• Home
  • Haryana News
  • Hansi
  • रेनुका बिश्नोई बोलीं-सरकार अपना रही दमनकारी नीतियां
--Advertisement--

रेनुका बिश्नोई बोलीं-सरकार अपना रही दमनकारी नीतियां

धरने पर बैठे सरपंचों को समर्थन देने पहुंचीं रेनुका बिश्नोई। भास्कर न्यूज | हांसी ई-पंचायत के विरोध और अन्य...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 04:10 AM IST
धरने पर बैठे सरपंचों को समर्थन देने पहुंचीं रेनुका बिश्नोई।

भास्कर न्यूज | हांसी

ई-पंचायत के विरोध और अन्य मांगों को लेकर बीडीपीओ परिसर में अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे सरपंचों सचिवों को शनिवार को विधायक रेनुका बिश्नोई का समर्थन मिला। रेनुका सरपंचों के धरने पर गईं और मसले पर सरकार की आलोचना की। उन्होंने कहा कि सरकार दमनकारी नीति अपना रही है।

विधायक रेनुका ने कहा कि सरकार लोगों की दुख-तकलीफें जानने की बजाय हठधर्मिता अपनाए हुए है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खुद जनप्रतिनिधि हैं। इसलिए उन्हें जनप्रतिनिधि की जिम्मेदारियों और उनके मान-सम्मान का अहसास होना चाहिए। अपनी मांगों को लेकर मिलने आए प्रदेश भर के सरपंचों व ग्राम सचिवों के साथ दुर्व्यवहार करना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि सरपंचों व ग्राम सचिवों के प्रतिनिधिमंडल में शामिल ग्राम सचिवों को निलंबित करना सरकार की दमनकारी नीतियों को साबित करता है। उन्होंने कहा कि सरकार पंचायती राज प्रतिनिधियों को उनका मानदेय तक नहीं दे रही और आए दिन नए-नए नियम थोंप रही है। सरपंच व ग्राम सचिव ई-पंचायत के विरोधी नहीं हैं, बल्कि वे तो ई-पंचायत प्रणाली लागू करने के पहले जरूरी संसाधनों की मांग कर रहे हैं जोकि जायज हैं। िला सरपंच एसोसिएशन के प्रधान अशोक मलिक और अन्य सरपंचों के अलावा राहुल मक्कड़, महेंद्र घोड़ेला, विजय बिश्नोई, नरेंद्र सैनी, वीरेंद्र मोरपुरा, पृथ्वी चैनत, नरेश जांगड़ा, रामनिवास कौशिक, जयसिंह मलिक, सुरेश रामपुरा, देसराज सरपंच, छबीलदास, संदीप नायक, देवेंद्र यादव, सुमेर बांडाहेड़ी मौजूद थे।