Hindi News »Haryana »Panipat» Video CD Of Incidents Of Fire Incidents Of Finance Minister Home

वित्त मंत्री की कोठी को आग लगाने की घटना की वीडियो सीडी तलब

कलकल ने जेल निरीक्षण के लिए पहुंचे हाईकोर्ट के जज को एक शिकायती पत्र दिया था।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 17, 2017, 05:10 AM IST

वित्त मंत्री की कोठी को आग लगाने की घटना की वीडियो सीडी तलब

चंडीगढ़. प्रदेश के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु की कोठी को आग लगाने के मामले के आरोपी सुदीप कलकल की एफआईआर रद्द करने व जमानत की मांग याचिका पर हाईकोर्ट ने सीबीआई से इस घटना की वीडियो की सीडी कोर्ट में पेश करने को कहा है। कोर्ट ने कहा कि वो वीडियो में यह देखना चाहता है कि सुदीप कलकल की इस मामले में क्या भूमिका है।


कलकल ने जेल निरीक्षण के लिए पहुंचे हाईकोर्ट के जज को एक शिकायती पत्र दिया था। कलकल के इस पत्र पर हाईकोर्ट ने संज्ञान लेकर सुनवाई शुरू की थी। सुदीप कलकल ने जज को दिए पत्र में कहा था कि राजनीतिक रंजिश के चलते उन्हेंं फंसाया जा रहा है। इस मामले में उनकी किसी भी स्तर पर कोई सुनवाई नहीं हो रही है और न ही जमानत का लाभ दिया जा रहा है। कलकल ने अपना पत्र सौंपते हुए कहा कि उन्होंने जाट आरक्षण आंदोलन में हिस्सा जरूर लिया था लेकिन उनके नेतृत्व में आंदोलन शांतिपूर्वक चल रहा था। इस दौरान जब यूनिवर्सिटी के गेट पर लॉ एंड ऑर्डर की समस्या आ गई थी तो डीसी ने फोन करके उनसे अनुरोध किया था कि शांति व्यवस्था बनाए रखे। इसके बाद वे अपने वकील साथियों के साथ वहां पहुंचे थे और वहां मौजूद छात्रों को शांत करवाया था। इस दौरान भीड़ बेकाबू होकर वित्तमंत्री के घर की ओर बढ़ी और वहां तोड़फोड़ की।

कलकल ने कहा कि वह घर के बाहर खड़े होकर इन सभी को रोकने का प्रयास कर रहे थे और साथ ही प्रशासन से मदद की गुहार लगा रहे थे। सुदीप कलकल ने कोर्ट से मांग की है कि उन्हे इस मामले में फंसाया जा रहा है। ऐसे में उनके खिलाफ दर्ज हुई एफआईआर को खारिज किया जाए और उन्हें जमानत दी जाए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Haryana News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: vitt Mantri ki kothi ko aag lgaaane ki ghtnaa ki video sidi tlb
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×