Hindi News »Haryana »Gurgaon» अंग्रेजी और गणित कमजोर होने से जिले में बिगड़ा 12वीं का परीक्षा परिणाम, विभाग की बढ़ी चिंता

अंग्रेजी और गणित कमजोर होने से जिले में बिगड़ा 12वीं का परीक्षा परिणाम, विभाग की बढ़ी चिंता

हरियाणा बोर्ड के 12वीं के परीक्षा परिणाम में सरकारी स्कूलों का प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा। जिले में करीब 44 फीसदी...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 20, 2018, 02:10 AM IST

  • अंग्रेजी और गणित कमजोर होने से जिले में बिगड़ा 12वीं का परीक्षा परिणाम, विभाग की बढ़ी चिंता
    +3और स्लाइड देखें
    हरियाणा बोर्ड के 12वीं के परीक्षा परिणाम में सरकारी स्कूलों का प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा। जिले में करीब 44 फीसदी छात्र परीक्षा पास नहीं कर पाए। अधिकांश बच्चे अंग्रेजी व गणित में फेल हुए। शिक्षा विभाग ने सभी स्कूलों से स्कूल का ओवरऑल रिजल्ट और टीचर्स की परफॉर्मेंस (उसके विषय संबंधी नंबर्स) का ब्योरा मांगा है। जिससे जिम्मेदार टीचर व प्रिंसिपल पर विभागीय कार्रवाई की जा सके। जिले में 61 सीनियर सेकंडरी स्कूल हैं।

    हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने 12वीं का परीक्षा परिणाम शुक्रवार को जारी किए थे। गुड़गांव जिले का रिजल्ट 56 फीसदी रहा। जिले से परीक्षा में 9842 छात्रों में से 5512 पास हुए। 2240 छात्रों की कम्पार्टमेंट आई, जबकि 2045 फेल हुए। खराब रिजल्ट ने विभाग की चिंता बढ़ा दी है। शिक्षा विभाग से मिली जानकारी के अनुसार करीब 10 स्कूलों के रिजल्ट काफी खराब हैं। इनमें करीब 40-45 फीसदी छात्र पास हुए हैं। गुड़गांव ब्लॉक में सबसे खराब स्कूलों में ग्वालपहाड़ी, धनकोट व बधवाड़ी स्कूल हैं। कई दूसरे भी ऐसे स्कूल हैं जिनका रिजल्ट 50 फीसदी रहा। फेल या कम्पार्टमेंट आने वाले छात्रों में अंग्रेजी व गणित विषय वाले सबसे अधिक है। दूसरी ओर कादीपुर सीनियर सेकंडरी स्कूल का रिजल्ट 70 फीसदी रहा। कादीपुर स्कूल में स्मार्ट क्लास से पढ़ाई कराई जाती है। इसके बाद भी सौ फीसदी रिजल्ट नहीं आया। प्रिंसिपल ने बताया कि कुछ छात्रों की कम्पार्टमेंट आई है। अन्य स्कूल से रिजल्ट बेहतर है।

    राज्य प्रधान के स्कूल का रिजल्ट 34% रहा

    हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ के राज्य उप प्रधान सत्यनारायण यादव ने बताया कि सरकार के साथ टीचरों को शिक्षा पर ध्यान देना होगा। उन्होंने कहा कि कुछ स्कूलों का प्रदर्शन अच्छा रहा है। हालांकि उनके धनकोट स्कूल का रिजल्ट 34 फीसदी रहा है, जो पिछले साल 8 फीसदी था। इसमें चार गुणा सुधार हुआ है।

    कमियां दूर की जाएंगी

    हसला नेता महाराम यादव ने कहा कि टीचर्स को आत्ममंथन करने की जरूरत है। जिले का 56 फीसदी रिजल्ट रहा है। ऐसे में लेक्चरर को खुद इस पर ध्यान देना होगा। दूसरी ओर सरकारी विद्यालयों के अध्यापकों को लगातार गैर शैक्षणिक कार्यों में उलझाए रखा जाता है। इसके बावजूद अध्यापकों ने परिणाम बेहतर लाने का प्रयास किया। गुड़गांव ब्लॉक प्रधान सुशील कटारिया ने कहा कि सरकार को भी ध्यान देना होगा। रिजल्ट को बेहतर करने के लिए सभी को मिलकर काम करना चाहिए।

