• Hindi News
  • Haryana
  • Hisar
  • 40 दिन बाद फिर से चमारखेड़ा में एक मकान पर की फायरिंग, सिर के ऊपर से निकली गोली
--Advertisement--

40 दिन बाद फिर से चमारखेड़ा में एक मकान पर की फायरिंग, सिर के ऊपर से निकली गोली

चमार खेड़ा गांव में बुधवार शाम साढ़े 7 बजे के करीब एक मकान पर दो बाइक सवार युवकों द्वारा फायरिंग करने का मामला सामने...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 03:25 AM IST
40 दिन बाद फिर से चमारखेड़ा में एक मकान पर की फायरिंग, सिर के ऊपर से निकली गोली
चमार खेड़ा गांव में बुधवार शाम साढ़े 7 बजे के करीब एक मकान पर दो बाइक सवार युवकों द्वारा फायरिंग करने का मामला सामने आया है। फायरिंग के बाद हमलावर साहू रोड होते हुए फरार हो गए।

प्राप्त जानकारी के अनुसार फायरिंग की यह घटना चमार खेड़ा गांव के उसी मकान में दोबारा अंजाम दी गई जिसमें गत 22 दिसंबर 2017 को तीन बाइक सवार युवकों ने फायरिंग की थी। मकान के मालिक अमित कुमार ने बताया कि बुधवार शाम साढ़े 7 बजे मकान में बरामदे के सामने कमरे में मौजूद था। उसी समय एक फायर बरामदे के सामने लगे शीशे के गेट पर हुआ जिसके कारण शीशा टूट गया और गोली उसके सिर के ऊपर से सीधी दीवार के साथ टकरा गई। लेकिन इस दौरान वह बच गया। फायर करने वाले हमलावर मौके से भाग निकले और जब उनका पीछा किया तो वे साहू रोड पर से होते हुए भाग गए। जिसके बाद पीछा करने पर उनका पता नहीं चल सका। अमित ने यह भी बताया कि बाइक पर दो लोग सवार थे और उन्होंने शॉल से अपना चेहरा ढका था। जिसके कारण उनका चेहरा दिखाई नहीं दिया। इस घटना के बाद वहां पर अनेक ग्रामीण एकत्रित हो गए। वहीं, फायरिंग की सूचना पुलिस को मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पंहुची और उन्होंने वहां पर मौजूद लोगों से पूछताछ की और मकान के मालिक अमित से घटना की जानकारी प्राप्त की। समाचार लिखे जाने तक पुलिस द्वारा एफआईआर दर्ज करने की कोई जानकारी प्राप्त नहीं हुई है।

बिना परमिट शराब बेचने को लेकर हुए विवाद में पहले हुई थी फायरिंग

बरामदे में लगे शीशे पर गोली के निशान।

22 दिसंबर 2017 को भी चमार खेड़ा गांव में इसी अमित कुमार के मकान के गेट पर बाइक सवार हमलावरों ने फायरिंग की थी। इस मकान में अमित और राकेश दो भाई अकेले रहते हैं और उनके माता-पिता का स्वर्गवास हो चुका है। उस घटना के दौरान भी वह मकान के अंदर अकेला बैठा हुआ था और 31 जनवरी वाली घटना के समय भी वह अपने मकान में अकेला ही था। अमित का भाई राकेश जाट कॉलेज हिसार में पढ़ता है। 22 दिसंबर को अंजाम दी गई वारदात के आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था और सभी आरोपी जेल में है। पिछली वारदात के समय अमित ने यह बताया था कि एरिये में बिना परमिट के शराब बेचने पर उन्होंने किसी को मना किया था और उसी रंजिश के चलते उन पर फायरिंग हुई थी। लेकिन इस बार की घटना के पीछे के कारणों का पता नहीं लग सका है।

X
40 दिन बाद फिर से चमारखेड़ा में एक मकान पर की फायरिंग, सिर के ऊपर से निकली गोली
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..