--Advertisement--

रेप के बाद किया था बच्ची का मर्डर, गुनाह कबूलकर बताई हत्या की ये वजह

6 साल की बच्ची से दरिंदगी के बाद उसकी हत्या में अरेस्ट किए गया आरोपी बस्ती के नजदीक रहने वाला युवक सोमपाल निकला।

Danik Bhaskar | Dec 16, 2017, 02:29 AM IST
नशे में सोमपाल ने नाबालिग से दरिंदगी के बाद उसकी हत्या कर दी थी। कोर्ट में पेश करने से पहले उसे साधारण गाड़ी में लाया गया था। नशे में सोमपाल ने नाबालिग से दरिंदगी के बाद उसकी हत्या कर दी थी। कोर्ट में पेश करने से पहले उसे साधारण गाड़ी में लाया गया था।

उकलाना/ हिसार. उकलाना में 6 साल की बच्ची से दरिंदगी के बाद उसकी हत्या में अरेस्ट किए गया आरोपी बस्ती के नजदीक रहने वाला युवक सोमपाल निकला। गुरुवार को पुलिस ने सोमपाल को गिरफ्तार कर शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने उसे एक दिन के रिमांड पर भेज दिया है। पुलिस आरोपी की पहचान छिपाना चाह रही थी। मीडिया से बचाने के लिए पुलिस आरोपी को हॉस्पिटल के बैकडोर से उसका मेडिकल कराने पहुंची। आरोपी ने विक्टिम फैमिली के सामने कबूला गुनाह...


- विक्टिम परिवार ने बताया कि शुक्रवार सुबह जब वह चाय पी रहे थे तो पुलिस सोमपाल को लेकर आई।

- उसने सभी के सामने बताया कि उसने बच्ची का मुंह दबाकर उसे झोंपड़ी से उठाया और फिर वहां ले गया जहां पर उसका शव मिला था।

- उसने यह भी बताया कि उसने कहां से लकड़ी उठाई, जिससे बच्ची की हत्या की। इस पूरी बातचीत की पुलिस ने वीडियोग्राफी भी करवाई है। हालांकि परिवारवालों ने जब पूछा कि उसने बच्ची के साथ ऐसी दरिंदगी क्यों की तो उसने कहा वह नशे में था, इसके अलावा वह कोई जवाब नहीं दे पाया।

- वहीं उसके साथ कोई दूसरे व्यक्ति शामिल हैं या नहीं, इसके बारे में भी पुलिस कोई खास जवाब नहीं दे पाई।

कड़ी सुरक्षा में पुलिस ने कराया मेडिकल
- कोर्ट में पेश करने से पहले एसआईटी प्रभारी डीएसपी जयपाल उसे साधारण वाहन में लेकर पहुंचे थे।

- इस दौरान आरोपी को गोपनीय तरीके से सिविल अस्पताल में ले गए। यहां पहले उसे एक सर्जन के चेंबर में बैठाया। जब उन्होंने आरोपी को अपने चेंबर में लाने के बारे में पूछा तो उन्हें बताया कि मेडिकल के लिए लाए हैं।

- इस पर सर्जन ने पुलिस टीम को इमरजेंसी में जाने की कहकर चेंबर से बाहर कर दिया। इसके बाद पुलिस की टीम आरोपी को इमरजेंसी वार्ड लेकर पहुंची। मेडिकल के दौरान पुलिस ने आरोपी के सीमन, ब्लड, बाल और अन्य सैंपल लिए। जिनकी जांच के लिए आगे प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

- मेडिकल जांच के दौरान सुरक्षा इंताजामातों के चलते उसके यूरिन का सैंपल भी इमरजेंसी वार्ड के अंदर ही लिया गया। आरोपी की पहचान को उजागर नहीं होने के दृष्टिगत उसे पूरी तरह कवर करके लाया गया।

मीडिया से बचाने के लिए हॉस्पिटल के बैकडोर से ले गई पुलिस

- पुलिस टीम मेडिकल जांच कराने के बाद आरोपी को बाहर नहीं लाई।

- मीडियाकर्मी आरोपी की तस्वीरें कैमरे में कैद करने के लिए सिविल हॉस्पिटल के दोनों गेटों पर इंतजार करते रहे। मगर पुलिस टीम उसे बाहर लेकर नहीं आई, बल्कि हॉस्पिटल के पिछले दरवाजे से निकालकर ले गई।

- इसके बाद कोर्ट में पेश किया गया। काफी समय तक आरोपी को लेकर पुलिस की टीम बाहर नहीं आई तो मीडियाकर्मियों ने जानकारी की। तब पता लगा कि बैकडोर से पुलिस उसे ले गई।

