Hindi News »Haryana »Gurgaon» हरियाणा में सबसे ज्यादा बिजली बिल भरने वाला जिला गुड़गांव, हर महीने जमा होते हैं Rs.570 करोड़

हरियाणा में सबसे ज्यादा बिजली बिल भरने वाला जिला गुड़गांव, हर महीने जमा होते हैं Rs.570 करोड़

हरियाणा में गुड़गांव सबसे अधिक राजस्व देने वाला जिला है। इसमें बिजली बिलों की बात करें तो गुड़गांव के उपभोक्ता सबसे...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 18, 2018, 02:10 AM IST

हरियाणा में सबसे ज्यादा बिजली बिल भरने वाला जिला गुड़गांव, हर महीने जमा होते हैं Rs.570 करोड़
हरियाणा में गुड़गांव सबसे अधिक राजस्व देने वाला जिला है। इसमें बिजली बिलों की बात करें तो गुड़गांव के उपभोक्ता सबसे अधिक बिजली बिल जमा कर रहे हैं। दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के तहत गुड़गांव व फरीदाबाद को मिलाकर कुल 11 जिले आते हैं। इनमें दोनों जिलों का राजस्व का हिस्सा लगभग 60 फीसदी होता है। गुड़गांव के उपभोक्ता गर्मी के दिनों में 570 करोड़ रुपए का बिल जमा कर रहे हैं।

गुड़गांव में करीब 25% बिजली खपत हर साल बढ़ रही है

गुड़गांव में फिलहाल सभी तरह के कुल चार लाख उपभोक्ता है, जिन्हें दो सर्कल में बीते साल बांटा गया था। इस बार मई महीने में बिजली की खपत बढ़कर 305 लाख यूनिट तक पहुंची थी, जबकि पिछले साल खपत का आंकड़ा 270 लाख यूनिट का था। जून में खपत 300 लाख के औसत पर चल रही है। ऐसे में इस बार खपत बढ़कर 310 लाख तक पहुंच सकती हैं। दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के तहत 11 जिले आते हैं। इनमें सबसे अधिक बिजली खपत गुड़गांव और उसके बाद फरीदाबाद में है। गुड़गांव के उपभोक्ता गर्मी के दिनों में 570 करोड़ रुपए बिल के रूप में जमा कर रहे हैं, जो दक्षिण हरियाणा के जिलों में सबसे अधिक है। पूरे दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के तहत 1200 करोड़ रुपए का बिल होता है।

गुड़गांव दक्षिण हरियाणा में सबसे अधिक बिल जमा करने वाला जिला है। दक्षिण हरियाणा में दूसरा सबसे अधिक बिल देने वाला जिला फरीदाबाद है। डीएचबीवीएन में हर महीने 1200 करोड़ रुपए बिल के रूप में जमा होते हैं, जिसमें गुड़गांव से 550 करोड़ से अधिक की हिस्सेदारी होती है। -संजीव चोपड़ा, चीफ इंजीनियर, डीएचबीवीएन।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Gurgaon

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×