प्रदूषण फैलाने वाले 10 हजार से ज्यादा ऑटो होंगे जब्त, सीएम ने दिए अफसरों को कार्रवाई के निर्देश

Gurgaon News - जिले में अब 10 साल से ज्यादा पुराने प्रदूषण फैलाने वाले ऑटो रिक्शा नहीं चलेंगे। इस संबंध में मुख्यमंत्री मनोहर लाल...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 07:30 AM IST
Gurgaon News - more than 10000 more polluting people will be seized cm orders directions to action
जिले में अब 10 साल से ज्यादा पुराने प्रदूषण फैलाने वाले ऑटो रिक्शा नहीं चलेंगे। इस संबंध में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सख्त कदम उठाने का फैसला लिया है। हालांकि, पुराने ऑटो रिक्शा पर प्रतिबंध लगाने के लिए लंबे समय से प्रयास चल रहे हैं, मगर इस बार मुख्यमंत्री ने इस पर रोक लगाने के लिए गुड़गांव ट्रैफिक पुलिस और क्षेत्रीय यातायात प्राधिकरण के सचिव को प्रदूषण फैलाने वाले सभी ऑटो को जब्त करने की हिदायत दी है। मुख्यमंत्री के इस फैसले पर अगर प्रभावी कदम गए तो जिले में प्रदूषण में कमी की संभावना बन सकती है।

शनिवार को लोक परिवाद समिति की बैठक में रखे गए कुल 11 मामलों में से एक प्रमुख मामला पुराने व प्रदूषण फैलाने वाले ऑटो रिक्शा पर रोक लगाने संबंधी थी। बैठक में मुख्यमंत्री के सामने यह शिकायत रखी गई कि गुड़गांव में बहुत सारे ऑटो रिक्शा बिना फेयर मीटर और बिना रजिस्ट्रेशन के चलाए जा रहे हैं। यह मामला पिछली बैठक में भी रखा गया था, जिसमें मुख्यमंत्री ने प्रदेश के ट्रांसपोर्ट विभाग को इस बारे में पॉलिसी बनाने के निर्देश दिए थे। इस मामले में मुख्यमंत्री ने गुड़गांव शहर में प्रदूषण फैलाने वाले व अनाधिकृत रूप से चलाए जा रहे ऑटो रिक्शा के लिए गुड़गांव ट्रैफिक पुलिस और क्षेत्रीय यातायात प्राधिकरण के सचिव को मिलकर 10 दिन में योजना बनाकर भिजवाने की हिदायत दी। यह योजना तैयार करने की जिम्मेदारी पुलिस आयुक्त मोहम्मद अकिल को दी है।

पौधरोपण के दौरान सीएम की सेवा में तत्पर अफसर

सीएम के साथ में खड़े हैं मंत्री राव नरबीर, टिश्यू पेपर पैकेट के साथ हैं एडिशनल म्युनिसिपल कमिश्नर वाईएस गुप्ता, हाथ में फाइल लिए हैं एडीजीपी सीआईडी अनिल राव, हैंड सेनेटाइजर के साथ वाईएस गुप्ता के कार्यालय में कार्यरत डीसी रेट कर्मी और पीने के पानी की बोतल के साथ निगम कर्मी मुस्तैद रहे।

सड़कों पर दौड़ रहे हैं कंडम व पुराने ऑटो

दरअसल, गुड़गांव में 70 हजार से अधिक ऑटो रिक्शा चल रहे हैं, जिसमें से 20 हजार से अधिक ऑटो 10 साल पुराने व प्रदूषण फैलाने वाले हैं। यदि मुख्यमंत्री के आदेशों पर सख्ती अमल हुआ तो ये सभी ऑटो बंद हो सकते हैं। फिलहाल, गुड़गांव में बेलगाम ऑटो रिक्शा पर प्रशासन का कोई नियंत्रण नहीं है।

