--Advertisement--

जिस कार से जाम लगा, उसे हटाने के बजाय चारों पहियों की निकाली हवा

गाड़ी के टायरों की हवा निकालने पर गाड़ी मालिक दंपति व पुलिस के बीच जमकर हंगामा हुआ।

Danik Bhaskar | Jan 30, 2018, 05:43 AM IST

भिवानी. सोमवार को घंटाघर मार्केट में पीली पट्टी के बाहर खड़ी एक गाड़ी के टायरों की हवा निकालने पर गाड़ी मालिक दंपति व पुलिस के बीच जमकर हंगामा हुआ। पुलिस ने जब क्रेन की मदद से कार को थाना में ले जाने का प्रयास किया तो दंपति क्रेन के आगे खड़े हो गए और पुलिस से बार-बार चालान काट कर गाड़ी छोड़ने की प्रार्थना करते रहे।

दुकानदारों ने भी पुलिस की कार्रवाई का विरोध किया, लेकिन पुलिस पर इसका कोई असर नहीं हुआ और गाड़ी को क्रेन की मदद से थाना ले गई। गुरुग्राम निवासी सिकंदर व उसकी पत्नी शाम चार बजे कोई सामान खरीदने अपनी कार में बाजार आए थे। उन्होंने अपनी गाड़ी घंटाघर मार्केट में आदर्श धर्मशाला के सामने पीली पट्टी के बाहर रोड पर खड़ी कर दी। करीब आधा घंटे बाद शॉपिंग करके वापस आए तो गाड़ी के चारों टायरों की हवा निकली हुई थी। मौके पर मौजूद एएसआई सतबीर ने दंपती से कहा कि वे गाड़ी को यहां से हटाएं।


गाड़ी के कारण पिछले आधे घंटे से जाम की स्थिति बनी हुई है। इस पर दंपती व पुलिस अधिकारी के बीच गाड़ी की हवा निकालने पर विवाद हो गया। तभी दर्जनों दुकानदार व रेहड़ीवाले मौके पर जमा हो गए और पुलिस कार्रवाई का विरोध करने लगे। स्थिति गंभीर होती देख दंपती पुलिस से प्रार्थना करने लगे की गाड़ी का चालान काट दें और उन्हें जाने दें। पुलिस अधिकारी गाड़ी को इंपाउंड करने की बात पर अड़े रहे। इसी दौरान पुलिस ने क्रेन की मदद से गाड़ी को उठाना शुरू किया। लगभग आधा घंटे तक बाजार में हंगामे की स्थिति बनी रही और यातायात व्यवस्था बाधित रही।

मिन्नतें करने के बाद थाने में चालान काट गाड़ी लौटाई
पुलिस थाना में काफी प्रार्थना के बाद पुलिस ने गाड़ी का चालान किया और दंपती को कार सौंप दी। एएसआई सतबीर ने बताया कि गाड़ी सड़क पर खड़ी थी और डीसी के आदेश हैं कि बाजार में कोई भी गाड़ी पीली पट्टी के बाहर न खड़ी हो। यह गाड़ी आधा घंटे तक खड़ी रही। गाड़ी का मोटर व्हीकल एक्ट के तहत चालान किया गया है।

बाजार में फोर व्हीलर के प्रवेश पर हैं प्रतिबंध : डीसी
डीसी डाॅ. अंशज सिंह के आदेश पर बाजार में गाड़ी के प्रवेश पर प्रतिबंध है। इसके लिए बाकायदा घंटाघर चौक पर पुलिस ने इस संबंध में होर्डिंग भी लगाए हुए हैं। इसके बावजूद कुछ लोग गाड़ी लेकर बाजार में प्रवेश करते हैं। पुलिस वाहनों के टायरों की हवा निकाल देती है और चालान काटती है। लेकिन कुछ चालक इसका विरोध करते हैं तो पुलिस उनके वाहनों को इंपाउंड कर लेती है।