--Advertisement--

फ्री का खाना खा खाकीवाले ने अफसर की ऐसी बात, एक्शन लेते ही हुआ ये हाल

ढाबा मालिक ने आरोप लगाया कि दोनों पुलिस वाले नशे में धुत थे।

Danik Bhaskar | Nov 17, 2017, 02:30 AM IST

समालखा (पानीपत). 67 दिन पहले जिस हवलदार को एसपी के घर पर दंपती से बदसलूकी के मामले में पुलिस अफसरों ने बचा लिया था, उसी ने कांस्टेबल के साथ ढाबे पर खाना खाने के बाद बिल के पैसे मांगने पर वर्दी में गुंडागर्दी दिखाई। ढाबा मालिक ने आरोप लगाया कि दोनों पुलिस वाले नशे में धुत थे। खाने के पैसे मांगे तो गालियां दी और गाड़ी से बंदूक उठा लाया और तान दी। दोनों ढाबे के बाहर जीटी रोड पर खड़े हो गए और ढाबे पर आने वाली किसी गाड़ी को रुकने नहीं दिया। दिल्ली के पुलिस के अफसर ने लगाई फटकार...

- इसी बीच दिल्ली पुलिस के एक अफसर ने गाड़ी रोक ली और दोनों को फटकार लगाई। मामला टॉपलेवल तक पहुंचा तो एसपी ने दोनों को सस्पेंड कर दिया।

- दोनों पुलिसकर्मी काऊ टास्क फोर्स में तैनात थे। मनीष का समालखा से करहंस के बीच जीटी रोड पर ढाबा है।

- बुधवार रात करीब 11:30 बजे पुलिस पीसीआर में दो पुलिसकर्मी आए। दोनों ने खाना खाया और पैसे देने से मना करते हुए खाना खा रहे अन्य लोगों के सामने ही गालियां देनी शुरू कर दी।

- उनके सामने हाथ जोड़े और कहा कि आप रुपए मत दो, लेकिन शांत हो जाए। लेकिन दोनों नहीं माने।

- एक पुलिसकर्मी पुलिस गाड़ी से बंदूक उठा लाया और धमकी देने लगा। ढाबे पर खाना खाने आए लोगों ने भी शांत करवाने की कोशिश की। मामले की शिकायत डीएसपी नरेश अहलावत और एसएचओ नवीन संधू को दी है।

दिल्ली पुलिस के अफसर ने कराया राइट-लेफ्ट, डगमगाया हवलदार

अफसर: आप यहां क्या कर रहे हैं?
किस बात का नाका, आपसे से खड़े होते नहीं बन रहा है।

हवलदार: नाका लगा रखा है। मैंने शराब नहीं पी रखी है, आप मेडिकल करा सकते हैं।

अफसर: ठीक है, तो सावधान-विश्राम करो। राइट मुड़ (इस पर हवलदार रामचंद्र प्रकाश के पैर टिक नहीं रहे थे, इस पर अफसर ने कहा- खड़े होते नहीं बन रहा। इतने में तीसरा पुलिस वाला आया, उसने हवलदार से कहा- डिप्टी साहब बुला रहे हैं। हवलदार बोला- उस्ताद आप कमाल कर रहे।)

राजीनामा के लिए सिफारिश ढूंढने में जुटे पुलिसकर्मी

रात मेंं फ्री का खाना खाकर खाकी को रौब दिखाने वाले पुलिसकर्मी राजीनामा को लेकर अब सिफारिश ढूंढने में जुट गए हैं। थाना प्रभारी नवीन संधू ने बताया कि पुलिस अधीक्षक ने हवलदार चंद्र प्रकाश व सिपाही राजेश को सस्पेंड कर दिया है। दोनों उनके ऊपर आरोप है कि ढाबा पर खाना खाने के बाद उत्पात मचाया।

पहले भी नशे में धुत होने के लगे थे आरोप

7 सितंबर की रात को सेक्टर 13/17 निवासी इंश्योरेंस कंपनी के यूनिट मैनेजर को पत्नी स्कूटी से लेने के लिए आई थी।

एसपी आवास के बाहर बाइक सवार दो युवकों ने महिला से छेड़छाड़ कर दंपती से मारपीट कर दी।

डेरा प्रमुख की सीबीआई कोर्ट में पेशी को लेकर एसपी आवास के बाहर आफिसर कॉलोनी के लिए हवलदार चंद्र प्रकाश व अन्य पुलिसकर्मी तैनात थे।

चंद्र प्रकाश व एक अन्य पुलिसकर्मी ने तब भी मदद करने की बजाय उल्टा दंपती को धमकाया था। तब भी दोनों पर नशे में होने के आरोप थे। पुलिस ने पुलिसकर्मियों को बचा लिया था।