प्रदूषण में दुनिया में टॉप 10 शहरों में गुड़गांव

चिंता की बात है कि प्रदूषण के मामले में गुड़गांव दुनिया के टॉप शहरों में है। पिछले वर्ष आईक्यू एयर विजुअल और ग्रीनपीस की रिपोर्ट में स्पष्ट किया गया था कि दुनिया के टॉप-10 प्रदूषित शहरों में भारत के 7 शहर हैं। इसमें गुड़गांव सबसे ऊपर है। प्रदूषण का आकलन पीएम 2.5 कणों के आधार पर किया जाता है। पीएम 2.5 कण अत्यंत महीन होते हैं और फेफड़ों को नुकसान पहुंचाते हैं। वाहनों से निकलने वाले धुएं में केमिकल व पेस्टिसाइड सहित एैरोमीट्रिक कार्बन के बारीक कण होते हैं, जो हवा में घुल जाते हैं। ये कण 2.5 माइक्रोग्राम मीटर से कम हैं। जो इतने खतरनाक होते हैं कि सांस के साथ फेफड़ों में पहुंचकर व्यक्ति के खून में घुल जाते हैं। पर्टिकुलेट मैटर 2.5 का औसतन स्तर 60 तक हवा स्वास्थ्य के लिए ठीक मानी जाती है।

पेंशन के लिए स्कूल लिविंग सर्टिफिकेट मान्य होगा

गुड़गांव| मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में शनिवार को हुई लोक परिवाद समिति की बैठक में कुल 11 शिकायतें रखी गई। एक शिकायत का निपटारा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि वृद्धावस्था सम्मान भत्ते का लाभ लेने के लिए आयु के प्रमाण के तौर पर यदि आवेदक 10वीं कक्षा पास नहीं है तो हरियाणा प्रदेश के स्कूल द्वारा दिया गया स्कूल लिविंग सर्टिफिकेट मान्य होगा। अगर सर्टिफिकेट गलत पाया गया तो जारीकर्ता पर कार्यवाही होगी। इस फैसले से प्रदेश के उन सभी व्यक्तियों को लाभ होगा जिनके पास वृद्धावस्था सम्मान भत्ता लेने के लिए आयु का कोई प्रमाण नहीं है।

जिला पुस्तकालय तथा ई लक्ष्य वाहिनी का किया लोकार्पण

गुड़गांव| मुख्यमंत्री ने शनिवार को गुड़गांव में आधुनिक जिला पुस्तकालय तथा ई लक्ष्य वाहिनी का लोकार्पण किया। इन दोनों परियोजनाओं पर सीएसआर के तहत एक करोड़ रुपए से अधिक राशि खर्च की गई है। इन परियोजनाओं को पावर ग्रिड इंडिया प्राइवेट लिमिटेड द्वारा पूरा करवाया गया है।

भूमिगत जलसुधार के बड़ी झीलें विकसित होंगी

गुड़गांव| हरियाणा में भूमिगत जल स्तर में सुधार लाने के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रभावित क्षेत्रों में बड़ी-बड़ी झील विकसित करने की पहल की है। इसी कड़ी में मुख्यमंत्री ने जिला गुड़गांव में पड़ने वाले विभिन्न पहाड़ी क्षेत्रों जैसे कि कासन, कुकडोला में नई झीलों का विकास और दमदमा की मौजूदा विलुप्त होती झील का जीर्णोद्धार करने का भरोसा दिलाया। इसके लिए उन्होंने झीलों के विकास के लिए मैपिंग भी करवाने की बात की। पहाड़ों की तलहटी में झील विकसित करने की संभावना तलाशने के लिए मुख्यमंत्री ने शनिवार को मंत्री राव नरबीर सिंह और जिला के उपायुक्त अमित खत्री के साथ कासन, कुकडोला व दमदमा का हवाई सर्वेक्षण किया।

गुरुजल कैलेंडर ऑफ इवेंट का भी किया विमोचन

गुड़गांव| पानी की बचत और बरसाती पानी के संचयन को लेकर चलाए जा रहे जल शक्ति अभियान के तहत सीएम मनोहर लाल ने शनिवार को कैलेंडर आफ इवेंट्स का विमोचन किया। इस कैलेंडर के अनुसार जल संचयन को जन आंदोलन बनाने के लिए जिला में हर सप्ताह कोई न कोई गतिविधि रखी गई है।

X
Gurgaon News - more than 10000 more polluting people will be seized cm orders directions to action
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना