• Home
  • Haryana News
  • Hansi
  • सफाई व्यवस्था बहाल करने को नगर परिषद प्रशासन नियुक्त करेंगे चीफ सेनेटरी इंस्पेक्टर
--Advertisement--

सफाई व्यवस्था बहाल करने को नगर परिषद प्रशासन नियुक्त करेंगे चीफ सेनेटरी इंस्पेक्टर

शहर की बदहाल सफाई व्यवस्था सुधारने के लिए नगर परिषद प्रशासन चीफ सेनेटरी इंस्पेक्टर का पद सृजित करने जा रहा है।...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 03:20 AM IST
शहर की बदहाल सफाई व्यवस्था सुधारने के लिए नगर परिषद प्रशासन चीफ सेनेटरी इंस्पेक्टर का पद सृजित करने जा रहा है। वर्तमान पूरी सफाई व्यवस्था एक सेनेटरी इंस्पेक्टर के कंधे पर है। शहर का क्षेत्रफल और जनसंख्या बढ़ने के कारण परिषद प्रशासन ने चीफ सेनेटरी इंस्पेक्टर की नियुक्ति का फैसला किया है।

सफाई व्यवस्था को बनाए रखने के लिए परिषद के पास सफाई शाखा है। सफाई व्यवस्था शाखा के मुखिया सेनेटरी इंस्पेक्टर दीपक झांब देखते हैं। उन्हीं के द्वारा कर्मचारियों की वार्ड और कालोनियों के अनुसार नियुक्ति की जाती है।

गलियों, मोहल्लों और सड़कों से कूड़ा उठाने से लेकर कचरा प्रबंधन तक का काम सफाई विभाग में कार्यरत कर्मचारी देखते हैं। व्यवस्था बनाए रखने के लिए क्षेत्रों के अनुसार सफाई दरोगा भी नियुक्त हैं, जिनकी जिम्मेदारी कर्मचारियों की निगरानी करना और किसी तरह की दिक्कत के समय उनकी मदद करना है।

परिषद में सफाई कर्मचारियों की संख्या 173 सफाई कर्मचारी हैं। इसमें 54 नियमित और 119 कच्चे कर्मचारी हैं। कचरा उठाने के लिए ट्रैक्टर-ट्रालियों पर कुल 20 कर्मचारियों को लगाया गया है। दो कर्मचारी ट्रैक्टर चालक हैं।

कर्मचारी अपने क्षेत्रों के कचरे को एकत्रित करके वार्ड के कचरा प्वाइंट्स पर डालते हैं। जहां से ट्रैक्टर ट्रालियों के माध्यम से कचरे को उठाकर शहर के बाहर फेंका जाता है। कहने को यह व्यवस्था समुचित है, लेकिन फिर भी शहर की सफाई व्यवस्था बहाल नहीं हो पा रही। आलम यह है कि कूड़े के ढेर हर जगह दिखाई देते हैं। नगर परिषद में रोजाना आने वाली शिकायतों में सफाई से जुड़ी शिकायतें अधिक होती हैं।

परिषद प्रशासन चाहते हुए भी सफाई व्यवस्था को नहीं सुधार पा रहा। हालात को देखते हुए अब व्यवस्था सुधारने के लिए नए प्रबंध करने के लिए कदम उठाया गया है, जिसके तहत शहर में पहली बार मुख्य सफाई निरीक्षक नियुक्त करने का फैसला किया गया है। सरकार द्वारा परिषद के लिए फिलहाल एक सेनेटरी इंस्पेक्टर का पद स्वीकृत है। मगर क्षेत्रफल और जनसंख्या बढ़ने को देखते हुए चीफ सेनेटरी इंस्पेक्टर की जरूरत महसूस की जा रही है।

मीटिंग के एजेंडा मे था

नगर परिषद की 30 मार्च को हुई हाउस मीटिंग में पार्षदों ने चीफ सेनेटरी इंस्पेक्टर रखने पर सहमति जता दी। मीटिंग के एजेंडा में कार्यकारी अधिकारी द्वारा यह प्रस्ताव रखा गया। प्रस्ताव में अधिकारी ने कहा कि नियमानुसार नगर परिषद में एक मुख्य सफाई निरीक्षक की आवश्यकता है। शहर में सफाई व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए इस पद को सृजित करने व मामला सरकार तक भिजवाने की स्वीकृति के लिए मामला प्रस्तुत है।

सफाई को लेकर हैं गंभीर: चेयरपर्सन