--Advertisement--

हल्की बारिश से 6 डिग्री तक गिरा तापमान, पानीपत में प्रदूषण का स्तर 11 से 3 गुना रह गया

प्रदेश में गुरुवार को हल्की बारिश या बूंदाबांदी हुई। इससे स्मॉग काफी हद तक धुल गया।

Danik Bhaskar | Nov 17, 2017, 05:33 AM IST

पानीपत/करनाल | प्रदेश में गुरुवार को हल्की बारिश या बूंदाबांदी हुई। इससे स्मॉग काफी हद तक धुल गया। प्रदूषण जो सामान्य से 11 गुना अधिक हो गया था, वह 3 गुना रह गया। पानीपत में पीएम2.5 का स्तर 205 व पीएम10 का स्तर 350 रहा। 9 नवंबर को ये क्रमश: 476.7 व 1145.6 माइक्रोग्राम्स/क्यूबिक मी. (यूजी/एम3) थे। भिवानी में 7, सिरसा में 4, जींद में 5 एमएम बारिश हुई। 25 किमी प्रति घंटा की गति से पूर्वी हवा चली। दिनभर सूरज नहीं निकला। कुरुक्षेत्र में दिन का पारा 27 से 20.8 डिग्री पर आ गया।

फरीदाबाद में रात का पारा 13.4 डिग्री रहा। अगले 48 घंटे में 2-3 डिग्री की कमी आ सकती है। 4-5 दिन तक अलसुबह धुंध व दिन में बादल छाए रह सकते हैं। पारा 10 डिग्री तक आ सकता है। गुरुवार को देश में सबसे कम पारा जम्मू-कश्मीर के लेह में -5.9 डिग्री रहा।

दिल्ली में पराली से ज्यादा धूलभरा तूफान जिम्मेदार, प्रदूषण में 40 फीसदी हिस्सा
केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय की एजेंसी सफर की रिपोर्ट के अनुसार स्मॉग की वजह पश्चिम एशिया में धूलभरी आंधी है। पुणे स्थित सफर के कार्यालय से मिली रिपोर्ट से पता चलता है कि 8 नवंबर को स्मॉग बढ़ाने में धूलभरी आंधी की भागीदारी 40 प्रतिशत थी, जबकि पराली की हिस्सेदारी 25 प्रतिशत ही थी। 8 नवंबर को पीएम 2.5 बढ़कर 640 माइक्रोग्राम्स पर क्यूबिक मीटर (यूजी/एम3) पहुंच गया था।