मामले में एससी एसटी एक्ट भी लगाया

- डीएसपी जयपाल सिंह से जब बात की गई तो उन्होंने आरोपी को रिमांड पर लिए जाने की पुष्टि की।

- उन्होंने बताया कि इस मामले में एससी एसटी एक्ट भी जोड़ दिया गया है। उन्होंने बताया कि वारदात के समय पहने हुए कपड़े बरामद करने का प्रयास किया जा रहा है।

विक्टिम परिवार को दिए 4.12 लाख

- विक्टिम परिवार को बरवाला के एसडीएम पृथ्वी सिंह ने शुक्रवार को चार लाख, 12 हजार, 500 रुपए की रिलिफ फंड का चेक दिया।

- उन्होंने बताया कि जल्द ही अन्य रिलिफ फंड भी विक्टिम परिवार को दी जाएगी।

संघर्ष समिति आज करेगी मीटिंग

- पूर्व विधायक एवं उकलाना संघर्ष समिति के नरेश सेलवाल ने बताया कि पुलिस की कार्रवाई से संघर्ष समिति संतुष्ट है या नहीं इस सब्जेक्ट पर शनिवार, 16 दिसंबर को अनाज मंडी में होने वाली पंचायत में जानकारी मिल पाएगी।

- उन्होंने बताया कि शुक्रवार को भी संघर्ष समिति की बैठक हुई थी, जिसमें 16 दिसंबर पर ही चर्चा हुई। अब आगामी रणनीति इसी बैठक में तय की जाएगी।

शनिवार को रातभर लोग इसी तरह बच्ची की लाश के साथ धरने पर बैठे रहे। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए प्रशासन ने 48 घंटे की मोलत मांगी औी 10 लाख रुपए मुआवजा देने की बात कही, तब जाकर बच्ची काे दफनाया गया। शनिवार को रातभर लोग इसी तरह बच्ची की लाश के साथ धरने पर बैठे रहे। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए प्रशासन ने 48 घंटे की मोलत मांगी औी 10 लाख रुपए मुआवजा देने की बात कही, तब जाकर बच्ची काे दफनाया गया।
बच्ची की मौत के बाद कई नेता उसके परिवार वालों से मिलने पहुंचे। बच्ची की मौत के बाद कई नेता उसके परिवार वालों से मिलने पहुंचे।
मार दी गई माूसम बच्ची की मां वारदात के बारे में बताती हुई। गरीब परिवार की इस महिला का कहना है कि आज बच्ची को उठाकर मार डाला, कल को कोई इन्हें भी उठा ले जाएगा। मार दी गई माूसम बच्ची की मां वारदात के बारे में बताती हुई। गरीब परिवार की इस महिला का कहना है कि आज बच्ची को उठाकर मार डाला, कल को कोई इन्हें भी उठा ले जाएगा।
तंबू से 400 फीट दूर बेहद बुरे हाल में मिली थी मासूम की डेड बॉडी। रात में परिवार के बीच सोई बच्ची को उठाकर की दरिंदगी की हदें पार। प्राइवेट पार्ट में डाल रखी थी लकड़ी। तंबू से 400 फीट दूर बेहद बुरे हाल में मिली थी मासूम की डेड बॉडी। रात में परिवार के बीच सोई बच्ची को उठाकर की दरिंदगी की हदें पार। प्राइवेट पार्ट में डाल रखी थी लकड़ी।
2 घंटे चले पोस्टमॉर्टम के बाद खुलासा हुआ है कि बच्ची की मौत गुप्तांग में लकड़ी डाले जाने की वजह से ही हुई है। यह बात खुद पोस्टमॉर्टम करने वाली टीम की सदस्य डॉक्टर ने बताई। 2 घंटे चले पोस्टमॉर्टम के बाद खुलासा हुआ है कि बच्ची की मौत गुप्तांग में लकड़ी डाले जाने की वजह से ही हुई है। यह बात खुद पोस्टमॉर्टम करने वाली टीम की सदस्य डॉक्टर ने बताई।
मौके पर पहुंचकर मामले की जांच-पड़ताल में जुटी सीन ऑफ क्राइम टीम। बरवाला के डीएसपी, एसपी मनीषा समेत कई बड़े अफसरान ने मौके का दौरा किया था। मौके पर पहुंचकर मामले की जांच-पड़ताल में जुटी सीन ऑफ क्राइम टीम। बरवाला के डीएसपी, एसपी मनीषा समेत कई बड़े अफसरान ने मौके का दौरा किया था।
धरने पर बैठे घटना से नाराज लोग। धरने पर बैठे घटना से नाराज लोग।