Hindi News »Haryana »Hisar» एससी एसटी एक्ट में किए संशोधन के विरोध में पार्क से लघु सचिवालय तक बाजार बंद करने की करेंगे अपील

एससी एसटी एक्ट में किए संशोधन के विरोध में पार्क से लघु सचिवालय तक बाजार बंद करने की करेंगे अपील

सुप्रीम कोर्ट द्वारा एससी-एसटी एक्ट में किए गए संशोधन के विरोध में दलितों, वंचितों के संगठनों की ओर से सोमवार को...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 03:05 AM IST

सुप्रीम कोर्ट द्वारा एससी-एसटी एक्ट में किए गए संशोधन के विरोध में दलितों, वंचितों के संगठनों की ओर से सोमवार को फतेहाबाद में विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। इसके लिए संविधान बचाओ संघर्ष समिति का गठन किया गया है, जिसमें 31 सदस्य बनाए गए हैं। इस समिति के बैनर तले सभी दलित संगठन सोमवार सुबह पपीहा पार्क में एकत्र होंगे। यहां से प्रदर्शन करते हुए लघु सचिवालय पहुंचेंगे। जहां डीसी को ज्ञापन सौंपा जाएगा। प्रदर्शनकारी बाजारों से होते हुए दुकानें बंद करवाने की अपील करेंगे।

दलित संगठनों का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला गरीबों, दलितों एवं वंचित तबकों को जो थोड़ा बहुत न्याय मिलने का अवसर था, उसे ही खत्म कर देगा। उन्होंने कहा कि आज समाज में गरीबों व दलितों का भारी शोषण हो रहा है, उन पर हमले जारी हैं। अब तक एससी एसटी एक्ट में आरोपी की तुरंत गिरफ्तारी व गैर जमानती धाराओं का प्रावधान था जिससे इन लोगों को कुछ राहत मिलती थी लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने इसे हटाकर दलितों को मिलने वाले न्याय की भी आस खत्म कर दी है। उन्होंने कहा कि दलित अधिकार मंच संवैधानिक अधिकारों की रक्षा, एससी एसटी एक्ट में बदलाव के खिलाफ आंदोलन करेगा। उन्होंने मांग की कि संवैधानिक अधिकारों से छेड़छाड़ न की जाए, जनसंख्या के अनुपात में बजट का आबंटन हो, सरकारी व गैर सरकारी क्षेत्र में आरक्षण को प्रभावी ढंग से लागू किया जाए।

प्रदर्शनकारी पहले पपीहा पार्क में एकत्र होंगे। यहां एकत्र होकर बाजारों से प्रदर्शन करते हुए दुकानें बंद करने की अपील करेंगे। वहीं बाबा साहेब भीम राव आंबेडकर की प्रतिमाओं पर फूल माला चढ़ाएंगे। सोमवार को इस प्रदर्शन व बंद के आह्वान को लेकर दलित संगठनों व संविधान बचाओ संघर्ष समिति की ओर से गांवों में मुनादी कराई गई। वहीं शहर में भी वार्डों में जाकर लोगों को प्रदर्शन में शामिल होने का आह्वान किया गया। इस कड़ी में रविवार को भी कई लोगों ने प्रदर्शन किए। गांव गोरखपुर के लोगों ने नारेबाजी की व मुख्यमंत्री मनोहर लाल का पुतला फूंका विरोध कर रहे लोगों में फौजी ,सुखबीर ,जगजीत, करमचंद बुधराम लीलाराम फुलकुमार उपस्थित थे

31 सदस्यीय संविधान बचाओ संघर्ष समिति का गठन किया

भूना में होगा प्रदर्शन

भूना। अनुसूचित जाति के लोगों द्वारा 2 अप्रैल को शहर में रोष प्रदर्शन किया जाएगा। सुखदेव सिंह भुक्कल ने बताया कि डॉ. आंबेडकर भवन भूना में अनुसूचित जाति के सैकड़ों लोग एकत्रित होंगे और शहर में रोष प्रदर्शन के बाद नायब तहसीलदार के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा जाएगा। वहीं हरियाणा अनुसूचित जाति राजकीय अध्यापक संघ की खंड स्तरीय कार्यकारिणी की बैठक अंबेडकर भवन भूना में हुई। जिसकी अध्यक्षता ब्लॉक प्रधान जयपाल हासंगा ने की। बैठक में हाल ही में सुप्रीम कोर्ट द्वारा एससीएसटी एक्ट का फैसला अनुसूचित जाति, जनजाति के अधिकारों के विरूद्ध बताया गया है। इस मौके पर विनोद रंगा, सेवा सिंह, जसवंत सिंह बैंस, सुखदेव सिंह भुक्कल, सतपाल सिंह, बंसी लाल, ओम प्रकाश ग्रोवर, धर्मबीर मुआल सहित अन्य मौजूद रहे।

सुरक्षा के प्रबंध रहेंगे : एसएचआे

पुलिस की ओर से प्रदर्शन के दौरान सुरक्षा के प्रबंध कड़े रखे जाएंगे। सभी चौकी प्रभारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वह प्रदर्शन पर नजर रखेंगे। प्रदर्शन के दौरान व्यवस्था बनाई जाएगी। किसी को कानून हाथ में नहीं लेने देंगे। सुरेंद्र कंबोज, एसएचओ।

ड्यूटी मजिस्ट्रेट लगाए : डीसी

इस प्रदर्शन को लेकर सभी थानों स्तर पर ड्यूटी मजिस्ट्रेट लगा दिए गए हैं। पुलिस प्रशासन को भी निगरानी रखने के निर्देश दिए गए हैं। डॉ. हरदीप सिंह, डीसी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Hisar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×