• Home
  • Haryana News
  • Gurgaon
  • भाजपा अपना रही है तुष्टिकरण की नीति, संत समाज का भंग हुआ मोह: नरसिंहानंद
--Advertisement--

भाजपा अपना रही है तुष्टिकरण की नीति, संत समाज का भंग हुआ मोह: नरसिंहानंद

आगामी 21 जुलाई से होने वाले 2 दिवसीय धर्म संसद की जानकारी देने रविवार को गुड़गांव पहुंचे अखिल भारतीय संत परिषद के...

Danik Bhaskar | Jun 11, 2018, 02:10 AM IST
आगामी 21 जुलाई से होने वाले 2 दिवसीय धर्म संसद की जानकारी देने रविवार को गुड़गांव पहुंचे अखिल भारतीय संत परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष यति नरसिंहानंद सरस्वती भाजपा सरकार पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि भाजपा ने सत्ता में आने से पहले साधु-संत, समाज व देशवासियों को आश्वस्त किया था कि हिंदू समुदाय का दमन नहीं होने देंगे। धर्म की रक्षा को प्राथमिकता देंगे, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। भाजपा अपने वायदे से मुकर गई है और हिंदुओं के प्रति तुष्टिकरण की नीति अपना रही है, जिसे सहन नहीं किया जाएगा। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सीएम मनोहर लाल और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से भी असंतुष्टि जाहिर की। कहा कि पीएम हिंदू धर्म की रक्षा के लिए किए वायदे से पलट गए। उनकी सरकार में हिंदुओं से धोखा हो रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के गठन के लिए संत समुदाय ने बड़ा सहयोग दिया था, लेकिन अब संत समाज का ध्यान नहीं है। संत समाज का भाजपा से मोह भंग हो चुका है।

संघर्ष समिति सदस्य प्रशासन की गोद में जा बैठे

गुड़गांव में सार्वजनिक स्थानों पर नमाज अता करने के खिलाफ सीएम आवास पर आत्मदाह करने के अपने फैसले को लेकर सरस्वती ने कहा कि वो आत्मदाह के लिए चंडीगढ़ गए थे। सीएम आवास पहुंचने से पहले ही उन्हें पुलिस ने रोककर हिरासत में रखा था और उनके खिलाफ केस भी दर्ज किया। मामले में जन संघर्ष समिति के क्रियाकलापों पर उन्होंने कहा कि कि समिति सदस्य अपने निर्णय से मुकर गए और वे जिला प्रशासन की गोद में जा बैठे। ऐसी समिति से संत परिषद का लेना-देना नहीं है।

21 से शुरू होगी धर्म संसद

उन्होंने बताया कि हरियाणा की भूमि पर होने जा रही धर्म संसद एक क्रांति की शुरुआत है। 13 जुलाई से बंगलामुखी यज्ञ का आयोजन गुड़गांव में होगा और 21 को पूर्णाहुति के साथ ही धर्म संसद का शुभारंभ होगा। इसमें साधु-समाज हिंदू समुदाय की रक्षा कैसे की जाए, इसे लेकर मंथन करेगा। उन्होंने सभी हिंदू संगठनों से आग्रह किया कि वे सब एक मंच पर आ जाएं, ताकि धर्म की रक्षा की जा सके। इस अवसर पर भारत बचाओ संगठन के संयोजक विक्रम यादव, यति चेतनानंद सरस्वती, सुनील त्यागी, रमेश शर्मा, पंडित सुरेंद्र मुनि, परमिंद्र बाबा, आचार्य हरिनिवास आदि भी मौजूद रहे।

गुड़गांव. पत्रकारवार्ता में भारतीय संत परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष यति नरसिंहानंद सरस्वती और परिषद के अन्य सदस्य।