गुड़गांव

  • Home
  • Haryana News
  • Gurgaon
  • शहर की सफाई व्यवस्था को गंभीरता से ले कंपनी, लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी
--Advertisement--

शहर की सफाई व्यवस्था को गंभीरता से ले कंपनी, लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी

सेक्टर-9 में रविवार सुबह 8.30 बजे स्वच्छता व पर्यावरण संरक्षण अभियान की शुरुआत पीडब्ल्यूडी मंत्री राव नरबीर सिंह ने...

Danik Bhaskar

Jun 04, 2018, 02:10 AM IST
सेक्टर-9 में रविवार सुबह 8.30 बजे स्वच्छता व पर्यावरण संरक्षण अभियान की शुरुआत पीडब्ल्यूडी मंत्री राव नरबीर सिंह ने की। कार्यक्रम ईको ग्रीन और कुछ गैर सरकारी संस्थाओं ने संयुक्त रूप से आयोजित किया था। अभियान की शुरुआत करते हुए मंत्री ने डोर-टू-डोर कूड़ा उठाने वाली ईको ग्रीन कंपनी को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कंपनी प्रतिनिधियों को चेताया कि सफाई व्यवस्था को गंभीरता से लें और मामले में लापरवाही ना बरतें। कंपनी को सफाई व्यवस्था बनाने के लिए ही सरकार ने काम दिया है, इसलिए इसमें कोताही ना करें। भाषण समाप्त करते-करते उन्होंने कहा कि लोग शिकायत कर रहे हैं कि जब से ईको ग्रीन को डोर-टू-डोर कूड़ा उठाने का ठेका दिया गया है, तब से शहर में सफाई व्यवस्था चौपट हो गई है। उन्होंने ईको ग्रीन के अंकित अग्रवाल से पूछा कि कंपनी को कूड़ा उठाने के लिए कितनी राशि में ठेका दिया गया है और पुरानी एजेंसी यही काम कितनी राशि में करती थी। अंकित ने स्टेज पर ही मंत्री को बताया कि उनकी कंपनी को यह काम प्रति टन 1000 रुपए की दर से दिया गया है, पिछली एजेंसी इसी काम को 650 रुपए प्रति टन की दर से कर रही थी। इस पर मंत्री ने कहा कि कंपनी 1000 रुपए प्रति टन का ठेका लेकर 300 रुपए प्रति टन की दर से दूसरी एजेंसी से काम करा रही है। इस तरह से कंपनी की तो मौज है। बैठे-बिठाए प्रति टन 700 रुपए की कमाई कर रही है। फिर शहर में गंदगी क्यों है। मंत्री ने चेताया कि कंपनी सफाई व्यवस्था को गंभीरता से ले। मामले में लापरवाही ना बरते।

लोगों ने कंपनी अफसर को घेरा

कार्यक्रम खत्म होते ही स्थानीय लोगों ने सेक्टर-9 सब-स्टेशन के पास पड़े कूड़े के ढेर को लेकर ईको ग्रीन के अंकित को घेर लिया। दैनिक भास्कर ने मामले को रविवार को प्राथमिकता से उठाया था। इसे लेकर स्थानीय लोग भड़क गए। पार्षद धर्मवीर के साथ लोगों ने कहा कि इस जगह भारी मात्रा में कूड़ा रहने से जनजीवन प्रभावित हो रहा है। उन्होंने चेतावनी दी कि पूरी तरह से जगह साफ की जाए, नहीं तो कंपनी के कूड़ा डालने वाले वाहनों को आग लगा देंगे। इस पर अंकित ने खत्ते को ही बंद करने का लोगों को भरोसा दिलाया। काफी देर तक स्थानीय लोग अंकित से जद्दोजहद करते रहे। इस अवसर पर मंत्री ने कार्यक्रम स्थल के नजदीक अपने हाथों से पौधा लगाकर अन्य लोगों को भी अधिक से अधिक पेड़ लगाने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा गुड़गांव एनसीआर का सबसे अहम जिला है, लेकिन दुर्भाग्यवश यहां प्रदूषण अधिक है। जल्द ही कुंडली-पलवल-मानेसर एक्सप्रेस-वे तैयार हो जाएगा, जिसके बाद प्रयास रहेगा कि दिल्ली जाने वाली डीजल की बड़ी गाड़ियां गुड़गांव से होकर ना जाएं बल्कि, केएमपी एक्सप्रेस-वे का इस्तेमाल करें।

गुड़गांव. कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते लोक निर्माण एवं वन मंत्री राव नरबीर सिंह ।

मंत्री से भी लगाई गुहार : कार्यक्रम में सेक्टर-9 के लोगों ने मंत्री के समक्ष अपनी समस्याएं भी रखीं, जिनमें से एक समस्या बिजली सब-स्टेशन की खाली पड़ी जमीन पर कूड़ा डालने की भी थी। लोगों ने मंत्री को बताया कि यहां लोग कचरा डालते हैं, जिसके कारण वहां सफाई व्यवस्था चरमराई हुई है और कई बार शरारती तत्व यहां से गुजरने वाले लोगों से लूटपाट करते हैं। लोगों ने मंत्री से इस खाली जमीन पर पार्क बनाने की मांग रखी, इस पर मंत्री ने इसके लिए प्रयास करने का भरोसा दिलाया।

इधर, नीलांचल सोसायटी ने की

नागरिक अस्पताल में सफाई

गुड़गांव | गुड़गांव में रह रहे ओडिशा के सैकड़ों प्रवासी नागरिकों की संस्था नीलांचल सोसायटी ने रविवार को नागरिक अस्पताल मे जगह-जगह लगे कूड़े के ढेर, दीवारों पर थूक और पीक, बलगम, मल-मूत्र से फैली गंदगी सघन सफाई अभियान चलाकर की। नीलांचल सोसायटी के अध्यक्ष विश्वाल ने बताया कि गुड़गांव हमारा और हम गुड़गांव के हैं। सफाई और स्वच्छता के लिए समाज के लोगों को ही आगे आना होगा। अस्पताल प्रबंधन से जुड़े डॉक्टर नीरज तथा अखिल भारतीय हिंदू क्रांति दल के राष्ट्रीय प्रभारी राजीव मित्तल ने उक्त प्रयासों की सराहना करते हुए यथासंभव हर सहयोग का आश्वासन दिया। नागरिक अस्पताल में सफाई के दौरान कल्पतरू पांडा, रंजन परेड़ा, जगबंधु विश्वाल, सरोज नायक, हरि हाटी, अजय दास, वाफी नायक, साईं राम, राजेश, रमेश, मृत्युंजय, कलिंग भारती फाउंडेशन के सभापति अक्षय सामल, वरिष्ठ लेखक अक्षय ओझा आदि मौजूद रहे।

गुड़गांव. नागरिक अस्पताल में साफ-सफाई करने पहंुची नीलांचल सोसायटी की टीम।

Click to listen..