--Advertisement--

प्रेमिका ने मैगी खिलाकर किया बेहोश, प्रेमी ने चाकू से किया था दोस्त का मर्डर

मैगी कुंजा ने बनाई थी, जिसके खाने से वह अचेत हो गया था।

Danik Bhaskar | Dec 26, 2017, 12:41 AM IST
महेश के दोस्त सोनू और उसकी प्रेमिका ने मिलकर उसकी हत्या कर दी थी। महेश के दोस्त सोनू और उसकी प्रेमिका ने मिलकर उसकी हत्या कर दी थी।

भिवानी. पुलिस ने महेश मर्डर केस की गुत्थी सुलझा ली है। पुलिस ने इस केस में महेश के दोस्त सोनू और उसकी प्रेमिका को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के सामने आरोपी सोनू ने अपना जुर्म कबूल करते हुए बताया कि महेश कुंजा को ब्लैकमेल करता था। कुंजा उससे बहुत परेशान थी। उसने महेश की हत्या की घटना को अकेले ही अंजाम दिया। मैगी कुंजा ने बनाई थी, जिसके खाने से वह अचेत हो गया था। इसके बाद चाकू से उसकी पहले हत्या की और बाद में शव को जलाया था। लव ट्राइंगल में हुई थी महेश की हत्या...

इसलिए उतारा मौत के घाट

- पुलिस ने सोनू व कुंजा से पूछताछ के बाद खुलासा किया कि सोनू व कुंजा ने मिलकर महेश को मौत के घाट उतारा है। महेश व कुंजा के बीच काफी दिनों से अवैध संबंध थे।

- इसके अलावा कुंजा के सोनू से भी रिलेशन बने हुए थे। महेश कुंजा को पिछले ढाई महीनों से बेहद परेशान करने लगा था।

- कई बार वह कुंजा को ब्लैकमेल कर चुका था। इसी के चलते कुंजा व सोनू ने महेश को बीच से हटाने के लिए हत्या का प्लान बनाया।

कैसे हुआ ब्लाइंड मर्डर खुलासा

- पुलिस ने महेश के फैमीली, आसपास के लोगों व उसके दोस्तों से पूछताछ के बाद आशंका हुई कि यह मामला प्रेम प्रसंग से जुड़ा हो सकता है।

- पुलिस को महेश के पिता देवदत्त ने बताया कि महेश का सोनू के पास आना-जाना था। इसके बाद पुलिस ने सोनू से पूछताछ की।

- पुलिसिया पूछताछ में सोनू थोड़ी ही देर में टूट गया और उसने कबूल किया कि उसने ही उनके घर में किराए पर रहने वाली फैजाबाद के बबवापुर गांव के रहने वाली कुंजा नाम की महिला के साथ मिलकर महेश की हत्या की थी।

- बता दें कि 21 दिसंबर को पुलिस ने गांव प्रह्लादगढ़ के पास खेतों की तरफ जाने वाले रास्ते से एक व्यक्ति का अाधा जला शव मिला था।

- अगले ही दिन 22 दिसंबर को शव की पहचान महेश के रूप में हुई थी। महेश के परिवारवालों ने किसी भी रंजिश से इंकार कर दिया था, जिसके चलते पुलिस ने लिए इस ब्लाइंड मर्डर की गुत्थी सुलझाना मुश्किल हो रहा था।

ऐसे बनाया प्लान

- प्लान के तहत कुंजा ने महेश को घर पर बुलाया। इसी दौरान सोनू भी मौके पर पहुंच गया। कुंजा ने महेश के लिए मैगी बनाई और उसमें नींद की गोलियां डाल दी। कुछ समय बाद महेश अचेत हो गया।

- इसके बाद दोनों ने महेश को सोनू की रिट्ज गाड़ी में बैठाया। कुंजा अपने घर पर रह गई और सोनू महेश को अचेत अवस्था में ही गाड़ी में बैठाकर शहर में घुमाता रहा।

- रात लगभग साढ़े दस बजे सोनू ने कार के अंदर ही महेश की चाकू से गोद गोद कर हत्या कर दी। इसके बाद सोनू दो लीटर पेट्रोल से भरी बोतल लेकर आया और गांव प्रह्लादगढ़ के पास खेतों की तरफ जाने वाले रास्ते पर गाड़ी ले गया। वहां महेश के शव को जमीन पर डालकर पेट्रोल छिड़क कर आग लगा दी। इसके बाद वह गाड़ी को लेकर सांपला चला गया।

हत्या में इस्तेमाल चाकू बरामद

- इस मामले की जांच कर रहे इन्वेस्टीगेशन ऑफिसर ने बताया कि पुलिस ने सोनू की निशानदेही पर दादरी रोड के पास गांव प्रह्लादगढ़ के पास सरकंडों से हत्या में इस्तेमाल किया गया चाकू व पेट्रोल की खाली बोतल बरामद कर ली है।

- सोमवार को पुलिस ने सोनू और कुंजा को कोर्ट में पेश किया, जहां से सोनू को एक दिन के रिमांड पर लिया गया है जबकि कुंजा को जेल भेज दिया गया है।

लोगों को महेश के दोस्तों से पूछताछ के बाद आशंका हुई कि यह मामला प्रेम प्रसंग से जुड़ा हो सकता है। लोगों को महेश के दोस्तों से पूछताछ के बाद आशंका हुई कि यह मामला प्रेम प्रसंग से जुड़ा हो सकता है।
प्रह्लादगढ़ के पास खेतों से महेश का शव 21 दिसंबर को मिला था। प्रह्लादगढ़ के पास खेतों से महेश का शव 21 दिसंबर को मिला था।
हत्या में इस्तेमाल किया गया चाकू भी पुलिस ने बरामद कर लिया है। हत्या में इस्तेमाल किया गया चाकू भी पुलिस ने बरामद कर लिया है।
महेश की लाश मिलने के एक दिन बाद उसकी पहचान हुई थी। महेश की लाश मिलने के एक दिन बाद उसकी पहचान हुई थी।