    संतोषजनक नहीं स्कूलों का रिजल्ट

    सामाजिक कार्यकर्ता माइकल सैनी ने कहा कि 12वीं के परीक्षा परिणाम के अनुसार 9842 में से 5512 पास हुए, जबकि 44 फीसदी बच्चे कम्पार्टमेंट में हैं। ऐसे में इसका जवाबदार कौन है। शिक्षकों को अपनी जिम्मेदारी समझनी होगी। ग्रामीण क्षेत्रों के नतीजे बेहतर आए हैं जो प्रशंसनीय है।

    कई स्कूलों के छात्रों ने मेरिट में स्थान पाया

    दूसरी ओर मॉडल संस्कृत सीनियर सेकंडरी स्कूल सुशांतलोक का रिजल्ट बेहतर रहा। स्कूल प्रिंसिपल आशा मिगलानी ने बताया कि 21 छात्रों ने मेरिट में स्थान पाया है। साइंस वर्ग में एक छात्र अजय ने 94.2 फीसदी अंक पाए हैं। हिंदी, इकोनॉमिक्स, एकाउंटेंसी, आईटी, पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में 100 फीसदी रिजल्ट रहा। गुड़गांव सीनियर सेकंडरी स्कूल के चार छात्रों ने मेरिट में स्थान पाया। छात्रा सलमा ने 453 अंक पाए हैं। सीनियर सेकंडरी स्कूल सेक्टर 4/7 का भी रिजल्ट बेहतर रहा। छात्रा दीक्षा ने 89.6 फीसदी, नीतू कुमारी ने 81.2 फीसदी, अंकित पांडेय 88.6 फीसदी, नितिन 83.7 फीसदी, प्रियंका 86.4 फीसदी, शिवम ने 81.6 फीसदी, जितेंद्र ने 83.6 फीसदी व देव ने 80 फीसदी अंक पाए।

    प्रिंसिपलों से मांगी गई है रिपोर्ट

    जिला शिक्षा अधिकारी प्रेमलता ने बताया कि पिछले साल की अपेक्षा परीक्षा परिणाम में सुधार आया है। सभी स्कूलों से रिपोर्ट मांगी गई है। इसके अलावा विषयवार भी ब्योरा मांगा गया है। अच्छा प्रदर्शन नहीं करने वाले स्कूलों को नोटिस भेजा जाएगा। बीईओ गुड़गांव कैप्टन इंदू बोकन ने बताया कि ब्लॉक के 4-5 स्कूलों का रिजल्ट खराब होने की सूचना है। ब्लॉक के 41 स्कूलों से पूरी रिपोर्ट मांगी गई है। इसके बाद जरूरी कदम उठाए जाएंगे। टीचरों को भी मोटिवेट किया जाएगा, जिससे सरकारी स्कूलों का रिजल्ट सुधारा जा सके।

    गुड़गांव. सुशांतलोक के संस्कृति मॉडल स्कूल में परिणाम देखते स्टूडेंट।

    गुड़गांव. सुशांतलोक के संस्कृति मॉडल स्कूल में परिणाम देखते स्टूडेंट।

    ऑटो चालक की बेटी अन्नू ने 12वीं में 96.8% अंक लाकर प्रदेश में चौथा, जिले में पहला स्थान हासिल किया

