--Advertisement--

युवक ने घर में फंदा लगा किया सुसाइड, 4 दिन तक पंखे से लटकी रही डेडबॉडी

डेयरी मोहल्ला में एक युवक ने चार दिन पहले फंदा लगाकर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली। घर पर कोई नहीं था।

Dainik Bhaskar

Nov 17, 2017, 07:13 AM IST
विलाप करते परिजन। विलाप करते परिजन।

रोहतक. यहां एक युवक ने चार दिन पहले फंदा लगाकर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली। घर पर कोई नहीं था। परिवारवाले मृतक के बड़े भाई के पास गए हुए थे। चार दिन से मकान का दरवाजा बंद होने पर आसपास के लोगों को शक हुआ। उन्होंने दरवाजा खुलवाने के लिए आवाज लगाई तो कोई जवाब नहीं मिला। इसके बाद वे बुधवार शाम को थाना पहुंच गए। थाने में तैनात पुलिस कर्मियों ने उन्हें सुबह आने की सलाह दी। फंदे पर गली सड़ी हालत में लटका हुआ मिला युवक...

- बृहस्पतिवार सुबह फिर परिजन पुलिस के पास पहुंचे और सुबह करीब नौ बजे जब पुलिस ने मकान का दरवाजा तोड़ा तो युवक फंदे पर गली सड़ी हालत में लटका हुआ मिला। इसके बाद शव काे फंदे से उतरवाकर पोस्टमार्टम के लिए पीजीआईएमएस के शवगृह में रखवा दिया।

- शव का पोस्टमार्टम शुक्रवार सुबह बोर्ड द्वारा होगा। पुलिस ने मृतक के पिता के बयान पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

- प्रीतम ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह और उसकी पत्नी राजबाला 15 दिन से अपने बड़े बेटे संदीप के पास अाजाद नगर में गए हुए थे। उसके चार बेटे हैं। सबसे छोटा 25 वर्षीय जितेंद्र घर पर ही था। जितेंद्र नशे का आदी था। कल प्रीतम के पास उसके चचेरे भाई का फोन गया कि जितेंद्र कई दिन से घर से बाहर दिखाई नहीं दे रहा है।

बृहस्पतिवार को दिन निकलते ही प्रीतम घर पर पहुंच गया और पड़ोसियों के साथ पुलिस स्टेशन गया। इसके बाद पुलिस डेयरी मोहल्ला पहुंची। जहां मकान का दरवाजा खोला तो जितेंद्र कपड़े से पंखे पर फंदा लगाकर लटका हुआ था।

- एडिशनल थाना इंचार्ज भूपसिंह ने बताया कि देर रात को जितेंद्र के पड़ोसी आए थे कि जितेंद्र दरवाजा नहीं खोल रहा। इस वक्त गश्त पर थे।

- थाने में तैनात पुलिस कर्मियों ने सुबह दरवाजा खुलवाने की बात कही थी। बृहस्पतिवार सुबह नौ बजे दरवाजा खोला तो जितेंद्र फंदे पर लटका हुआ मिला। पुलिस ने प्रीतम के बयान दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
एडिशनल थाना इंचार्ज भूपसिंह ।

X
विलाप करते परिजन।विलाप करते परिजन।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..