हिसार

--Advertisement--

बहुत ताकतवर नहीं, हॉकी खिलाड़ी फिजिकली फिट होना चाहिए, खेल हम सिखा देंगे : डेविड जोन

जरूरी नहीं कि ताकतवर या अधिक गोल करने वाले खिलाड़ियों पर ही निर्भर रहा जाए। बच्चा फिट होना चाहिए।

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2018, 07:45 AM IST
director David Jane trying to find Hockey players  in India

हिसार जरूरी नहीं कि ताकतवर या अधिक गोल करने वाले खिलाड़ियों पर ही निर्भर रहा जाए। बच्चा फिट होना चाहिए। जिसकी रनिंग बेहतर हो और आईक्यू स्ट्रांग हो। ऐसे युवा खिलाड़ियों की ही तलाश की जा रही है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन में बेहतर आईक्यू वाले प्लेयर अक्सर मेडल जीतते हैं। हमें तो फिजिकली फिट खिलाड़ी ही चाहिए। खेल में एक्सपर्ट तो हम बना देते हैं। यह बात एक साल से इंडिया में खेल प्रतिभाओं को तलाशने और तराशने में जुटे हाई परफॉर्मेंस डायरेक्टर हॉकी इंडिया के डेविड जॉन ने शनिवार को हिसार एस्ट्रोटर्फ पर दैनिक भास्कर संवाददाता से बातचीत में कही। 2020 तोक्यो ओलिंपिक तक भारतीय हॉकी को बेहतरीन खिलाड़ी देने के लिए डेविड जॉन पिछले एक साल से देश के अलग-अलग राज्यों में होने वाली प्रतियोगिता में पहुंच रहे हैं। हिसार एस्ट्रोटर्फ पर पहुंचे डेविड जॉन ने कहा कि देश के विभिन्न राज्यों में पहुंचा लेकिन वहां अधिकांश बच्चों में रनिंग की आदत नजर नहीं आई। लेकिन अब हॉकी फास्ट हो चुकी है। इसमें आपको 15 मिनट परफॉर्मेंस दिखाने का समय मिलेगा। जिसमें बेस्ट रनिंग व आईक्यू ही काम आएगा। हम देश के लिए बेहतर आईक्यू व रनिंग वाले बच्चे तलाश रहे हैं। ताकि 2020 तक देश की बेहतरीन टीम तैयार हो सके। उसी उद्देश्य के तहत हिसार आया हूं। डेविड ने हिसार में खेले जा रहे मैचों में कई युवा खिलाड़ियों की रनिंग की तारीफ भी की। वहीं कुछ कमियां भी निकाली।

कमियां : 30 से 35 मिनट तक मैच में खिलाड़ी हॉकी खेलते रहते हैं, जबकि आज मॉडर्न हॉकी बहुत फास्ट है। इसमें हर 5-7 मिनट में एक प्लेयर बदला जाना चाहिए। ताकि उसे 1 या 2 मिनट का रेस्ट मिले और फिर वह मैदान में अपनी परफार्मेंस दिखा सके।
कौन है डेविड जॉन और क्या है कार्य : डेविड जॉन आस्ट्रेलिया निवासी हैं। जिन्हें 2020 टोक्यो ओलिंपिक तक भारतीय पुरुष हाकी टीम का मुख्य कोच बनाया गया है। जाॅन 2012 लंदन ओलिंपिक से पहले भारतीय पुरुष टीम के फिजियो और वैज्ञानिक सलाहकार थे। जो फिलहाल टीम में हाई परफॉर्मेंस डायरेक्टर का रोल निभा रहे हैं।
हॉकी में कैसे बने बेस्ट खिलाड़ी एंज्वॉय हॉकी, हार्ड प्रेक्टिस एंड यूज दा टेलेंट।

8 वीं सब जूनियर वूमेन नेशनल हाकी चैंपियनशिप में शनिवार को हरियाणा व मध्यप्रदेश के बीच रोचक मुकाबला हुआ। हरियाणा की टीम ने मध्यप्रदेश को 7-0 पछाड़ जीत हासिल की। खास बात है कि हरियाणा की टीमों ने अभी तक सभी मैचों में जीत हासिल की है। हॉकी हरियाणा के महासचिव सुनील मलिक ने बताया कि हरियाणा की टीम की खिलाड़ी दीपिका ने 2 गोल, भारती ने 2 गोल, उषा ने 2 गोल व अनु 1 गोल करके मध्यप्रदेश की टीम को मात दी। कार्यक्रम में शनिवार को बतौर मुख्य अतिथि एसपी मनीषा चौधरी ने शिरकत की। इस अवसर पर हाई परफार्मेंस डायरेक्टर डेविड जॉन, भारतीय टीम सिलेक्टर सैय्यद अली, प्रधान मनदीप मलिक, सीनियर कोच आजाद सिंह मलिक और बिजेंद्र सहारण मौजूद रहे।

ये रहे परिणाम
टीमों के बीच मुकाबले स्कोर कौन जीता
हरियाणा- मध्यप्रदेश हॉकी एकेडमी 7-0 हरियाणा
झारखंड-पंजाब 4-1 झारखंड
गंगपुर उड़ीसा-उतर प्रदेश 5-2 गंगपुर उड़ीसा
हॉकी आंध्रा प्रदेश-हाकी कर्नाटक 1-1 ड्रा
उड़ीसा-भोपाल 3-1 उड़ीसा
मिजोरम-तमिलनाडु 7-1 मिजोरम

X
director David Jane trying to find Hockey players  in India
Click to listen..