Hindi News »Haryana »Hisar» Flim Script Writer Sagar Sarhadi Interview

इस स्क्रिप्ट राइटर के रह चुके हैं कई अफेयर, बताई शादी ना करने की ये वजह

उन्होंने बताया कि वे अभी तक अनमैरिड हैं, लेकिन उनके अपने जमानें कई अफेयर रह चुके है।

अंजू सिंह | Last Modified - Dec 10, 2017, 02:34 AM IST

  • इस स्क्रिप्ट राइटर के रह चुके हैं कई अफेयर, बताई शादी ना करने की ये वजह
    +8और स्लाइड देखें

    हिसार.फिल्मी स्क्रिप्टिंग की दुनिया में सागर सरहदी एक जाना माना नाम है। हरियाणवी फिल्म फेस्टिवल में उनके डायरेक्शन में बनी फिल्म बाजार को दिखाया जाएगा। वे सिलसिला, चांदनी, नूरी, दूसरा अनुभव, इनकार, कहो ना प्यार है, दीवाना जैसी फिल्में लिख चुके हैं। वे इन दिनों हिसार आए हुए हैं। इस दौरान उन्होंने अपनी लाइफ से जुड़ी कई बातें शेयर की। जिसमें उन्होंने बताया कि वे अभी तक अनमैरिड हैं, लेकिन उनके अपने जमानें कई अफेयर रह चुके है।

    शादी करता तो गुम हो जाता रोमांस

    - अपने जमाने में राेमांटिक डायलॉग के सरताज कहे जाने वाले सरहदी ने शादी नहीं की। वह खुश हैं। क्योंकि बिना शादी ही उन्होंने इश्क के दो पहलू देखे।

    - अपने जमाने में उनके खासे अफेयर रहे जिससे उनकी गर्लफ्रेंड्स ने उन्हें प्यार दिया तो उनका छोड़कर जाना उन्हें बार-बार गम भी देता रहा। उनके डायलॉग्स में दिलो-दिमाग पर छा जाने वाली गहराई शायद वहीं से आई है।

    - सरहदी कहते हैं कि मैं शादी करता तो एक न एक दिन सारा रोमांस गुम हो जाता।

    लिटरेचर में नहीं मिले 50 रुपए भी तो फिल्मों की ओर रुख किया

    - सागर सरहदी बताते हैं कि वह लिटरेचर ही लिखते रहना चाहते थे। उन्होंने कई मशहूर प्ले लिखे हैं।

    - मगर लिटरेचर लिखने में मेरी यह दशा थी कि मुझे 50 रुपए भी नहीं मिलते थे। इस स्क्रिप्टिंग से मैं पेट भी नहीं भर सकता। तभी फिल्में लिखने का विचार बनाया।

    - फिल्माें में आने पर मेरा कॅरिअर निखर कर आया। पैसा मिला। वक्त मिला। अमिताभ बच्चन साहब जैसे सुपरस्टार मिले उनसे संबंध हुआ।

    - कभी- कभी, सिलसिला जैसी फिल्में आईं तो बस मैं फिल्मों का ही हो गया।

    अब फिल्में लिखने में लगने लगा है डर

    - इस मुल्क में सिनेमा खत्म होने लगा है। अब मुझे डर लगता है मैं अभी भी कांप रहा हूं। क्योंकि अब फिल्में चलती नहीं हैं। मैंने इंडिया में क्लासिक सिनेमा देखा है।

    - राज कपूर, देवानंद साहब, महबूब साहब को देखा है। अजीब मजेदार दौर था। कहानी अच्छी थी, गाने, प्लॉट सब खास था। मगर अब वो आनंद नहीं। मैंने यहां बाजार और चौसर बनाई जिसका रिजल्ट देखा जा सकता है।

    - अब फिल्मों को देखने का काेई सेंस नहीं। ना ही वो गीत हैं और ना वो कहानी। इसके साथ ही दो दिन में आपकी फिल्म इंटरनेट पर वायरल हो जाती है इसलिए मुझे ही क्या हर बनाने वाले को डर लगेगा।

    आगे की स्लाइड्स में देखें, खबर से रिलेटेड और फोटोज

  • इस स्क्रिप्ट राइटर के रह चुके हैं कई अफेयर, बताई शादी ना करने की ये वजह
    +8और स्लाइड देखें
  • इस स्क्रिप्ट राइटर के रह चुके हैं कई अफेयर, बताई शादी ना करने की ये वजह
    +8और स्लाइड देखें
  • इस स्क्रिप्ट राइटर के रह चुके हैं कई अफेयर, बताई शादी ना करने की ये वजह
    +8और स्लाइड देखें
  • इस स्क्रिप्ट राइटर के रह चुके हैं कई अफेयर, बताई शादी ना करने की ये वजह
    +8और स्लाइड देखें
  • इस स्क्रिप्ट राइटर के रह चुके हैं कई अफेयर, बताई शादी ना करने की ये वजह
    +8और स्लाइड देखें
  • इस स्क्रिप्ट राइटर के रह चुके हैं कई अफेयर, बताई शादी ना करने की ये वजह
    +8और स्लाइड देखें
  • इस स्क्रिप्ट राइटर के रह चुके हैं कई अफेयर, बताई शादी ना करने की ये वजह
    +8और स्लाइड देखें
  • इस स्क्रिप्ट राइटर के रह चुके हैं कई अफेयर, बताई शादी ना करने की ये वजह
    +8और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Haryana News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Flim Script Writer Sagar Sarhadi Interview
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Hisar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×