--Advertisement--

हांसी रेप मामले में कोर्ट का फैसला; कहा- दोषी को आखिरी सांस तक जेल में रखा जाए

अदालत ने दोषी पर दो लाख 500 रुपए का जुर्माना भी लगाया है।

Danik Bhaskar | Dec 13, 2017, 08:52 AM IST

हिसार। हांसी सिटी थाना क्षेत्र में डेढ़ साल पहले घर दूध रखने गई नाबालिग से रेप करने के मामले में मंगलवार को अतिरिक्त सेशन जज डाॅ. पंकज की अदालत में दोषी हरवंश को उम्रकैद (मौत होने तक) की सजा सुनाई है। अदालत ने दोषी पर दो लाख 500 रुपए का जुर्माना भी लगाया है। इससे पहले भी दुष्कर्म के एक अन्य मामले में अदालत इसी तरह की सजा सुना चुकी है।

- थाना हांसी सिटी की महिला ने पुलिस को बताया था कि 14 मार्च 2016 को वह घर पर थी। इसी दौरान एक महिला ने बेटी से दूध मंगवाकर घर रखवाने की बात कही। बेटी दुकान से दूध लेकर महिला के घर रखने गई।

- महिला के पति हरवंश ने नाबालिग को छत पर ले जाकर उसके साथ रेप किया। काफी देर तक बेटी घर नहीं आई तो महिला हरवंश के घर पहुंची, जहां रोने की आवाज सुना छत पर पहुंची तो बेटी खून से लथपथ थी। इस दौरान आरोपी मौके से भाग गया। पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपी के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी।

सुनाई सजा

- प्रकरण की सुनवाई अतिरिक्त सेशन जज डाॅ. पंकज की अदालत में हुई। गवाहों के बयानों और साक्ष्यों के आधार पर हरवंश को दोषी करार दिया है। मंगलवार को सजा पर हुई सुनवाई में दोषी को दुष्कर्म की धारा 376 (2) में मरते दम तक उम्रकैद और एक लाख रुपए का जुर्माना, धारा 506 जान से मारने की धमकी में 3 माह और 500 रुपए जुर्माना, 6 पोक्सो एक्ट में मरते दम तक उम्रकैद और एक लाख रुपए जुर्माना की सजा सुनाई है। चार दिन पहले भी अदालत नाबालिग छात्रा से रेप करने के दोषी अनिल को मरते दम तक उम्रकैद की सजा सुनाई थी।