--Advertisement--

साढ़े पांच साल की बच्ची से रेप की कोशिश में युवक को जेल , 2 लाख रु. जुर्माना

हिसार और रोहतक के दो अलग रेप केस में कोर्ट का फैसला आया।

Danik Bhaskar | Dec 20, 2017, 08:50 AM IST

हिसार। साढ़े पांच साल की बच्ची से रेप की कोशिश में एक युवक को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है। साथ ही दो लाख रुपए जुर्माना लगाया है। हिसार के अतिरिक्त जिला एवं सेशन जज डॉ. पंकज की अदालत ने जुर्माने की राशि में से 1.50 लाख रुपए पीड़िता को बतौर कंपनसेशन देने के आदेश दिए हैं। वहीं रोहतक में नाबालिग लड़की को प्रेग्नेंट करने वाले आरोपी को कोर्ट ने 10 साल की सजा सुनाई।

मां ने यूं बचाया था बेटी को

- अक्टूबर 2016 में अग्रोहा पुलिस को शिकायत मिली थी कि साढ़े पांच की बच्ची पड़ोसी की भैंस को खाना डालने गई थी। काफी समय बाद भी बच्ची घर नहीं लौटी तो उसकी मां पड़ोसी के घर पहुंच गई। उसने देखा कि बच्ची के साथ पड़ोसी का बेटा रेप की कोशिश कर रहा है। इसके बाद आरोपी भाग गया।

- कोर्ट ने सबूतों और गवाहों के बयानों को एग्जामिंग करने के बाद करीब 14 माह बाद मंगलवार को दोषी को रेप की धारा 376 (2 आई) में आजीवन कारावास एक लाख रुपए जुर्माना, पोक्सो एक्ट की धारा 4 में आजीवन कारावास एक लाख रुपए जुर्माने की सजा सुनाई। कोर्ट ने इसे समाज के लिए संगीन अपराध बताया।

नाबालिग को प्रेग्नेंट करने वाले को 10 साल जेल की सजा
- रोहतक में नाबालिग लड़की से रेप वाले युवक को 10 साल जेल की सजा सुनाई है। साथ ही 22 हजार रुपए जुर्माना लगाया है। जुर्माना अदा करने पर तीन माह की अतिरिक्त सजा भुगतनी पड़ेगी। यह फैसला रोहतक की अतिरिक्त जिला सेशन जज सोनिका गोयल की अदालत ने सुनाया।

- 17 जुलाई 2016 को पुलिस को शिकायत मिली कि 8वीं कक्षा में पढ़ने वाली 13 साल की लड़की को सैनिक काॅलोनी निवासी सूरज शादी का झांसा देकर बहला-फुसलाकर ले गया। पुलिस ने आरोपी को बिहार से गिरफ्तार कर लड़की को बरामद किया।

- लड़की का मेडिकल कराया तो वह गर्भवती मिली। उसे पीजीआई में भर्ती कराया गया। बाद में घर पर उसका गर्भ गिर गया। वह कई माह तक जिंदगी और मौत के बीच जूझती रही। अब डेढ़ साल बाद मंगलवार को कोर्ट ने दोषी युवक को सजा सुनाई है।

धारा 363 (अपहरण) में 3 साल की सजा 2 हजार रुपए जुर्माना। धारा 366 (शादी का झांसा देकर अपहरण) में 7 साल की सजा, 10 हजार रुपए जुर्माना। पोक्सो एक्ट की धारा 6 (नाबालिग से दुष्कर्म) में 10 साल की सजा और दस हजार रुपए जुर्माना लगाया।