--Advertisement--

अधिकतम तापमान में गिरावट के कारण बढ़ रही ठंड, धुंध में देरी से पहुंचीं ट्रेन

रात्रि के समय भी देखने को मिला, वाहनों को 10 मीटर तक का रास्ता साफ नहीं दिख रहा था।

Dainik Bhaskar

Jan 03, 2018, 08:51 AM IST
Cold rising due to maximum temperature declines

हिसार. साल के दूसरे दिन ही कड़ाके की सर्दी और धुंध ने अपना असर दिखाया। मंगलवार को बसें और ट्रेन धुंध के कारण अपने गंतव्यों पर देरी से पहुंचीं। ट्रेनें 2 से लेकर 5 घंटे तक की देरी पहुंचीं और सुबह के वक्त कई बसों को भी नहीं चलाया गया। दिनभर सर्दी की वजह से लोगों की कंपकपी छूटती दिखाई दी। शहर में सड़क किनारे कई स्थानों पर लोग अलाव का सहारा लेते दिखे। धुंध का असर रात्रि के समय भी देखने को मिला, वाहनों को 10 मीटर तक का रास्ता साफ नहीं दिख रहा था।


मौसम विभाग की मानें तो मंगलवार अधिकतम तापमान 19.4 और न्यूनतम तापमान 7.3 डिग्री सेल्सियस रहा। एचएयू के मौसम विभाग के हेड प्रो. राज सिंह ने बताया कि अधिकतम तापमान के गिरने से कंपकपी छुड़ाने वाली सर्दी बढ़ी रही है। इसके अभी 6 से 7 दिन तक इसी प्रकार के रहने की उम्मीद है। वहीं धुंध का प्रभाव भी एक सप्ताह तक ऐसा ही रहेगा। अभी दिन में हजार मीटर तो रात्रि में 10 मीटर तक की विजिबिलिटी है। सर्दियों की छुट्टियों में कई परिवारों ने शहर से बाहर टूर पर जाने का प्लान बना रखा था लेकिन बढ़ती धुंध के कारण वे प्लान बदल रहे हैं। पहले कराई गई टिकटों की बुकिंग भी रद्द करा रहे हैं।

गोरखधाम एक्सप्रेस रात 9 बजे पहुंची

सोमवार रात और मंगलवार सुबह धुंध के कारण ट्रेनों की गति बाधित रही। ट्रेनें 2 से 5 घंटे की देरी से चल रही हैं। मंगलवार को गोरखधाम एक्सप्रेस शाम साढ़े चार बजे आनी थी, जो रात 9 बजे पहुंची। बठिंडा-दिल्ली किसान एक्सप्रेस एक घंटा देरी से आई। यह सुबह साढ़े नौ बजे पहुंची। इसी तरह रेवाड़ी, फाजिल्का व हिसार-लुधियाना ट्रेनें भी धुंध के कारण देरी से आईं।

रेलवे के यातायात निरीक्षक ने भास्कर को बताया कि धुंध के चलते ट्रेनों के आवागमन पर काफी असर पड़ता है। इसलिए यात्रियों को दिक्कतें उठानी पड़ रही है। प्लेटफार्मों पर यात्री अपनी गाड़ियों के इंतजार में बैठे दिखाई दिए।

X
Cold rising due to maximum temperature declines
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..