    गुड़गांव| हरियाणा बोर्ड की 12वीं कक्षा की परीक्षा में 484/500 (96.8) अंक हासिल कर कासन सीनियर सेकंडरी स्कूल की छात्रा अन्नू ने प्रदेश में चौथा जबकि जिले में पहला स्थान पाया है। अन्नू के पिता ऑटो चालक हैं। ‘दैनिक भास्कर’ से बातचीत में अन्नू ने बताया कि कहा कि वो अब दिल्ली यूनिवर्सिटी से अंग्रेजी ऑनर्स से स्नातक कर आईएएस बनकर समाज की सेवा करना चाहती है। अन्नू ने बताया कि उसे उम्मीद थी कि रिजल्ट ऐसा ही आएगा। शुक्रवार शाम जब रिजल्ट देखा तो खुशी का ठिकाना ही नहीं रहा। अन्नू ने सबसे पहले अपने दादा को इसकी जानकारी दी। उसने बताया कि वो नियमित 6 से 7 घंटे तक पढ़ती है। टीचर्स के नोट्स को गंभीरता से पढ़ा। बेटी की उपलब्धि पर पिता गजराज व माता मीना देवी भी खुश हैं। पिता गजराज ने बताया कि वो ऑटो चलाते हैं। उनकी बेटी तीन बच्चों में सबसे बड़ी है। बेटी शुरू से ही मेधावी रही है। उन्हें उम्मीद थी कि वो 12वीं में अच्छा प्रदर्शन करेगी। सीनियर सेकंडरी स्कूल कासन के प्रिंसिपल दिलवर सिंह ने बताया कि अन्नू ने प्रदेश में चौथा स्थान हासिल कर स्कूल का नाम रोशन किया है। उन्होंने अन्नू की सफलता पर क्लास टीचर सुभाष चंद्र समेत अन्य टीचर्स को बधाई दी है। बीईओ गुड़गांव कैप्टन इंदू बोकन ने अन्नू के जिले में टॉप करने पर स्कूल स्टाफ को बधाई दी। अन्नू ने अंग्रेजी में 96, हिंदी में 94, पॉलीटिकल साइंस 98, में ज्योग्राफी 100, इकोनॉमिक्स में 96 अंक पाए हैं।

    टॉपर छात्रा अन्नू

    कॉमर्स में नितेश ने पाए 94.4%

    करना चाहते हैं एसएससी

    हरियाणा बोर्ड के 12वीं के परिणामों में नितेश ने 94.4 फीसदी नंबर पाया है। जिले में कॉमर्स स्ट्रीम में अच्छा प्रदर्शन किया है। सेक्टर-4 स्थित जीवन ज्योति स्कूल के छात्र नितेश ने कड़ी मेहनत और परिवार के सपोर्ट से कॉमर्स में शानदार स्कोर किया है। नितेश ने बताया कि 12वीं के बाद अब डीयू से बीकॉम करना चाहते हैं। इसके बाद एसएससी की तैयारी करना है। परिवार और शिक्षकों की मदद से ही वो अच्छा स्कोर कर पाए हैं। कामर्स के शिक्षक कृष्ण भारद्धाज ने नितेश की परीक्षाओं में पूरी मदद की। उन्होंने इंग्लिश में 91, हिंदी में 99, बिजनेस स्टडी में 92, अकाउंट में 97 और मैथ में 93 मार्क्स प्राप्त किए हैं।

    छात्र नितेश

    साइंस में अजय ने पाए 94.2%

    लेफ्टिनेंट बनना है सपना

    सेक्टर-43 स्थित मॉडल संस्कृति स्कूल के छात्र अजय का सपना लेफ्टिनेंट बनने का है। 94.2 फीसदी नंबर लाने वाले अजय ने जिले में साइंस स्ट्रीम में अव्वल स्थान पाया है। बिना ट्यूशन के परीक्षा की तैयारी की लेकिन पढ़ाई के दौरान किसी भी तरह की दिक्कत होने पर स्कूल के शिक्षकों का पूरा सहयोग लिया। अजय के परिवार में कोई भी आर्मी बैकग्राउंड से नहीं है, लेकिन उसका आर्मी में जाने का सपना है। इसके लिए वो फिटनेस पर भी ध्यान देते हैं। अजय वजीराबाद के रहने वाले हैं और उनके पिता एलआईसी एजेंट हैं। अजय ने स्कूल के बाद नियमित 5 से 6 घंटे पढ़ाई कर कुल 471 मार्क्स पाए। जिसमें फिजिक्स में 97, केमिस्ट्री में 95, हिंदी में 95, मैथ्स में 91 और इंग्लिश में 93 मार्क्स आए हैं।

  • अंग्रेजी और गणित कमजोर होने से जिले में बिगड़ा 12वीं का परीक्षा परिणाम, विभाग की बढ़ी चिंता
    +3और स्लाइड देखें
  • अंग्रेजी और गणित कमजोर होने से जिले में बिगड़ा 12वीं का परीक्षा परिणाम, विभाग की बढ़ी चिंता
    +3और स्लाइड देखें
  • अंग्रेजी और गणित कमजोर होने से जिले में बिगड़ा 12वीं का परीक्षा परिणाम, विभाग की बढ़ी चिंता
    +3और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gurgaon

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×