--Advertisement--

रोज ट्रैक्टर से ही पार्लियामेंट जाएंगे ये सांसद, इस बात का कर रहे विरोध

देशभर के किसानों का हमसफर ट्रैक्टर अब लोकसभा के शीतकालीन सत्र में हर रोज दिखाई देगा।

Danik Bhaskar | Dec 18, 2017, 01:02 AM IST

हिसार. देशभर के किसानों का हमसफर ट्रैक्टर अब लोकसभा के विंटर सेशन में हर रोज दिखाई देगा। हरियाणा के हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला हर रोज ट्रैक्टर पर लोकसभा में जाएंगे। ट्रैक्टर पर संसद भवन जाने का सिलसिला दुष्यंत का तब तक चलता रहेगा जब तक केंद्र सरकार ट्रैक्टर को काॅमर्शियल और ट्रांसपोर्ट कैटेगरी से बाहर नहीं निकालती। लोकसभा में तैनात गार्ड्स ने अंदर ले जाने से रोका था ट्रैक्टर


- बता दें कि शुक्रवार को लोकसभा सांसद दुष्यंत चौटाला विंटर सेशन के पहले दिन शुक्रवार को ट्रैक्टर लेकर संसद भवन पहुंच गए थे।

- वहां पर लोकसभा की सुरक्षा में तैनात गार्ड्स ने ट्रैक्टर को अंदर ले जाने से रोका था। लेकिन सांसद दुष्यंत ने जब नियमों का हवाला दिया तो अधिकारी इधर-उधर झांकने लगे।

लोकसभा अध्यक्ष ने दी परमिशन
- सांसद दुष्यंत ट्रैक्टर को गेट पर रोकने के मामले में वे लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन से मिले थे। दुष्यंत ने बताया कि वर्तमान में 56 पर्सेंट सांसद ऐसे हैं जो एग्रीकल्चर से जुड़े हुए हैं। जब किसान का बेटा संसद में बैठ सकता है तो वह अपना साधन ट्रैक्टर क्यों नहीं लेकर आ सकता।

- सांसद ने बताया कि लोकसभा अध्यक्ष ने उनकी बात को गौर से सुना और अब उन्हें ट्रैक्टर पर जाने की परमिशन मिल गई है।

- सांसद ने बताया कि उन्हें पूरे सेशन में ट्रैक्टर से जाने की परमिशन मिली है और अब वह पूरे सेशन ट्रैक्टर से ही लोकसभा में हर रोज जाया करेंगे।

ट्रैक्टर को नहीं बनने देंगे काॅमर्शियल व्हीकल
- सांसद ने बताया कि केंद्र सरकार ट्रैक्टर को कॉमर्शियल व्हेकिल की कैटेगरी में ला रही है।

- काॅमर्शियल कैटेगरी में आने से किसान पूरी तरह से बर्बादी की ओर चला जाएगा क्योंकि एनसीआर में कॉमर्शियल डीजल व्हेकिल 10 साल पुराना नहीं चल सकता, जबकि ट्रैक्टर को तो किसान 25 से 30 साल तक चलाता है और हरियाणा का तो 57 प्रतिशत हिस्सा एनसीआर में आता है।

- इसके अलावा टोल टैक्स के साथ-साथ एक टन से ज्यादा अनाज भी किसान ट्रैक्टर पर नहीं ले जा पाएगा।

- सांसद दुष्यंत चौटाला ने आह्वान किया कि पार्टीबाजी से ऊपर उठकर सभी किसान एवं कमेरा वर्ग एकजुट हो और ट्रैक्टर को बचाने के लिए उनके साथ संघर्ष करें।