामने ग्रामीणों का धरना जारी रहा। ग्रामीणों अपनी मांग पर डटे हैं। उनकी प्रमुख मांग बाइपास के मार्ग में बाधा बनी गोशाला प्रबंधन कमेटी निर्धारित मुआवजा राशि उठाएं, ताकि मार्ग का काम पूरा हो सके। कमेटी सदस्यों के अनुसार 25 मई को भूमि अधिग्रहण के विरुद्ध हाईकोर्ट में याचिका दायर हो चुकी है। वे चाहते हैं कि बाइपास निर्माण पूरा हो, लेकिन गोशाला भवन, पक्के शेड, मुख्य गेट, पीपल के पेड़ों को नुकसान पहुंचाए बिना।

  • द्वारका एक्सप्रेस-वे में आड़े आ रहे 5 मंदिर, एक मजार को तोड़ा, खेड़कीदौला पर 3 कंपनी बाधा
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gurgaon

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×